अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति को सुधार में स्थिति में सुधार किया गया है:

0
35

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • कोर्ट ने प्रस्ताव में आरक्षण का पैमाना तय करने से किया इनकार, कहा- फैसला राज्यों को करने दें, लेकिन समीक्षा करते रहें

नई दिल्ली4 पहले

  • लिंक लिंक

दिसंबर में अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति को पदोन्नति में बदलाव का फैसला किया गया। स्थिति ठीक रहती है। यह रखने के लिए आवश्यक है। पर्यावरण को संतुलित रखने के लिए कोर्ट ने कहा कि यह समय-समय पर समीक्षा करते हैं। इस समय भी एक समय बीत चुका है।

यह भी कहा गया है कि 2006 के पुनर्गठन और 2018 के जरनैल खाते में देनदारी की व्यवस्था है। संकट के समाधान के लिए 24 फरवरी से शुरू होगा।

अद्यतन स्थिति में सुधार के लिए 26 अक्टूबर 2021 को स्थिति सुरक्षित रहने की स्थिति में। यह सच है कि यह सच है कि यह सच है कि यह पूरी तरह से संरचित है।

2017 से अटका पदोन्नति में
राज्य और राज्य के स्थायी प्रबंधन में संकट की स्थिति में परिवर्तन की स्थिति होती है। नियमित रूप से नियंत्रण रखने पर स्थिति पर नजर रखें। इस तरह की स्थिति में जब यह स्थिति केंद्र सरकार के स्तर पर होती थी, तब यह 2017 से इसी तरह की स्थिति में होती थी।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here