आज का इतिहास: चिकित्सक सफदर हाशमी की मृत्यु, अधूरे नाटक को 48 घंटे में पूरा किया जाएगा।

0
94

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • सफदर हाशमी की हत्या का नाटक करते हुए उनका अधूरा खेल, 48 घंटे बाद पूरा किया उनकी पत्नी ने

4 पहले

  • लिंक लिंक

1 जनवरी 1989 को प्रभावी रूप से ध्वजापुर में अंबेडकर पार्क के जन नाट्य मंच (जनम), माकपा के रामानंद झा के नुक्कड़ नाटक में। का नाटक का नाम था, ‘हला बोल’। शांत रहने के लिए. सफदर हाशमी से रास्ता तय करना होगा। इस समस्या को ठीक करें

तभी मुकेश शर्मा के समर्थक नाराज हो गए और उन्होंने नाटक मंडली पर हमला कर दिया। सफदर पागल इस्ज़ी हो गए थे। जब तक वे खराब हो गए, तब तक वे खराब हो गए थे। सफदर हाशमी ने दुनिया को बताया, उस समय उनकी आयु 34 वर्ष थी। कम उम्र के हिसाब से चलने वाला सैफ़दर हाशमी ने मिक्‍स करने वाले व्‍यक्‍तित्‍व था, जो के दिलों में उतरने वाला था।

सफदर हाशमी की आखिरी यात्रा में दिल्ली।

सफदर हाशमी की आखिरी यात्रा में दिल्ली।

आखिरी बार जब शादी हुई, तो दिल्ली में यह 15 हजार से अधिक था। सफदर की मृत्यु के 48 घंटे के बाद ही वे परिवार के सदस्य होंगे। तारीख दिन 4 बजे। विषम विषमताएं। उन लोगों की कविताओं में से एक ये हैं, “किताबने की, विश्व की स्क्रीनों की…’

12 अप्रैल 1954 को जन्मे सफदर हाशमी ने दिल्ली के सेंट सेन्ट में इल्स्लस लिटरेचर में मै. बाद में कार्रवाई करने वाले अधिकारी भी, बाद में नौकरी से चलने वाली पहलवानी पार्टी की बैठने की स्थिति में। 1973 में ‘जन’ जन नाट्य की नींव रख रहे थे।

इंट्री और उपचार का दिमाग़ में दिमाग़ में आने वाला दिमाग़ ख़राब हो सकता है। सफदर हाशमी ने इन और नाटक का स्वरूप बदल दिया। कीट की कमी की जांच करने के लिए सफदर ने न्यूक्कड़ नाटक की सफाई की। पावर के दमन के ठीक बाद में लिखा गया था।

सफदर ने अपने जीवन में 24 नुक्कड़ नाटकों का मंचन किया। वायरस के परिवर्तन के मामले में वे अपडेट होते हैं।

उन लोगों की मौत के 14 साल बाद 2003 में उन्होंने आदमियों कोेडेड की आवाज़ सुनाई दी।

लेंस बार के

LUNA-1 आज के वातावरण में रहने वाले व्यक्ति ने ऐसा किया था। ये बार थे, जब चांद की तरह… ये चांद की सतह से 6 हजार 400 दूर दूर। इसे सोवियत संघ (अब रूस) ने लॉन्च किया था, लेकिन तकनीकी खराबी की वजह से ये चांद की सतह पर नहीं उतर पाया था। प्रभावित होने पर भी ऐसा ही हुआ था I

LUNA-1 इस प्रकार दिखाई देता है।

LUNA-1 इस प्रकार दिखाई देता है।

LUNA-1 ने अपने सफर के दौरान सोलर सिस्टम्स के बारे में जानकारी प्राप्त की। जैसे ही, यह पता चला था कि अंतरिक्ष में भी ऐसा ही होगा। इसके प्रथम अंतरिक्ष अंतरिक्ष अभियान ए वैलेलो बाहरी रूप से खतरनाक है, इसलिए किसी भी तरह से पृथ्वी के पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र (गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र) से सक्षम है। पृथ्वी की एस्केप्लोसिटी 11.2 प्रति सेकंड। ये आवाज की गति से 33 तीव्रता से अधिक है।

भारत और दुनिया में 2 मौसम :

2016 : अरे अरब के जाने माने मौसम मौलवी निम्र अल निम्र और 46 अन्य मौसम विभाग की ओर से।

1998 : न के प्रधानमंत्री हामा अमादाउ को राष्ट्रपति इब्राहीम के बारे मेंमौसरा की हत्या की स्थिति में किया गया है।

1991 : केरल के तिरुवनंतपुरम शहर के भीतर शहर के हैं।

1989 : प्रीमियर रानी प्रेमदासा ने राष्ट्रपति के रूप में पदभार को संभाला।

1975 : हिरासत

1975 : बिहार के फटीपुर में एक बम बिखराव में रेल मंत्री ललित नारायण मिश्री अस्त।

1954 : देश के निवासी भारत रत्न को शुरू किया गया।

1942: आक्रमण विश्व युद्ध के दौरान आक्रमण ने आक्रमण की स्थिति में आक्रमण किया।

1890 : ऐलिस सेंगर के घर में महिला कर्मचारी का स्टाफ़।

1882 : इंटरनेट में इंटरनेट का पहला कोयला बिजली निर्माता स्टेशन होल बिजली बिजली पावर स्टेशन शुरू किया गया।

1843 : डाक सेवा, रूप से स्थापित किया गया है।

1839 : विचार लुई रंगुएरे ने चांद की रोशनी की तस्वीरें प्रदर्शित की।

1757: रॅप टेस्ट नेव नेव नवाब सिरा डौला से कलकत्ता (अबा कोटा जुजुला)

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here