इमरान खान टीएलपी | इमरान खान सरकार और तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान टीएलपी समझौता समाचार और अपडेट | खराब गुणवत्ता वाले देश टीएलपी से स्वास्थ्य…

0
61

  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • इमरान खान टीएलपी | इमरान खान सरकार और तहरीक ए लब्बैक पाकिस्तान टीएलपी समझौता समाचार और अपडेट

मौसमाबाद3 पहले

  • लिंक लिंक

मौसम में इमरान खान की सरकार ने संस्थान की स्थापना की। फिक्सिंग-ए-लब्‍ब (टीएलपी) के लिए सुरक्षित रखने की स्थिति में है। सरकार ने इसे बंद कर दिया है और इसे बंद कर दिया है।

रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, ये स्थायी रूप से स्थिर बनाए रखने के लिए. इस बारे में कोई भी कार्यक्रम आयोजित किया जाता है।

गलत तरीके से चलने के दौरान रुकें
TLP ने पर्यावरण की रक्षा के लिए मंत्रमुग्ध कर दिया था। साथ ही संगठन फ्रांस के राजदूत को देश से बाहर निकालने की अपनी लंबे समय से चल रही मांग को भी छोड़ देगा। रिकॉर्ड-ए-लब ने भविष्य में अपडेट किए गए दस्तावेज़ों को रिकॉर्ड किए जाने के लिए मार्कर के रूप में लिखा था।

ऐप में दवा टीएलपी पर बैन

  • विज्ञापन में प्रकाशित होने के लिए TLP ने लॉन्च किया था
  • इमरान खान की सरकार ने घोषणा की थी कि उन्होंने इसे घोषित किया था
  • सरकार के निर्देशों पर लागू होने पर टी.एल.पी
  • तीन सप्ताह पहले टीएलपी ने रिजवी की कोठ से खराब किया था
  • ️ जगह️ जगह️ जगह️ जगह️ जगह️ जगह️️️️️
  • तीन लोगों की मौत हो गई है
एक बैठक के बाद के आयोजन के लिए मुखिया रिजवी।

एक बैठक के बाद के आयोजन के लिए मुखिया रिजवी।

बसपा ने कहा कि बात
टीएलपी और सरकार के मध्य में खराब होने पर भी ऐसा ही बना रहता है। टीएलपी के 2 और सरकार के 1 ने रॉयटर्स से कहा कि स्टेट पॉइंट का पॉइंट का सरकारी संस्थापन से बैन मिटाएं और डॉ.

टीएलपी की नेगोशिएशन टीम के और मेंबर बशीर फारूकी ने नेटवर्क चैनल न्यूज से कहा, ‘टीएलपी न तो नेटवर्क है और न एक ही समूह है। नई सूची में शामिल होने के लिए नई सूची बनाई गई है।

1000 में आराम करने वाले रिहा
सुरक्षा पंजाब के मंत्री राजा बशारत ने रिहा कर दिया है। .

TLP के रूप में पूरी तरह से तैयार हैं।

TLP के रूप में पूरी तरह से तैयार हैं।

दो दिन पहले की घोषणा
बैठक में शामिल हों। इसके लिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया था, जिसमें पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और नेशनल असेंबली स्पीकर असद कैसर भी मौजूद थे।

टीएलपी की तरफ से धर्मगुरु मुनीब-उर-रहमान ने शिरकत की थी। लेकिन इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन मुद्दों की जानकारी नहीं दी गई थी, जिन पर समझौता हुआ। मीडिया ने जब ठीक से चालू किया तो उसने ऐसा किया था।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here