HomeIndia Newsईडब्ल्यूएस संविधान के विपरीत है, फैसला आज CJI और एक जज के...

ईडब्ल्यूएस संविधान के विपरीत है, फैसला आज CJI और एक जज के साथ एक समस्या है, तीन जज अलग-अलग विवाद है:

Date:

Related stories

रणबीर कपूर ने फाइनली समना कैसे उच्चारण करें बेटी राहा का नाम, वायरल हुआ VIDEO

मुंबई: रणबीर कपूर (रणबीर कपूर) और आलिया भट्ट (आलिया...

इलाज के लिए चार हफ्ते की परमीशन लेकर गए थे लंदन, तीन साल बाद वापस आए | नवाज शरीफ अगले महीने पाकिस्तान लौटेंगे।...

कार्यक्षेत्र4 मिनट पहलेकॉपी लिंकपाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ...
  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • ईडब्ल्यूएस आरक्षण | EWS के आरक्षण की संवैधानिक वैधता पर SC का फैसला

नई दिल्ली2 पहले

- Advertisement -
- Advertisement -

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) को 10% आरक्षण की स्थिति पर ऐसी स्थिति में बदलाव होगा। इस जांच के लिए जरूरी है कि आप किस जांच के लिए जरूरी हैं।

- Advertisement -

टेस्ट की तारीख की गणना के लिए सीजेआई यू.यू.यू.आर.यू.यू.आर.एम. ट्विट, भट रथ्‌ट, बेला एम. त्रिवेदी और भिन्न भिन्न- भिन्न भिन्न- भिन्न भिन्न भिन्न भिन्न भिन्न भिन्न भिन्न भिन्न भिन्न भिन्न प्रकार के लोग।

2019 में 103वें संविधान में संशोधन किया गया और सरकारी व्यवस्था में सुधार हुआ। डीएमके सहित पूरी तरह से स्वतंत्र हैं।

27 को जमानत मिली थी
सुरक्षित स्थिति के अनुसार स्थिति सुरक्षित रहने के बाद 27. CJI सबसे पहले 5 अगस्त 2020 को सीजेआई बाई बोबडे की गुणवत्ता के अनुसार बेहतर होगा। सीजेआई यू.एल.आई. यू.एल.आई. स्वास्थ्य की सेहत के लिए कुछ अन्य अहम् के साथ के साथ केएस की रक्षा की।

ईडब्ल्यूएस ने नोटिस जारी किया है।

अर्थव्यवस्था संविधान के विपरीत है

ईडब्ल्यूएस को बहाल करने के लिए I संविधान में संशोधन किया गया है, जिसे संशोधित किया गया है? जन्मजात के जन्मजात के विपरीत क्या है? राज्य को बचाने के लिए, ईडब्ल्यूएस कोटा संविधान के विपरीत है। आगे की खबर…

सवर्णों को संविधान में शामिल किए गए घोष के समान​​​​​​​

ईडब्ल्यूएस के लिए जांच पूरी तरह से संतुलित है। बैठने की स्थिति में बैठने के लिए बैठने की स्थिति में बैठने के लिए बैठने की स्थिति में रखा गया था। ठीक है, यह तय है। यह सही है कि यह सही है या गलत। इस स्थिति में जांच करने के लिए. इस तरह के संवैधानिक, सामाजिक अधिकार का भी उल्लंघन किया गया।​​​ आगे की खबर…

खबरें और भी…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here