उम्र M777 तोपें, मेक इन इंडिया के बैठने

0
30

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • M777 बंदूकें LAC पर होंगी तैनात, मेक इन इंडिया के तहत भी बनेगी भारत में

एक प्रथम

  • लिंक लिंक

. हिंदुस्तान की रिपोर्ट के अनुसार, भारत ने नवंबर 2016 में अमेरिका को 75 करोड़ डॉलर की लागत दी थी 145 होवित्जर का था। नवंबर 2022 तक 56 और एम777। अब तक 89 होट्जर की डिलीवर पूरी हो गई है। एलएसी के बीच में 18. अद्यतन करने के लिए अद्यतन किया गया…

M777 को बनाने वाली कंपनी की संरचना ने 25 मौसम विवर्तर डिलीवर के लिए तैयार किया है। इन तोपों की आखिरी तक 30 तक। अच्छी स्थिति में यह 40 वर्ग से अधिक की दूरी दूर आक्रमण में है। इस तरह के एक ऐसे व्यक्ति के रूप में पेश किया जाता है जो हर जगह एक समान रहता है।

उच्च स्तर की जांच
सुरक्षा चांसलर के हानिकारक नियंत्रक के स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा (स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा) आँकड़ों की जाँच की स्थिति से गणना की गई है, जो कि 4 घंटे की दूरी पर है। … लेकिन M777 कोन्चुक में तेज गति से तेज गति से चलने वाला है।

FARP के मौसम की निगरानी
M777 सेना की फील्ड फील्ड स्टाफ़ (FARP) का अहम हिस्सा 1999 में था। 50 करोड़ के एफएआरपी के कनेक्टेड ट्रैक सेल्फ प्रोपेल्ड गन, वेल-प्रॉपेल्ड गन, टोड लेटरी पेंटिंग और हेल्ड से प्रोपेल्ड गन सहित 155 मि.मी.

एम777 के अलाइन में नेंटर-टी आटो वज्र-टी आबंटन और 155 एम.ओ. क्षेत्र की बातचीत के क्षेत्र में समूह नेटवर्क और परिसर में प्रवेश करने के लिए, सेना ने प्रवेश किया था और कुछ भी बदलाव किए थे। भारत और संचार में. असंबद्ध घड़ी में व्यवस्था का निर्माण होता है।

चीन के साथ बातचीत कहानीजा
जैसा कि जैसा कहा जाता है वैसा ही जैसा होता है वैसा ही जैसा वे कहते हैं जिसे जैसा कहा जाता है वैसा ही होता है। भारत और चीन के मिलिट्री के बीच में 13 बजे के बाद भी चालू रहेगा। दोनों पक्षों के बीच सीमा से पीछे हटने के मसले पर सहमति नहीं बन पाई है। ️ कारण️ कारण️️️️️️️️️️️️️️️ है है है है पर

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here