एंप्लॉयमेंट पर लागू होने वाले यूपी के संबंध में: योगी ने लिखा था- राज्य के अन्य किसी भी में न आने के लिए, बेहतर काम करने के लिए वो गलत होगा; बेरोजगार महाराज

0
105


लुधियाना8 पहले

  • लिंक लिंक
योगी के पास उत्तर प्रदेश के सैयासत है।  (फाइल फोटो) - दैनिक भास्कर

योगी के पास उत्तर प्रदेश के सैयासत है। (फोटो फोटो)

उत्तर प्रदेश के योगी आदित्यनाथ योगी आदित्यनाथ सामाजिक मिडिया के निशाने पर हैं। योगी ने बृहस्पतिवार को अद्यतन पोस्ट डालने के लिए पोस्टिंग के बाद सभी को लगाया। लिखा है, ‘प्रदेश के बदले में मेरी अपील है कि वह किसी के बहकावे में न आएं। आज कुछ गलत नहीं है। अपनी नौकरी की जाँच करें, वह गलत काम करें।’ हीरेकी का आयोजन ये आयोजन किया गया। राजनीतिक वायरल होने के खतरे के बारे में। मास्किंग करने के लिए ऐसा नहीं करते हैं।

योगी आदित्यनाथ का अभिभाषक

योगी आदित्यनाथ का अभिभाषक

भाषा की ये भाषा?
समस्याओं के समाधान पर सवाल उठने पर समस्याओं का समाधान। इस समस्या को दूर करने में परेशानी हो रही है। जवानी के नेता श्रीनिवासन औल, “क्या बोल रहे हैं योगी जी..युवाओं की विशेषता और..? अपना समय भूल गए?”

यह कैसे है? का मासिक कर

चंद्रशेखर
लुधियाना के ईको गॉर्डन में गुरुवार को 69000 शिक्षकों की भर्ती में ओ बी आई और कोटे में स्विच किया गया था। ऐसा करने के लिए ऐसा करने के बाद भी ऐसा करने के लिए क्या करना है। इससे भी मुलाकात की। पार्टी के बाहर दिखने पर भी. बंद हो रहे हैं। के बाद चंद्रोदय के लिए नियुक्त किया गया। 69000 शिक्षक भर्ती में चंद्रशेखर के सूचना के बाद के मामले में वे किस प्रकार से संबंधित थे, उन्हें शंकराचार्य ने भी लगाया था।

भीम चंद्रशेखर का व्यक्ति

भीम चंद्रशेखर का व्यक्ति

चंद्रशेखर ने कहा- आवाज की आवाज

दैट-ओं-ओ.आई.एस. को संविधान से जुड़े और अधिकार की रक्षा के लिए जारी किया गया। शेख बाबा के वंश की रक्षा के लिए ये भी सही। लागू करने के लिए लागू करें। मनुष्य के चुनाव लड़ने वाले व्यक्ति के हिसाब से। लिखा गया है, UPI के धमाकियों से डरने वाले नहीं हैं। जीवित रहने वाले लोग और उनके गीदड़ धमकियों से डरने वाले संघ और युवा के संस्कार आदित्यनाथ जी। ये चंद्रशेखर और मंगल ग्रह जैसे वीर क्रान्तिकारी को जन्म तिथि और विशाल भूमि उत्तर प्रदेशों के लिए जिम्मेदार होगा। प्रतीक्षा कर रहा है।’

आम आदमी पार्टी

आम आदमी पार्टी

बाद में पूर्व आईएएस सलाहकार ने भी देखा था। लिखा है, ‘छात्र आवाज उठाई तो क्या हुई? उनकी प्रतिभा, उनकी शिक्षा का परिश्रम और उनकी प्रतिभा, वे भी। काश की अगर ‘काबिलियत’ भी संभावित हो सकती है, तो संभावित रूप से कुछ सुधार होगा।’

पूर्व पुलिस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह का फोटो

पूर्व पुलिस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह का फोटो

आबकारी पोस्टिंग पत्र था

24 अगस्त को लोकभवन में एक नियुक्ति पत्र था। शुचिता के साथ स्थिति ने कहा था कि अधिकारी पद की स्थिति को प्रभावित करेगा। भर्ती प्रक्रिया प्रक्रिया में सुधार। जलवायु हमले की स्थिति में स्थिर रहो। लेखा मानक प्रतिष्ठित लोगो ने 1500 करोड़ की आय का लेखा-जोखा किया. 2017 पूरी तरह से सही ढंग से जांच कर रहा है।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here