एक में 18,347 करोड़ का लाभ प्राप्त करने वाला:

0
49

  • हिंदी समाचार
  • व्यापार
  • रिलायंस को भी पछाड़ ONGC बनी भारत की सबसे बड़ी मुनाफा कमाने वाली कंपनी

मुंबई3 घंटे पहले

  • लिंक लिंक

सरकारी कंपनी ने भी ऐसा ही किया है। देश में सबसे अधिक वृद्धि हुई है। खतरनाक मौसम में 18,347.73 करोड़ का आनंद कमया है।

ऐल के नाम था
जब तक एक बार खराब हो जाने पर वह खराब हो गया। इस कंपनी ने अक्टूबर 2013 की मौसम में 14,513 करोड़ रुपये का आनंद लिया था। हालांकि टाटा स्टील ने इस रिकॉर्ड को तोड़ा और उसने मार्च 2018 में 14,688 करोड़ रुपए का फायदा कमाया था।

कोल इंडिया ने कमाया था 14,189 करोड़ का आनंद
सरकारी कंपनी कोल इंडिया ने अक्टूबर 2016 में 14,189 करोड़ रुपये का आनंद लिया था। ऑक्सीकरण निजी क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी रिलायन्स लिमिटेड (आरआईएल) ने 2021 की मौसम में 13,680 करोड़ का आनंद लिया। इस आंकड़े में टाटा स्टील और रिलायंस इंडस्ट्रीज की सभी कंपनियों का फायदा शामिल है। ओएनजीसी ने 18,348 करोड़ का आनंद लिया है। ONGC के अन्य गुण बेहतर हैं।

110% का मौसम ONGC
ओएनजीसी ने के साथ 110% का लेखा (डिविडेंड) भी घोषणा की है। आइसीऐट स्टॉक 5.50 का मौसम मौसम विज्ञान। शुक्रवार को शेयर 154 पर बंद हुआ था। एक साल पहले जुलाई-बैठने की स्थिति में कंपनी को 2,757.77 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। इस बार बार में वृद्धि हुई है। वित्त वर्ष 2020-21 (अप्रैल 2019 से मार्च 2020) के पूरे साल में 11,246 करोड़ का आनंद कमाया था। .

ओएनजीसी का आनंद
ONGC के फायदे के लिए. एक तो कच्चे तेल की कीमतें 41 डॉलर से बढ़कर 69 डॉलर पर पहुंच गईं। एकमुश्त राहत का सामना करना पड़ा। एक मुस्तफा समाधान के मामले में 8,541 करोड़ का आनंद लिया। ONGC को असफल और हमला करने के बाद भी यह विफल रहा। कंपनी के कच्चे तेल की कीमत 3.8% घटक 54 लाख पर थी। 7% कंपोनेंट 5.4 अरब मीटर पर आ रहा है।

ओएनजीसी ने तेज गति से काम करने वाला डिवाइस था। मूवी 22% का बुखार। बचाव पर अमल करते हुए 1,304 करोड़ रुपये बचाने और बचाव में 8,541 करोड़ रुपये की बचत करें।

2019 में सरकार ने सुधार किया
2003 में 2003 में सरकार ने सुधार किया। इसके इस पर सरचार्ज और सेस लागू होगा। पहली बार 30% का। ️ शर्तों️ शर्तों️️️️️️️️️️️ ओएनजीसी का मौसम में मौसम 44% ने 24,353 करोड़ रुपये सुनाया। एक साल पहले ईमेल में यह 18,348 करोड़ था। हालांकि, विविध प्रकार के रासायनिक पदार्थ शामिल हैं तो कुल 1.22 लाख करोड़ रुपये। जो 2020 में 83,619 करोड़ था।

भारत
इंडिया संवर्द्धन क्षमता 249.36 मौसम की ख़राबी। 23 पुनरावर्तन। भारत ने वित्तीय वर्ष 2021 62.71 अरब डॉलर खर्च किया। अरब वित्तीय वर्ष 2020 में 101.4 अरब डॉलर और 2019 में 111.9 अरब डॉलर का खर्चा।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here