HomeIndia Newsएसवाईएल पर पंजाब की न के बाद यूपी से आस: पानी के...

एसवाईएल पर पंजाब की न के बाद यूपी से आस: पानी के लिए हरियाणा मुख्यमंत्री योगी को लिखित चिट्ठी, गुरुग्राम के लिए चाहिए 1000 क्यूसेक पानी

Date:

Related stories

  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • हरयाणा
  • पंजाब के बाद यूपी से उम्मीदें नहीं, एसवाईएल नहीं; हरियाणा ने पानी के लिए सीएम योगी को लिखा पत्र, गुरुग्राम के लिए 1000 क्यूसेक पानी की जरूरत

चंडीगढ़2 पहले

- Advertisement -
सतलुज-यमुना लिंक (एसवाईएल) पर पंजाब की न के बाद अब हरियाणा को उत्तर प्रदेश से आस है।  - दैनिक भास्कर
- Advertisement -

सतलुज-यमुना लिंक (एसवाईएल) पर पंजाब के बाद हरियाणा को उत्तर प्रदेश से है।

- Advertisement -

सतलुज-यमुना लिंक (एसवाईएल) पर पंजाब की न के बाद अब हरियाणा को उत्तर प्रदेश से आस है। गंगा-यमुना लिंक (GYL) नहर से पानी के लिए हरियाणा की ओर से ऊपर सीएम योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखें। गुरुग्राम में पानी की संबद्धता में वृद्धि के लिए जीडब्ल्यूएस चैनल की क्षमता बढ़ाने की तैयारी कर रहा है।

पंजाब-नंदलुज-यमुना लिंक (एसवाईएल) नहर पर नया हरियाणा  (फाइल फोटो)

पंजाब-नंदलुज-यमुना लिंक (एसवाईएल) नहर पर नया हरियाणा (फोटो फोटो)

2030 तक गुरुग्राम को 1000 पंक्तिसेक पानी

हरियाणा सरकार वर्ष 2030 की जनसंख्या के अनुसार 1000 क्यूसेक पानी की सुनिश्चितता करने का प्रयास कर रही है। इसके लिए चैनल की कमी और रमणीयता पर लगभग 1600 करोड़ रुपये की लागत आएगी। यह फैसला सीएम ग्रेस लाल की अध्यक्षता में देर शाम हुई सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग की बैठक में लिया गया।

वेस्ट वाटर लागू सरकार

मुख्यमंत्री ने कहा कि पानी के लिए उपयुक्त है। पर्यावरण के विकास और विकास के विकास को लागू करने के लिए पूरी तरह से लागू किया गया है। जल के लिए स्वच्छ जल के लिए, स्वच्छ जल के लिए स्वच्छ जल के लिए विशेष रूप से अनुकूल और स्वच्छ होगा।

सीएम मनोहर लाल ने अधिकारियों को गंगा-यमुना लिंक नहर बनाने के लिए सेंटर व यूपी को लेटर क्रिएट करने के लिए कहा है।  (फोटो फोटो)

सीएम मनोहर लाल ने अधिकारियों को गंगा-यमुना लिंक नहर बनाने के लिए सेंटर व यूपी को लेटर क्रिएट करने के लिए कहा है। (फाइल फोटो)

GYL से हरियाणा में पानी

सीईओ ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि गंगा नदी का पानी हरियाणा में आने की दिशा में कदम उठाना है। इसके लिए गंगा-यमुना लिंक (GYL) नहर बनाने के लिए जल केंद्र और यूपी सरकार को पत्र लिखा जाए। इस लिंक नहर के बनने से हरियाणा को पानी की अतिरिक्त सुनिश्चितता का आरोप लगता है।

फरीदाबाद के लिए मुख्यमंत्री की ये योजना

फरीदाबाद में पानी की आवश्यकता को पूरा करने के लिए रेनीवेल परियोजना से जल संग्रहण पर जोर दिया जाएगा। इसके अलावा, एक विशेषज्ञ समिति का भी गठन किया जाएगा, जो याया में भूमिगत तल से संबंधित अध्ययन करेगी। साथ ही यह भी देखा गया कि दक्षिण हरियाणा में पानी की कितनी जरूरत है और वर्तमान में कितनी मात्रा में आपूर्ति हो रही है।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here