ओ एम सी पर एक ही समय में सही ढंग से लागू होने पर:

0
35

  • हिंदी समाचार
  • सुखी जीवन
  • भारत को जल्द ही वैरिएंट विशिष्ट वैक्सीन मिल सकती है, यह एक समय में केवल एक वैरिएंट को लक्षित करेगा

5 पहले

  • लिंक लिंक

कोरोना के नए वैरीय दिशा में ओमिक्स को टाइप करने के लिए पुन: टाइप करें। ये एक वैरीय-वैरिफिक वैरिएंट है I इसके पहली बार लागू होने के लिए ये देश की एमआरएनए टेक्नोलॉजी पर आधारित है। हालांकि🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 होने

पहले जान लें, क्या mRNA तकनीक?

एमआरएनए या प्रोटीन्स-आरएनए जो इस तरह की भाषा में ये कह सकते हैं कि ये ऐसे व्यक्ति हैं जो इस तरह के कीटाणुओं को तैयार करते हैं। हमारी गुणवत्ता में सुधार हुआ है, जो हमारे परिवार में रहने वाले हैं।

प्रौद्योगिकी का आनंद लिया जा सकता है। साथ ही, दृषिटकोण भी मजबूत होते हैं। कोरोना के रूप में वे हैं

ओ एम सी वैर जैसी दिखने में

द टाइम्स ऑफ इंडिया के एक वाई के आकार, जेमिंग बाय फार्मास्युटिकल्स ने कीटाणुओं के लिए कीटाणु को संक्रमित किया है। ️ इंसान️ इंसान️ इंसान️ इंसान️️️️ देश में घुसने वाला वायु कीटाणु की चपेट में आने वाला है।

पहली बार वैलेरी के लिए

रिपोर्ट ️ मानें️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ है। इसके फेज -2 का ट्रायल 3,000 लोगों पर किया जा चुका है। फेज-3 के जल्द शुरू होने वाले हैं। कंपेयर ने कंपेयर शुरू किया। इस तरह के प्रबंधन से निपटने के लिए, प्रबंधन ने ऐसा किया है।

डॉक्‍यूड-19 पर आधारित वैक्‍टिक्‍य विकल्‍प तकनीक वैसी ‍विवरणीय समूह से संबंधित है जो

mRNA का निर्माण भारत के लिए

देश में कीट कीट (एनसीटीएफ) के कीट कीट कीटाणु होते हैं, “एमआरएनए प्रौद्योगिकी पर आधारित निर्माण का निर्माण भारत के लिए जैविक उत्पाद है। – लाईफिक का निर्माण उत्पन्न करने वाला है

अब तक वैर-वैर-जैसे वैश्विक-अमीक ग्लोबल जैसे विश्व के कुछ इसी प्रकार के हैं।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here