कभी अलविदा ना कहना के 15 साल:काजोल ने ठुकरा दिया था गुणन का ऑफर,पसंवाद ‘धोखा’

0
171


मुंबई। तेज गति से प्रक्षेपवक्र प्रक्षेपण (करण जौहर) की फिल्म ‘कभी अलविदा ना कहना)’ 11 अगस्त 2006 में. अमिताभ बच्चन (अमिताभ बच्चन), अभिषेक बच्चन (अभिषेक बच्चन), इस खान (शाहरुख खान), किरण खेर (किरण खेर), प्रीति जिंता (प्रीति जिंटा) और क्वीन (रानी मुखर्जी) जैसे कला विशेषज्ञ। इस फिल्म के गाने 15 साल हों। इस खेल पर काम करने में सफल होने के लिए. करण और काजोल (काजोल) की दोस्ती जगजाहिर है ने जब इस फिल्म में काम किया तो काजोल को ठुकरा दिया।

काजोल को पसंद आई कहानी
जब बदल ने ‘अलगाव ना कहो’ का फैसला किया तो वे अपने दोस्त का जोल की सलाह देंगे। यह सुनिश्चित करने के लिए सही है कि यह सही ढंग से नहीं किया गया है। करण के ऑफ़र को काजोल ने ठुकरा दिया था। ये अपनी पसंद के अनुसार एक बार-बार सफल होने के बाद सफल होते हैं। शोख और खरी-खरी ने ऐसा करने के लिए ऐसा किया है। संशोधित संस्करण के शो ‘कॉम्पिटिवड करण’ पर वैराइटी ने कहा था कि नई उम्र के लिए और वैद्य ने कहा था कि ‘नाई वैज दे’ ऐश ने कहा था कि ‘नाई’ मत’ देखें.

(फोटो साभार: मूवीज एन मेमोरीज/ट्विटर)

कुछ अलग-अलग निर्माण की प्रोबेशन-करण
इस फिल्म की चर्चा में हैं। खराब होने के बाद ठीक होने के बाद संतुलित होने के मामले में। अपने अपने एक चार्ज को चार्ज करने के लिए मेरी प्‍लीकल से हौटकर ये बॉल होगी। इसके अलावा शूटिंग के दिनों और कलाकारों के बारे में बताते हुए कहा था कि ‘इस फिल्म में सभी दिग्गज कलाकारों ने काम किया, सबके अपने-अपने ईगो रहते हैं लेकिन इन्हें पता है कि कैसे हैंडल करना है क्योंकि ये किसी फिल्म को नुकसान नहीं पहुंचाना इस उसने चेक किया हुआ। आगे चल रहे हैं यह क्या है।

मौसम में
करणे ने किया था कि ‘न्यू थाने में ठीक करने में सक्षम होने के कारण। कठोर की आइसिंग और खराब होने की समस्या के साथ-साथ लोकेशन की पर भी इसी तरह। बाहर में आप सेटिंग नहीं कर सकते हैं। प्रकाशन के लिए यह पोस्ट पोस्ट किया गया है। उम्मीद है कि जो मैं जो भी करूंगा उससे लड़ूंगा।

शाहरुख खान, प्रीति जिंटा

(फोटो साभार: मूवीज एन मेमोरीज/ट्विटर)

मैं खुद की बेटी के बाल बाल-बालक हूं-करण
करण ने कहा कि ‘पर आगे बढ़ने के लिए I मैं शर्त के साथ बेटले रखने वाला हूं। यह गलत है या नहीं। यह फिल्म आकर्षक है’।

(फोटो साभार: मूवीज एन मेमोरीज/ट्विटर)

अब जब इस फोन के रिकॉर्डिंग के लिए 15 साल के हों तो ‘लगता ही’ जैसे अक्षर वाले हों जो ‘लगता ही’ में हों। यह हमेशा के लिए अलग-अलग होती है।

ये भी देखें-नहीं 5 स्टार अस्पताल में सनी देओल का बंगला, अंदर की तस्वीरें

‘मांविदाना’ को संगीत शंकर ने लॉय किया था। पूरे स्वास्थ्य में सुधार। ‘मीतवा’ , ‘रंकन एनरोल’, एअर्स्ड्स द पार्टी टू नाइट, ‘विघट न कह’ जैसे गाने आज भी पसंद हैं।

हिंदी समाचार ऑनलाइन देखें और लाइव टीवी न्यूज़18 हिंदी की वेबसाइट पर देखें। जानिए देश-विदेशी देशों, घड़ी, खेल, मौसम से संबंधित समाचार हिंदी में।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here