HomeIndia Newsकिसानों ने अंबाला-शामली एक्सप्रेसवे का काम रोक दिया: जमीं अधिगृहण का न...

किसानों ने अंबाला-शामली एक्सप्रेसवे का काम रोक दिया: जमीं अधिगृहण का न मिलने पर भड़के हरियाणा के किसान; बीकेयू एक्टिवलाइन धरने पर बैठी

Date:

Related stories

सलमान खान के जीजा ने पापा को दी चुनाव जीतने की बधाई…, कहा- बधाइयां होइए!

नई दिल्ली। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजों के...
  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • हरयाणा
  • अंबाला
  • Ambala News : किसानों ने अंबाला-शामली एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य रोका। रतनहेड़ी में धरने पर बैठा बीकेयू

अंबाला2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
- Advertisement -
- Advertisement -

अंबाला-शामली के बीच नया एक्सप्रेस-वे निकालने की तैयारी है। सरकार द्वारा किसानों की भूमिगृहीत की गई है, लेकिन अभी तक किसानों के खाते में आवंटन नहीं डाला गया और निर्माण अधिग्रहीत किया गया। जिसके विरोध में इंडियन किसान यूनियन (चढूनी ग्रुप) ने मोर्चा खोल दिया है।

- Advertisement -

गाँव रतनहेड़ी में धरने पर बैठे किसान पहले अधिकृत भूमि की मान्यता जारी करने की मांग पर अडिग हैं। यही नहीं, किसानों ने अपना स्वामित्व जारी न होने तक एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य न होने देने की चेतावनी दी है।

बीकेयू जिला मुख्य बोले- जमीन में 62 लाख प्रति एकड़ कीमत
बीकेयू जिला प्रधान मलकीत सिंह ने कहा कि सरकार ने एक्सप्रेस-वे के लिए रतनहेड़ी, सपरा और सपेड़ा सहित अन्य गांवों के किसानों की जमीन अधिगृहीत की है, जिसकी कीमत प्रति एकड़ करीब 62 लाख है। सरकार ने एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य शुरू किया, लेकिन किसानों के अधिकार पत्र जारी नहीं किए गए।

3663.80 करोड़ से एक्सप्रेस-वे में
भारत परियोजना परियोजना के तहत 3663.80 करोड़ रुपये की लागत से 6 लेन का अंबाला-शामली एक्सप्रेस-वे बनाया जाएगा। अंबाला-चंडीगढ़ रोड से शामली तक इसकी लंबाई 110 किलोमीटर होगी। इसका राइट ऑफ वे करीब 60 मीटर का होगा और पूरी तरह ग्रीन फील्ड कॉरिडोर होगा। यह एक्सप्रेस-वे अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल व यायानगर से होते हुए वेस्ट यूपी के सहारनपुर और शाम को दिल्ली में आपस में जुड़ जाएगा। शामली जिले की सीमा से होता था हुआना भवन पहुंचेगा। जहां दिल्ली-शामली-सहारनपुर फोर लेन को पार्क किया जाएगा दिल्ली- पर्यावरण इकोनॉमिक कॉरिडोर में।

अंबाला के इन करोड़ों से गुजरेगा एक्सप्रेस-वे
एक्सप्रेस-वे अंबाला सिटी के गांव सद्दोपुर में अंबाला-चंडीगढ़ रोड से अंबाला कैंट में पंजोखरा माइनर से होते हुए साहा व बराड़ा कस्बे के चौकों से गुजरेगा। कैंट में रामगढ़ सरफपुर, साहबपुर, रतनहेड़ी, पिलखनी, कपूरी, भीलपुरा, खुड्डी सड़कों से गुजरेगा।

साहा कस्बे में गांव मिठाठापुर, समलेहड़ी, तेपला, हरयोली, हरड़ा, रामपुर, जमीनपुर, टोबा, हेमा माजरा, पपलौथा, कालपी, नौहनी, मौजगढ़, राजौली, केसरी, छपरा, शेरगढ़, हरड़ी, अकबरपुर, धुराला, फुलेलमाजरा, खारूखेड़ा से गुजरेगा ।

बराड़ा के गांव अलावलपुर, फोक्स, मनू माजरा, तलहेड़ी रंगरान, थंबड़, कामस, अधोया हिंदवान, कंबासी, तंदवाली, अधोया मुस्लिम, अधोई, दहिया माजरा, बराड़ा, सज्जा माजरी, दादूपुर, चहल माजरा, सरकपुर, रजौली, राजोखेड़ी, तंदवाल, पट्टी बघेरू व घेलड़ी से चल गुजरेगा।

गांव रतनहेड़ी में सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते किसान।

गांव रतनहेड़ी में सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते किसान।

6 पहचान और 2 राज्यों के जोडे आपस में जुड़ेंगे
सिक्सलेन एक्सप्रेस-वे का निर्माण हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ से वेस्ट यूपी की राह आसान होगा। वेस्ट यूपी के हरियाणा और पंजाब से जुड़ने से उद्योग व्यापार को बढ़ावा मिलेगा। अभी अंबाला के लोगों को करनाल से शामली जाना पड़ा हुआ है। एक्सप्रेस-वे बनने के बाद एक से डेढ़ घंटे का समय लगेगा। एक्सप्रेस वे हरियाणा में अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल, यायानगर से चल गुजरेगा और उत्तर प्रदेश में सहारनपुर व शामली जिले को आपस में जोड़ेंगे।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here