HomeSports Newsकैप्टन बैंड पहनने वाला पहला मैच खेलेगा, योलो कार्ड दिखाया जा सकता...

कैप्टन बैंड पहनने वाला पहला मैच खेलेगा, योलो कार्ड दिखाया जा सकता है | फीफा विश्व कप 2022 वन लव बैंड विवाद; हैरी केन, वर्जिल वैन डिज्क

Date:

Related stories

टिकट मिलने वाले यात्री से रेलवे कर्मचारियों ने की ठगी: 500 रुपए के नोट को 20 रुपए से बदला; कार्रवाई करेंगे

हिंदी समाचारराष्ट्रीयदिल्ली हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन; रेलवे कर्मचारी...

वजह से रुका है शोएब-सानिया का तलाक!: द मिर्जा मलिक शो पूरा होने के बाद ही कर सकते हैं

8 मिनट पहलेपाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक और सानिया मिर्जा...
  • हिंदी समाचार
  • खेल
  • फीफा विश्व कप 2022 वन लव बैंड विवाद; हैरी केन, वर्जिल वैन डिज्क

दोहा2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
- Advertisement -
खलीफा इंटरनेशनल स्टेडियम में सोमवार शाम इंग्लैंड और ईरान के बीच मैच खेला जाएगा।  - दैनिक भास्कर
- Advertisement -

खलीफा इंटरनेशनल स्टेडियम में सोमवार शाम इंग्लैंड और ईरान के बीच मैच खेला जाएगा।

- Advertisement -

पहले ही प्रसंगों में फीफा वर्ल्ड कप में अब LGBT+ विवाद शुरू हो गया है। मैच के दौरान इंग्लैंड सहित 8 टीमों ने समलैंगिक संबंधों का समर्थन करने का फैसला किया है। इंग्लैंड के कैप्टन हैरीकेन ने कहा- ‘वो ईरान के ख़िलाफ़ अपने पहले दावे में रेनबो बैंड पहनेंगे, जो LGBT+ कम्युनिटी का सिंबल है।’

इस पर फीफा ने कहा- ‘अगर टीमें या खिलाड़ी ऐसा करते हैं तो यह चेतावनी का उल्लंघन होगा। फीफा के आलोचकों पर भी प्रतिबंध लग सकता है।’

सवाल-जवाब में तरह तरह से समझें पूरा मामला…

वर्ल्ड कप में LGBT+ विवाद कहां से शुरू हुआ?
इंग्लैंड के कप्तान हैरीकेन और पूरी टीम LGBT+ कम्युनिटी यानी समलैंगिक विश्राम के समर्थन में “वन लव’ बैंड पहनने वाले मैच में उतरेंगे। इंग्लैंड का आज इस्लामिक देश ईरान से पहला मैच है, जहां समलैंगिक संबंध प्रतिबंध हैं। फीफा वर्ल्ड कप दोहा में हो रहा है। , वहां भी समलैंगिक संबंध प्रतिबंधित हैं।

इंग्लिश कैप्टन हैरीकेन ने वन लव बैंड पर क्या स्वीकार किया?
हैरीकेन ने कहा, “टीम, स्टाफ और संगठन संगठन के तौर पर हमने यह स्पष्ट कर दिया है कि हम वन लव आर्म बैंड बनाना चाहते हैं। फीफा से बातचीत चल रही है और वो हमें मैच से पहले निर्णय बताएंगे। हम अपनी ओर से इच्छा व्यक्त करते हैं। स्पष्ट कर दिया है।’

फीफा हैरीकेन पर क्या कार्रवाई हो सकती है?
आज ईरान के खिलाफ होने वाले मैच में अगर हैरीकेन रेनबो बैंड उतरते हैं तो उन्हें ग्राउंड पर आने ही रेफरी येलो कार्ड दिखा सकते हैं यानी चेतावनी दे सकते हैं। दूसरे मैच में भी हैरीकेन अगर ऐसा ही करते हैं तो उन्हें फिर यलो कार्ड दिखाया जा सकता है। इसके चलते वे तीसरे मैच में नहीं खेलेंगे। फीफा मैच से पहले ड्रेसिंग। रूम में अपनी टीम भेजकर प्लेयर्स से बैंड हटाने को कह सकता है। इसके अलावा जुर्माना या बैन भी लगाया जा सकता है।

LGBT+ के समर्थन में कौन-कौन सी टीमें हैं?
इंग्लैंड के अलावा वेल्श के गेरेथ बेल, जर्मनी के मैनुअल न्यूएर, नीदरलैंड के वर्जिल वन दिक भी रेनबो बैंड का मन बना लिया है। कुल 8 टीमें हैं जो समलैंगिक संबंधों के समर्थन में हैं। नाम अभी इसी क्रम में और खिलाड़ियों के सामने आए हैं।

क्या फीफा की चेतावनी का फर्क नहीं है?
इंग्लैंड की टीम चाहती है कि बैंड पहनावा पर क्या होगा, वो स्थिति स्पष्ट कर दें। इसके बाद टीम और संबद्ध संबंध। जर्मनी ने कहा कि अगर ठीक लगता है तो हम उसके लिए तैयार हैं। हालांकि, कार्यक्षेत्र इस बात को लेकर संवेदनशील है कि उनके खिलाड़ी पर क्या कार्रवाई की जा सकती है। वर्लिजल वन ने कहा- मैं वन लव बैंड पहनूंगी। अगर मुझे इसके लिए यलो कार्ड दिखाया जा रहा है तो हम इस पर चर्चा करेंगे।

यलो कार्ड कितना महत्वपूर्ण रोल प्ले करेगा?
आमतौर पर यलो कार्ड अलर्ट के तौर पर दिया जाता है। एक ही वाक्य में 2 यलो कार्ड पर खिलाड़ी मैदान छोड़ सकते हैं। रेड कार्ड मिलने पर खिलाड़ी तुरंत मैदान छोड़ देता है। इस कार्ड से खिलाड़ी पर बैन भी लग सकता है।

  • अगर किसी खिलाड़ी को 19 सप्ताह के अंदर 5 यलो कार्ड मिलते हैं तो उस पर एक मैच का बैन लगता है।
  • 32 सप्ताह में दस यलो कार्ड होने पर खिलाड़ी को दो याक के लिए प्रतिबंधित किया जाता है।
  • 38 सप्ताह में 15 यलो कार्ड होने पर 3 मैचों का बैन लगता है।
  • एक सीज़न में 20 यलो कार्ड मिलने पर रेग्युलेटरी कमीशन खिलाड़ी को जैसा ठीक वैसा ही समझ सकता है।

यलो तब कार्ड दिया जाता है, जब कोई खिलाड़ी अनावश्यक व्यवहार करता है। अपने व्यवहार या बातों से वो रेफरी की बात न मान रहा हो। बार-बार चेतावनी का उल्लंघन हो रहा है। खेल शुरू करने में देरी कर रहे हैं। कॉर्नर और फ्री किक के दौरान पियर्स की दूरी नहीं रखें। मैच रेफरी की अनुमति के बिना फील्ड से बाहर जाने और अंदर आने पर। पहला योलो कार्ड अलर्ट होता है और दूसरा यलोकार्ड लाल रंग में बदल जाता है।

इस फीफा वर्ल्ड कप से जुड़े और विवाद कौन से हैं?
कतर में चल रहा फीफा वर्ल्ड कप शुरू से ही कनेक्शन में है। 2010 में जब कॉन्ट्रेक्ट होस्ट किया गया, तब फीफा अधिकारियों पर रिश्वत लेने के आरोप लगे।

  1. मॉर्गन फ्रीमैन ने ओपनिंग सेरेमनी होस्ट की। उन पर महिला शोषण के आरोप हैं।
  2. ओपनिंग सेरेमनी में ज्यादातर सीटें खाली रहती हैं।
  3. आखिरी पल में शराब पर पाबंदी लगाई गई। मैच के दौरान इसे लेकर नारेबाजी हुई।
  4. पहला मैच 2 सेकेंड जल्दी शुरू हुआ, रेफरी ने काउंटडाउन नहीं देखा।
  5. पहली बार कोई होस्ट कंट्री ओपनिंग मैच हारी है। फिक्सिंग के भी आरोप।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here