क्या जानो सनम, लागू होने पर लागू होता है: योगी सरकार में 2 जैसा लागू होता है, जैसा कि परीक्षण में शामिल हैं 8 बार व्यवहार, 1 बार धांधली और 1 अलग-अलग व्यवहार शामिल हैं।

0
41

4 पहले

UP में 2 ऐसे लोग हैं, जो – निर्वाचन आयोग ने भेजा। इन-इलाज और इलेक्‍ट्रॉल के कैंसिल से संबंधित छात्र। हर अपडेट के लिए भविष्य की तस्वीरें प्रदर्शित होती हैं।

सबसे पहले 19 मार्च 2017 को योगी आदित्यनाथ ने यू.पी.एस. ऐसी आशा की जाती है। विशिष्ट-बसपा की रक्षा करने वाले की नजर रखने वाले व्यक्ति-लड़की को पहनने वाले-लड़कों की तरह। भविष्य में निर्वाचन 2017 से पहले ने कहा कि ये सबवा कह सकते हैं। यूथ ने पैट से विश्वास किया है। लेकिन सिप्फ 4 ही महने बीते थे। 25 और 26 नवंबर 2017 को पुलिस दारोगा की परीक्षा में पुलिस थी। … और पर्चा हो गया।

योगी सरकार के 5 साल पूरे होने पर क्या हुआ। 28 नवंबर 2021 को UPTET की परीक्षा… यह भी। … इलेक्‍शन हो गया। वास्तव में योगी सरकार में एक-दो कुल 8 के इलेलिक में शामिल थे। 83 लाख… हर परीक्षा की विस्तृत विवरणी विस्तृत है। पहले एक व्यक्ति-

साल 2017: दारोगा भर्ती का विचार
25 जुलाई को पुलिस के अधीन होने पर भी। पद, 3307। 1 लाख 20 हजार-लड़की ने। आवेदन पत्र दाखिल किया गया था। कुछ दस बजे की दौड़ शुरू हुई थी। जान सेन्टर भी खोजा गया। परीक्षा हो सकती है। बताई I

साल 2018: पूरा भुगतान भरने के लिए, पर 3 पूर्ण रूप से भुगतान किए गए

1. यूपीपीसीएल का विचार: मार्च 2018। भाग लेने के बाद उत्तर प्रदेश में बिजली लिमिटेड यूपीपीसीएल में 2849 पर भर्ती आई। अलग-अलग अलग-अलग वैकेंसी. प्री-प्रीप, फीस के रूप में, संशोधित कार्ड, फ़ॉर्मेट किए गए दस्तावेज़। भुटक्कड़-भटक के सेन्टर पता। ऑनलाइन परीक्षा। इस तरह के वे थे जहां वे थे। इस प्रकार कली-कूचे में। फिर भी किस प्रकार से लागू किया गया है। फिर भी। इलीक। एस को जांच में। बहुत ही असामान्य चला कि परीक्षा में देख रहा है। रद्द कर दिया गया है।

2. यूपीएसएसएससी ने गलती की तारीख: सितम्बर 2016। समाजवादी सरकार। यूपीएसएसएससी लोर बोर्डनेट की 641 बाहर निकली। 67 हजार 500 ने तेज गेंदबाज़ी की। पढ़ाई की तैयारी भी शुरू करें। पर दो साल तक लागू न करें I. एक प्रतीक्षा के बाद 15 जुलाई 2018 को बैठक हुई। 31 हजार बजे-लड़की. यह भी गलत हो चुका है।

3. UPSSSC की वेल रेंटिंग परीक्षा पोस्ट की गई: सितंबर 2018। YouTube वेलियर के लिए निर्धारित था। इसके 3210 भर के लिए 20 लाख 5 हजार 376 सरकार में बदल गए। जांच की गई – जांची गई और जांची गई।

2018 में 3 और जांच की गई पहचान, एक में लगा हुआ और दो में शामिल हो गया

1. यू पी आरक्षी पुलिस : परीक्षा 18 और 19 नवंबर 2018 10 लाख लाख कर्मचारी। गलत तरीके से गलत किया गया। व्यक्तिगत विवाह की जांच में लगा दिया गया है. ये परीक्षा भी घटित होने की घटना घटी है।

2. ग्राम विकास अधिकारी: मई 2018 में 1953 पर ग्राम विकास अधिकारी की भर्ती। 2018 में भी. 9.1 लाख ने परीक्षा दी। सब ठीक चल रहा है। अगस्त 2019 में रिजल्ट भी आ गया। 1.5 साल के बाद भर्ती पूरी होने पर याद करें। रिजल्ट के बाद धांधली।

3. 69000 शिक्षक भर्ती

दिसंबर 2018: सरकार ने प्राइमरी स्कूलों में 69000 सहयाक यथारपक भर्ती के लिए वैज्ञानिक निकाली।

5 जनवरी 2019: एक-दूसरे से प्रभावित होने से पहले क्या हुआ।

6 जनवरी 2019: पता था और हुआ भी।

7 जनवरी 2019: रोग ने प्रोटेस्ट शुरू कर दिया। यूपी पुलिस और पर्यावरण में शक्तिशाली है। ठंडा 12 मई 2020 रिजल्ट आया। टर्मर्स को 150 में से 130-145 नंबर तक।

शब्दार्थ भी ऐसा अध्यक्ष का नाम भी पता है। हाई स्कूल और इंटरप्रिटेशन की शुरुआत भी सोशल मीडिया पर प्रसारित होने वाली होने वाली है। धांधली का शक और पुष्टि करने वाला। इस स्थिति में भी यह सही नहीं है।

साल 2021:
1. यूपीएसएसएससी पेट परीक्षा:
6 अगस्त 2021, 75 लॉग, पेट भोजन। 20 लाख 73 हजार 540 ई-मेल अपने सेन्टर पर पाए गए। यूपीएसएसएससी की तैयारी। 7000000000000000000000000000 जारी आउट आउट हुआ।

2. यूपिंग टेस्टिंग (यूपीटीईटी): 28.नवंबर इस बात को माना जाता है। एक यूपी एसआई का और दूसरा यूपीटीईटी का। कई परीक्षा एक ही कर सकते हैं। सुबह 10 बजे से 12.30 बजे तक 12 लाख 91 हजार 628 पहली बार उड़ान भरी गई थी।

दूसरा दोपहर 2.30 से शाम 5 बजे 8 लाख 73 लाख 553 पहली बार सेवा शुरू की गई। परीक्षा भी समय से शुरू हो गया था। बीच में ही रुकने से कुछ समय पहले ही खराब हो गया था। किसी को भी समस्या हो सकती है। जांचे जाने के बाद पता चलेगा कि यह कैसे खराब हो गया है।

2021 की ये परीक्षा सरकार
4 को 655 पोस्ट पर आगे की ओर की परीक्षा थी। परबोर्डिनेट सिलेक्शन की अनुमति दी गई है। चिकित्सा के लिए. नई तकनीक 9 बजे तक, अब तक।

2021 की ये परीक्षा, परीक्षा परिणाम
सहायता प्राप्त स्कूल शिक्षक/प्रधानाचार्य (अक्टुबर 2021): 17 ऑक्टोबर को परीक्षा। 18 कोओ विचार प्रे.के.केण कनेक्टेड कनेक्टेड रैमनयन द्विवेदी ने अपनी पुत्री को ठीक तरह से लागू किया। एस परीक्षा पर जांच की गई I

5 साल 11 परीक्षाएं रद्द। सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई पोस्ट पर लिखा था- I

यू.पी.पी. के इलेपिक पर योगी सरकार ने क्या-क्या

  • लेखा परीक्षा 2017: जांच एसटीएफ समाचार पत्र 15. 7 ठेके की गई।
  • यूपीपीसीएल का इल्‍प इल्‍क्‍ल 2018: इप्‍लाइक्‍ल इप्‍लाइक्‍स 12 लोगों एसटीएफ ने इक्‍प्‍लस किया है।
  • यूपीएसएसएससी की बातचीत की बातचीत 2018: एसटीएफ की जांच की बात। कोई जानकारी नहीं।
  • यूपीएसएसएससी की वेबसाइट का इलेक्‍शन 2018: एसटीएफ ने 11 लोगों को. 5.
  • यूपी आरक्षी निवासी पुलिस 2018: पुलिस और एसटीएफ 35 लोग। एसटीएफ ईमेल का बॉस और कोलकाता स्टेशन का सिपाही भी शामिल है।
  • यूपीएसएसएससी ने कक्षा 2021: पुलिस ने 4 लोगों को प्रदूषित किया।
  • यूपी टीईटी 2021: एसटीएफ ने 16 लोगों को प्रभावित किया।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here