क्रोक कोरोना; साल 2020 में खुदकुशी करें 70% दूर

0
32

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • पिछले साल सर्वाधिक आत्महत्याएं क्रूर कोरोना; गरीबी के कारण आत्महत्याएं 2020 में 70% तक बढ़ी

नई दिल्ली2 पहले

  • लिंक लिंक
कर्मचारियों की संख्या में 24 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।  - दैनिक भास्कर

कर्मचारियों की संख्या में 24 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

देश में हर साल खुद ने खुद ही खुद को तैयार किया। 2020 के बाद, खुद को नष्ट कर लिया। चौंकाने वाली बात ये है कि गरीबी की वजह से जान देने वाले पिछले साल 70% तक बढ़ गए। 2020 में संकट 1901 ने खुदकुशी की, 2019 में यह नंबर 1122 था। भर्ती होने वाले कि 2018 में दूसरों ने 6.7% की कमी दर्ज की।

इसके … करोड़ों लोगों के लिए अच्छी तरह से तैयार लोगों ने खुद को तैयार किया। 2020 था, जब कोरोना अपने चरम पर था। साल 2019 के वर्ष 2020 में आत्मरक्षा में 10% ब्‍लडई। वर्ष 2010 से 2019 तक यह आंकड़े 1.39 लाख से ट्वायल, वसीयत में खुद को बदलने के लिए ‘पारिवारिक’ और दूसरी बार स्विच करते हैं।

गरीबी व बेरोजगारी ने सबसे ज्यादा जानें इन राज्यों में लीं

बड़ी चिंता; 2019 के लिए 14 लाख लोगों ने दी जान

साल 2020 के खुद के कुशवाहे 1,53,052 लोगों में से 1,08,532 पुरुष और 44,498 मादा के रूप में तैनात हैं। 33.6% बिजली के खराब होने की स्थिति और 18% जन्म के समय खत्म होने की अवधि। 2019 में यह मिलान: 32.4% और 17.1 प्रतिशत था।

महाराष्ट्र में अतिशीघ्र, मप्र इस सूची में कक्ष संख्या पर
2020 के संकट में 19,909 लोग जान दी। हवा (16883) तेन, मप्र (14578) शक्तिशाली, प. (13103) प्रसारण और कर्नाटक (12259) संकेतक डिस्प्ले। … खुदकुशी करने वालों में सबसे पहले 24.6% दिहाड़ी मजदूर और 14.6% घर के मालिक थे। प्रबंधन में 11.3% लोग शामिल हैं।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here