HomeWorld Newsक्लाइमेट एक्टिविस्ट विरोध में रनवे पर बैठना और साइकिल साझेदारी, कहा- दुनिया...

क्लाइमेट एक्टिविस्ट विरोध में रनवे पर बैठना और साइकिल साझेदारी, कहा- दुनिया के 80 प्रतिशत लोग कभी प्लेन में नहीं बैठते | जलवायु परिवर्तन कार्यकर्ताओं द्वारा जर्मनी बर्लिन ब्रांडेनबर्ग हवाई अड्डे का विरोध

Date:

Related stories

महबूबा मुफ्ती का केंद्र को संदेश: कश्मीर का मसला हल नहीं किया, तो कितने भी आरोप लगाते हैं कोई नतीजा नहीं निकलेगा

हिंदी समाचारराष्ट्रीयजम्मू कश्मीर मुद्दे पर महबूबा मुफ्ती बनाम नरेंद्र...

बर्लिन6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
- Advertisement -
- Advertisement -

जर्मनी के ब्रैंडेनबर्ग एयरपोर्ट पर कलवार को क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रुप ने अनोखा प्रदर्शन किया। इसके चलते रनवे पर शाम तक लैंडिंग और टेकऑफ़ के सारे ऑपरेशन बंद पड़े रहते हैं। दरअसल जलवायु परिवर्तन की ओर ध्यान देने के लिए कुछ एक्टिविस्ट एयरपोर्ट के रनवे पर इलाके में घुस गए।

- Advertisement -

वे हवाई जहाजों के लिए साइकिल पर चलने के लिए बने और बैठ गए। इन तस्वीरों में 70 साल के एक बुजुर्ग भी शामिल हैं। हवाईअड्डे पर प्रदर्शन करने के लिए इन लोगों की मांग को रोकने के लिए हवाई जहाजों का इस्तेमाल बंद हो सकता है।

प्लान से स्टोर करने के खिलाफ ट्रैक पर एक्टिविस्ट का मानना ​​है कि इससे बहुत अधिक मात्रा में ग्रीन हाउस गैसों का पता चलता है।

प्लान से स्टोर करने के खिलाफ ट्रैक पर एक्टिविस्ट का मानना ​​है कि इससे बहुत अधिक मात्रा में ग्रीन हाउस गैसों का पता चलता है।

दुनिया के 80 प्रतिशत लोग कभी प्लेन में बैठकर नहीं बैठते

वीडियो में साफ तौर पर देखा जा रहा है कि कुछ लोग फेंसिंग को तोड़कर रनवे वाले इलाके में घुस रहे हैं। वहां बैठे और साइकिल भी चला रहे हैं। रनवे पर हुए इस प्रदर्शन के पीछे जर्मनी के क्लाइमेट चेंज एक्टिविस्ट ग्रुप ने अपना कंफर्मेशन दिया है। कहा, दुनिया की लगभग 80 आबादी ने कभी भी हवाई जहाज में यात्रा नहीं की है। दुनिया के कुछ गिने-चुने लोग ही इसका इस्तेमाल करते हैं। जो सबसे ज्यादा ग्रीन हाउस गैस मिशन के लिए जिम्मेदार है।

लंदन में ऑयल पेंटिंग्स के खिलाफ प्रदर्शन में विन्सेंट वैन गो की पेंटिंग्स पर टमैटो सूप फेंक दिया गया था।

लंदन में ऑयल पेंटिंग्स के खिलाफ प्रदर्शन में विन्सेंट वैन गो की पेंटिंग्स पर टमैटो सूप फेंक दिया गया था।

600 करोड़ की पेंटिंग पर भी टमटो सूप फेंका गया था

पूरे यूरोप में जलवायु परिवर्तन के कारण लोगों को कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इसके चलते वहां लगातार लोग तरह-तरह से प्रदर्शन कर रहे हैं। जर्मनी से पहले लंदन में भी प्रदर्शन का अजीब सा मामला सामने आया था। लंदन की राष्ट्रीय गैलरी में विन्सेंट वैन गो की पेंटिंग पर टमैटो सूप फेंक दिया गया। सन फ्लावर के नाम की इस पेंटिंग की कीमत 600 करोड़ रुपए है। 20 साल के एना हॉलैंड और 21 साल के फोबे पैलर ने क्लाइमेट चेंज के विरोध में ऐसा किया।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here