HomeWorld Newsक्लॉंड ने 3 महिलाओं समेत 12 लोगों पर चोरी और व्यभिचार के...

क्लॉंड ने 3 महिलाओं समेत 12 लोगों पर चोरी और व्यभिचार के आरोप में बजराए कोड किए | अफगानिस्तान फुटबॉल स्टेडियम; चोरी और व्यभिचार के आरोप में तालिबान ने 12 को सजा दी

Date:

Related stories

काबुल6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
- Advertisement -
- Advertisement -

अफगानिस्तान के फुटबॉल स्टेडियम में हजारों लोगों की भीड़ के सामने 12 लोगों को नैतिक फैक्ट्स के बारे में जानकारी दी गई। इन 12 लोगों में 3 महिलाएं भी शामिल हैं। तालेबंदी के अधिकारियों के मुताबिक इन लोगों पर चोरी, एडल्टरी और गे सेक्स के आरोप लगे। इस महीने में ऐसा दूसरी बार हुआ है जब तालेबंदी ने किसी अपराध के चलते लोगों को सार्वजनिक स्थान पर सजा दी हो।

- Advertisement -

पूर्वी अफ़ग़ानिस्तान के लोगार इलाके में हुई इस घटना पर ताले के पादकार उमर मंसूर ने बयान जारी किया है। उन्होंने बताया कि तीनों महिलाओं को सजा के बाद छोड़ दिया गया। कुछ पुरुषों को जेल भेज दिया गया है। हालांकि ये साफ नहीं है कि किटों को जेल हुई है। वहीं दूसरे काम करने वाले संगठन ने बताया कि सभी लिंक से 21 से 39 कोड मारे गए।

कोड़े खाते लोगों को देखने के लिए स्टेडियम में जुटी हजारों लोगों की भीड़

कोड़े खाते लोगों को देखने के लिए स्टेडियम में जुटी हजारों लोगों की भीड़

पिछले हफ्ते भी 19 लोगों को ऐसी सजा मिली थी

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार पिछले हफ्ते अफगानिस्तान के तखार प्रांतों से ऐसा ही मामला सामने आया था। इसमें 19 लोगों को सजा दी गई थी। नूरिस्तान प्रांत में एक महिला को म्यूजिक सुनने का चार्ज लगाया गया। इस तरह से सार्वजनिक जगहों पर सजा देने का वाग के सुप्रीम लीडर हिबुतुल्लाह अखुंदजादा के तत्काल बाद शुरू हुआ। ये सभी सजाएं शरिया कानून के अनुसार दी जा रही हैं।

लॉकडाउन के सत्ता में आने के बाद महिलाओं की आजादी पर कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं।  इनमें से एक संगीत सुनने पर पाबंदी भी है।

लॉकडाउन के सत्ता में आने के बाद महिलाओं की आजादी पर कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं। इनमें से एक संगीत सुनने पर पाबंदी भी है।

क्या है अफगानिस्तान का शरिया कानून

तालिबान ने अफगानिस्तान को ओवरटेक करने के बाद प्रेस कांफ्रेंस में इशारा कर दिया था कि देश के सभी मसलों पर शरिया कानून लागू होगा। खासकर शरिया इस्लाम को अतिसंवेदनशील लोगों के लिए एक लीगल सिस्टम की तरह है। जिसमें रोज की जिंदगी से लेकर कई तरह के बड़े मसलों पर कानून हैं। शादिया का जिक्र इस्लाम की पवित्र किताब कुरान के साथ-साथ पैगम्बर मुहम्मद के उपदेशों सल्बा और हदीस में भी है। इन कानूनों के दाखिल होने वाले आरोपों को सीधे भगवान के खिलाफ समझा जाता है। शरिया कानून में जीने का रास्ता बताया गया है।

शरिया कानून का उल्लंघन करने पर कड़ी सजा मिलती है

सभी मुस्लिम से उम्मीद की जाती है कि वो इन दायरों के होश से अपनी जिंदगी जी लेंगे। एक मुस्लिम के दैनिक जीवन के हर पहलू, यानी उसे कब क्या करना है और क्या नहीं करना है का रास्ता शरिया कानून है। शरिया में परिवार, वित्त और व्यवसाय से जुड़े कानून शामिल हैं। शराब का अंधाधुंध दवाईयों का इस्तेमाल या तस्करता यहां शरिया कानून के तहत सबसे बड़े पर्चे में से एक है। जब कोई शख्स इस कानून को तोड़ता है तो उसे ईश्वर के खिलाफ अपराध माना जाता है। यही कारण है कि यहां इन ग्रुप में कड़ी सजा के नियम हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here