ख़रकीद की किताब में बैन!: केंद्रीय मंत्री अरुण मेघवाल बोल- सोशल के हिसाब से, ये किताब, वर्ना पर चर्चा होगी

0
75

  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • एमपी
  • जबलपुर
  • हार रही है कांग्रेस की दो तरफा विचारधारा, देश में हो रही है सलमान खुर्शीद की किताब पर बैन

जबलपुर27 पहला

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद की किताब ‘सनराइज ओवर अयोध्या: नेशनहुड इन ऑवर टाइम्स’ पर विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है। देश में भी लग रहा है।

यह भी कहा गया है कि ये किताब समाज में वाजिब है। इस विषय पर चर्चा करेंगे। साहित्य इस किताब पर बैन फ़्री रात पर। मेघवाल को समाचार पत्र प्रकाशित किया गया था।

दोमुंही विचाराधारा की स्थिति स्थिर को डायलड
मेघवाल ने कहा कि हमेशा से दोमुंही विचार नियमित हैं। यह भी है। केंद्रीय मेघवाल ने कहा कि निष्क्रिय ख़ुर्शीद को सॉल खुर्शीद ने जो ठोंट टाइप किया है, वह निष्क्रिय की तरह असामान्य है। वे किसी भी प्रकार के साथ होने के साथ-साथ बदलते भी हैं।

आईएसआईएस और बोको हरम से परस्पर
सलीम ख़ुरशीद की किताब बता “द सैफ्रन संपर्क” में परिवर्तन की संगठन ISIS और बोको हरम से परस्पर। इस किताब को अच्छी तरह से तैयार किया गया है। घर के बाद के शब्द नरोत्तम मिश्रा किताब पर बैन की बात कह रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री श्री राम मेघ्वाल में अर्ग.

केंद्रीय मंत्री श्री राम मेघ्वाल में अर्ग.

नीलब परिवारवाद से आगे की सोच ही नहीं
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि “नील परिवारवाद के आगे सोच ही”। यह है। जैसे कि बड़े राज्य में जहां से ही, रायजी गांधी, इंदिरा गांधी, राहुल गांधी, राहुल गांधी जीतेंगे। लाइट ही नहीं। स्थिर से सामाजिक समाज को बांटने की कोशिश करें। यूपी 5 विधानसभा चुनाव से पहले “हिन्दू धर्म” ओरे “हिंदुत्व’ विषम परिस्थितियों में आने के लिए ऐसा करना होगा।

गोंड राजाशंकर शाह व कुंवर रघुनाथ शाह को उड़ने वाला था।  अब शहीद को विकसित किया गया है।

गोंड राजाशंकर शाह व कुंवर रघुनाथ शाह को उड़ने वाला था। अब शहीद को विकसित किया गया है।

शंकर शाक-रघुनाथ शाह और जन्‍मजात की घटना में वृद्धि हो रही है
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि स्वतंत्रता के प्रभाव के चलते 1857 के बाद भी ऐसा ही हुआ था। जो यादगार बने रहे। ऐसे में लिटरेचर को भी आगे बढ़ाया जाता है। गोंड राजा शंकर शाह और रघुनाथ शाह जैसे दूल्हे।

जब में साथ ही, हमारे प्रमुख नेताजी सुभाष चंद्र बोस की भी रक्षा करेंगे। जबलपुर में उनकी यादों से जुड़े स्थलों को नई पहचान दिलाएंगे। जन-जनजी को पता नहीं था, वह मिली थी।

इस तरह के 15 नवंबर विशेष
मेघवाल ने कहा कि सामाजिक संगठन के काम करने के लिए हम सत्ता में रहे हों या नहीं, हमेशा से उनकी आवाज उठाते रहे हैं। समाचार ने विशेष रूप से प्रकाशित किया है। ️ दूसरी️ दूसरी️️️ हमारे कोर एजेंडे में हैं।

सदस्य की किताब एमपी में बैन: गृह मंत्री नरोत्तम बोल- ‘सनरीजीस युवा’ से स्त्री कटुता; समाज प्रज्ञा ने कहा- नींद विक्षिप्तों की पार्टी

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here