HomeIndia Newsगिराए गए रेलवे ब्रिज ब्लास्ट मामले में बड़ा खुलासा: जमीन पर कब्जा...

गिराए गए रेलवे ब्रिज ब्लास्ट मामले में बड़ा खुलासा: जमीन पर कब्जा करने वाले एक-दूसरे के खिलाफ साजिश रची साजिश, नाबालिग समेत 4 को हिरासत में लिया

Date:

Related stories

कटल के बाद सैनिक का शव पेड़ पर लटकाया, लोगों से कहा- जनाजे में शामिल न हों | पाकिस्तान तालिबान | तालिबान...

पेशावर2 मिनट पहलेकॉपी लिंकपाकिस्तान सरकार और टीटीपी (तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान)...

एमसीडी चुनाव के नतीजे आज: 42 चुनाव पर वोटों की गिनती होगी, अर्ध सैनिक बलों की 20 कंपनियां

हिंदी समाचारराष्ट्रीयदिल्ली एमसीडी चुनाव के नतीजे आज आएंगे: 42...

अक्षर को मिल सकता है मौका; देखें दोनों टीमों की संभावित खेल-11 | भारत बनाम बांग्लादेश दूसरा वनडे लाइव स्कोर अपडेट विराट...

मीरपुर4 मिनट पहलेभारत-बांग्लादेश ऑस्ट्रेलिया सीरीज की दूसरी प्रतियोगिता बुधवार...

एशिया के सबसे बड़े दानवीरों में 3 भारतीय: फोर्ब्स की लिस्ट में अडानी टॉप, 60 हजार करोड़ रु. दान दिया

हिंदी समाचारराष्ट्रीयफोर्ब्स परोपकार सूची; फोर्ब्स एशिया हीरोज; ...

कांग्रेस की राजनीति: भारत जोड़ो यात्रा कोटा पहुंचें, कठपुतली नचा रहे हैं राहुल

एक मिनट पहलेकॉपी लिंककांग्रेस का राज तो ज्यादा राज्यों...

रायपुर2 घंटे पहले

- Advertisement -

गिराए गए रेलवे ब्रिज पर विस्फोट करने के मामले में एजेस ने गुरुवार को चौंकाने वाला खुलासा किया। रेलवे ट्रैक के लिए जमीन का समझौता हुआ। इस मामले में एक नाबालिग समेत 4 लोगों को हिरासत में लिया गया है। इसमें विस्फोटक विक्रेता भी शामिल है। पूछताछ में कई और अहम जानकारियां सामने आई हैं।

- Advertisement -

- Advertisement -

ए टीसीजेडी एडीजी अशोक राठौड़ ने गुरुवार शाम जयपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ब्लास्ट मामले से जुड़ी अहम जानकारी दी। उन्होंने कहा- धूलचंद मीणा (32), प्रकाश मीणा (18) और एक 17 साल का लड़का पकड़ा गया है। तिकड़ी तोड़ने वाले के जावर माइंस के एकलिंगपुरा के रहने वाले हैं। विस्फोटक विक्रेता कूट सुवाल्का को भी हिरासत में लिया गया है। कूट के पिता बिहारीलाल सुवालका की विस्फोटक विक्रेता की दुकान है। अभी तक की निगाहों में आशंका ने कहा है कि उनका उद्देश्य जानहानी नहीं था। डूंगरपुर में मिली हुई मिली-जुली जाली की इस घटना से कोई संबंध नहीं है।

ट्रेन के बाद विस्फोटक लगाया
एडीजी राठौड़ ने बताया कि पैकेजिंग से रेलगाड़ी में विस्फोट होने के बाद विस्फोट किया गया था। यह स्पष्ट है कि जनहानि की मंशा नहीं थी। विस्फोट लगाने के बाद तीनों बाइक से निकल गए थे। विस्फोट के लिए विस्फोटक धोले की पाटी इलाके में कूट सुवालका से लिया गया था। सिर्फ सरकारी सिस्टम का ध्यान आकर्षित करने के लिए साजिश रची गई थी।

सबसे बड़ी जीत में जीता है काम
ए-टी.एस.जी. एडीजी अशोक राठौर ने बताया कि मेन एक्सिस डस्टचंद हिंदुस्तान की जीत में पहला काम कर चुका है। उसे ब्लास्ट करने के बारे में थोड़ी-बहुत पहले से ही जानकारी थी। उसने अपने गांव में रहने वाले चचेरे भाइयों को इस योजना में शामिल किया। उसने दोनों भाइयों से कहा था कि इससे बिजली को नुकसान होगा। इसलिए दोनों इसकी बातों में आ गए।

दोस्ती और नौकरी से नाराज थे
1974-75 और 1980 में धूलचंद मीणा की जमीन रेलवे और हिंदुस्तान जीत ने अधिग्रहित की थी। इसके बाद उसे स्वतंत्र या नौकरी नहीं मिली। इसके लिए यह लगातार कई वर्षों से प्रयास कर रहा था। जब कोई मदद नहीं मिली तो एरर में ट्रैक डील का प्लान बनाया।

जानकारी के अनुसार 12 नवंबर शनिवार की रात करीब 11 बजे जागरण-अहमदाबाद रेलवे लाइन पर बने ट्रैक पर अज्ञात लोगों ने विस्फोट कर दिया। इससे ट्रैक्स में दरार आ गई है। डेमोसाइट पर भी मिला है। बदमाशों का षड्यंत्र पुल की तरह था। धमाके से चार घंटे पहले ही इस ट्रैक से ट्रेन गुजरी थी। घटना के बाद एनएमडीसी ने ट्रेन को डूंगरपुर में जाने से रोक दिया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 अक्टूबर को ही इस लाइन की शुरुआत की थी।

2 दिन से बढ़त में थे
पूछताछ में सामने आया कि तीनों युवकों की खुदाई-अहमदाबाद रेलवे लाइन के पास जा पहुंची थी। ट्रैक बनाने के लिए तीनों की जमीन का अधिग्रहण हुआ था। इस दौरान उनमें से भी कम मिला था। इसी के बाद से ये नाराज चल रहे थे। इसका बदला लेने के लिए तीनों ट्रैक योजना की साजिश रची। इस घटना के बाद तीन दशकों में मोबाइल बंद कर के सविना में पहलू थे।

स्थानीय लोगों की छाया से कई लोगों की जान बची थी जान
घटना से करीब 35 किलोमीटर दूर सलूम्बर मार्ग पर केवड़े की नाल में ओढ़ा रेलवे पुल की है। जहां पर शनिवार रात 10 बजे के आसपास धमाके की आवाज सुनाई दी। इसके बाद तुरंत सीधे ट्रैक पर पहुंचे। उन्होंने देखा कि रेलवे लाइन पर डायनामेट पड़ा है। पटरियां कई जगह टूट चुकी थीं। पुल पर लाइन से नट-बोल्ट भी मिसिंग माइल। ट्रैक पर आयरन की पतली शीट भी उखड़ी हुई है।

यह हालत देखकर लोगों ने सूचना रेलवे अधिकारियों को दी। इसके बाद ट्रैक पर यातायात रोक दिया गया। अगर उस ट्रैक पर कोई ट्रेन आती है तो कई लोगों की जान को खतरा हो सकता है।

इस घटना का एंगल नहीं मिला
पुलिस ने माइक्रोस्कोप को रिकॉर्ड करने के एकलिंगपुरा से पकड़ा है। क्लोजर ने 2 साल पहले भी रेलवे के अधिकारियों को ब्रिज पर अलर्ट की धमकी दी थी। ए-ट्जेज़जी की पूछताछ में सामने आया कि फिक्सिंग ने रेलवे लाइन में समझौते को लेकर भी आरटीआई के जरिए जानकारी फैलाई थी।

ट्रेन का संचालन होते ही शुरू होने की योजना है
डाटानेटर और वायरिंग आदि की जानकारी जुटाई गई थी। जब पीएम मोदी ने उसी दिन से रेल परिचालन शुरू किया था, तो एक-दूसरे के साथ डील करने की योजना बना रहे थे। क्लोजर ने पूछताछ में बताया कि धोल की पाटी एरिया से विस्फोटक भरा था।

खबर लगातार अपडेट की जा रही है

ये भी पढ़ें

ब्रेकर-अहमदाबाद रेलवे ट्रैक का आरोप: पुल पर डेटोनेटर से ब्लास्ट, पीएम मोदी ने 13 दिन पहले किया था उद्घाटन

गिरफ्तार से 30 किलोमीटर दूर सालूंबर रोड पर ओड़ा रेलवे ब्रिज पर डेटोनेटर से विस्फोट के मामले में दूसरे दिन सेंट्रल सीबीआई, एनआईए और एनएसजी की टीम दब गई। टीम के 4 अधिकारियों ने इलाके में पुलिस के साथ हर चीज गुप्त रूप से देखी। एनएसजी ने सुबह 10 बजे से 11:30 बजे तक ब्रिज के आस-पास एक भर से ज्यादा जगहों पर सबूत जाम किए। (पूरी खबर पढ़ें)

रेलवे ब्रिज विस्फोट की जांच एटीएस-एसओजी को सौंपी:एडीजी की गलती में आज होगी टीम, एनआईए, एनएसजी, आईबी की टीमें भी जाम करेंगी

बनाया रेलवे ब्रिज पर हुए विस्फोट की जांच एटीएस-एसओजी को दी गई है। सीएम अशोक गहलोत ने सोमवार शाम को हाईलेवल एक्टिवेट कर पूरे मामले की समीक्षा की। फिर राजस्थान एटीएस व नेटवर्किंग से जांच का फैसला किया गया। एटीएस के एडीजी अशोक राठौड़ की पार्टनरशिप में टीम आज जाकर जांच शुरू करेगी। (पूरी खबर पढ़ें)

राजस्थान में मिली विस्फोट का धौलपुर-अजमेर कनेक्शन

विधायक के ओढ़ा रेलवे ब्रिज पर विस्फोट के मामले में रोज चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। पिछले दिनों 186 किलो कनेक्शन राॅड ने सब को हैरानी में डाल दिया। जिस बिल्डिंग से वह निकला था, उसके अमल के हिसाब से इतनी बड़ी मात्रा में मिला धमाका का सामान करीब एक किलोमीटर तक नष्ट हो सकता है। पूरी खबर पढ़ें

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here