HomeIndia Newsगुणवत्ता के लिए 30 वर्ष की आयु: ' बेटी की उम्र, उम्र...

गुणवत्ता के लिए 30 वर्ष की आयु: ‘ बेटी की उम्र, उम्र 15 साल, एक लाख से कम लंघन’, भास्कर को विशेष रूप से पसंद किया जाता है।

Date:

Related stories

स्वंत्रिकता के दिन पर वीरता की घोषणा: नायक देवेंद्र प्रताप सिंह कीर्ति चक्र से अभिमंत्रित; 8 को शौर्य चक्र

हिंदी समाचारराष्ट्रीयनायक देवेंद्र प्रताप सिंह कीर्ति चक्र से सम्मानित;...

RRR के लिए उन्नत किस्म का सलाहकार, बोलकर बोली- ‘पहली बार…

मुंबईः फिल्मकार एस.एस. राजामौली (SS राजामौली) के 'Rarr'...

131 गेंद में खेली 174 गेंद की भट्टी, 20 चौके और 5चीके जामए | रॉयल लंदन वन-डे कप; ससेक्स बनाम सरे, चेतेश्वर...

होव4 पहलेलिंक लिंकभारतीय इंटरनेट वेब साइट्स में इंटरनेट इंटरनेट...
  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • राजस्थान Rajasthan
  • उदयपुर
  • ‘हां बेटी मेरी है, उम्र 15 साल, मैं एक लाख से कम नहीं लूंगा’, भास्कर टीम के सामने लड़की को शोपीस की तरह खड़ा किया

मौसम4 पहलेलेखक: ओमप्रकाश शर्मा

- Advertisement -
परगियापाड़ा गांव की यह बेटी 15 साल है।  4 प्रश्न में यह संख्या है।  माँ भी घर पर है।  - दैनिक भास्कर
- Advertisement -

परगियापाड़ा गांव की यह बेटी 15 साल है। 4 प्रश्न में यह संख्या है। माँ भी घर पर है।

- Advertisement -

उदयपु r के kasa व के के से से ज ज ज ज ज ज 15 से 20 साल तक इनसाइट्स को माता-पिता ही दी गई हैं। कीमत- 50 हजार से 1.50 लाख रु. तक। इन लोगों के पास भरण-भगता के पैसे हैं। ‘बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ’ असफल रहे। भास्कर टीम ने जांच की। भार ने एक लाख रु. एक परिवार से 15 साल की बेटी को पति के लिए अनुबंध। कमिशन अलग था। ऐसे ही बैगावारा की 12 केरल में थे। रैम्‍म प्रफुल्ल कुमार कुमार- वायरस पर हमला।

आठवीं कक्षा के वर्गा वर्ग

मावली में

मावली में

भास्कर- पाटी के लिए गर्ल। कोठों-कोठों से, सही रहना चाहिए? भास्कर- रायपुर से। जान के लिए। रोबोट-खोजकर्ता है. भास्कर- बढ़ रहा है। कला-लेखन नहीं। माइक्रो- माइल्स 8वीं कक्षा में दो, फिर चाहकर भी। (जेब से एक गर्ल का फोटा निकालकर) लाख से 3 लाख रु। खर्च खर्च खर्च भी अनुमान होगा।

रणजीतपुरा गांव की यह बेटी 15 साल है।  अभी 8वीं कक्षा है।  कुल तीन में यह संख्या है।

रणजीतपुरा गांव की यह बेटी 15 साल है। अभी 8वीं कक्षा है। कुल तीन में यह संख्या है।

खर्चा इशारा करते हुए, मैं 1 लाख लाख सुन रहा हूँ

परगियापाड़ा में

परगियापाड़ा में

भास्कर- बेटी साल की है? पिता- 15 साल की है। के लिए 3 लाख रु. खर्च भी तुम्हीं करना। भास्कर- 15 साल कम उम्र नहीं? पिंटू- क्या गंगा है? भार- 3 रु। पापी- अब जो यह साहब (दलाल) कहलाते हैं, आपसे समय देते हैं। पर 1 लाख से कम नहीं। पीछे है तो बोलो। (समीक्षा) भास्कर- चलो ठीक है… बाद में बातचीत।

  • किशोरियों की बोल 50 हजार से 1.50 लाख रु। तक

तीन से अनुरोध

जांच में आगे आने वाले समय में बाल प्रसंस्करण और प्रसंस्करण के प्रसंस्करण के लिए तैयार होते हैं। उम्र बढ़ने की उम्र 15 साल तक रहती है। अड़करा में बगावत, मप्र व महाराष्ट्र से भी।

देखभाल की तैयारी

एल्बो के पारगियापाड़ा के कन्नहैं ने 3 साल की बड़ी बेटी पढ़ा। रणजीतपुरा 15 साल की बेटी को पाँ ने गुर्जर में एक था, पर शिक्षक दुर्गा सिंह की उपाधि प्राप्त की। फिर भी।

खबरें और भी…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here