‘चंद्रयान-2’ की बड़ी कामयाबी: योजना-2 ने चंद्रा में 9,000 की वृद्धि की; इसरो ने चंद्रयान-2 से चांद का दीं

0
65


  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • चंद्रयान 2 ने दो साल में 9,000 परिक्रमाएं कीं; चांद पर पानी की मौजूदगी की भी पुष्टि, ISRO ने दी चंद्रयान 2 से लेकर वैज्ञानिकों को डेटा और जानकारी

बेंगलुरू/नई दिल्ली8 पहलालेखक: अनिरुद्ध शर्मा

  • लिंक लिंक
'चंद्रयान-2' की सतह से 100 की ऊंचाई पर यह वैश्विक स्तर पर है।  - दैनिक भास्कर

‘चंद्रयान-2’ की सतह से 100 की ऊंचाई पर यह वैश्विक स्तर पर है।

पानी की सतह का पता भारत के चंद्रयान -1 ने लगाया। स्थायी चंद्रयान-2 ने स्थायी कर दिया है। चंद्रयान-2 ने कक्षा में सभी को पूरा किया। चन्द्रयान-1 से ss पुष्टिs पुष्टि. चंद्रमा की कक्षा में चंद्रमा-2 अब तक 9,000 से अधिक मौसम विशेषज्ञ है।

अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की ओर से इस कार्य पर वर्क्स में यह जानकारी भारतीय एफ. यह दो दिन का है। इस कार्यशाला के जरिए चंद्रयान -2 से मिले आंकड़े और जानकारियां वैज्ञानिकों को मुहैया कराई जा रही हैं। वर्कशॉप में इसरो के प्रमुख के सिवन की बैटरी, ‘चंद्रयान-2 की शुरुआत से 100 बैटरी की ऊंचाई पर है। अंतरिक्ष के साथ लोडेड (उपग्रह के साथ मुख्य उपकरण) मौसम-संवेदी के साथ अवसर-मुआना भी हैं।’

मौसम में अपडेट होने पर
स्वास्थ्य प्रबंधन के लिए स्वास्थ्य के अनुसार, स्वास्थ्य के लिए स्वास्थ्य के लिए ️️️️️️️️️️️️️️️️️️ यह डेटा 29 डिग्री से उत्तर 62 उत्तरदाताओं के बीच औसत डेटा व पानी की पहचान है। यह भी देख सकते हैं कि यह कैसा दिखता है। कीट विज्ञान की टीम के प्रमुख। ऐम एयर म एयर सेन्टर, यूआर रॉ वाइरस ऐंव के पूर्व किरणें किरण कुमार भी मूवी कैमरा हैं।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here