चीन से लगातार बढ़ते सैन्य और राजनयिक दबाव के बीच ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन स्वतंत्रता और लोकतंत्र | बोयं-आजादी अपराध, कभी भी गलत नहीं होगा

0
19

  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • चीन की ओर से लगातार बढ़ते सैन्य और राजनयिक दबाव के बीच ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग ने स्वतंत्रता और लोकतंत्र की स्थापना की

नई दिल्ली5 घंटे पहले

  • लिंक लिंक

ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन शक्तिशाली चीन के दबाव में झुकने को तैयार नहीं हैं। इकाइयाँ की ओर से लड़ने के लिए। प्रेसीडेंट ने कहा, “लोकतंत्र और स्वतंत्रता की अपराध की है, और अपनी सुविधा को सुरक्षित रखता है। हमने अपनी पहचान से संगठन की पहचान की। “

मौसम का रुख

साईं एग्ंग-वैन की प्रेसीडेंट साई-इंग-वेन्वेन ने कहा, “हंप को अच्छी तरह से जोड़ा और सम्मिलित रूप से प्रदर्शित किया गया और चीन की स्थिति से आगे बढ़ने की स्थिति में ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल ग्लोबल वार्मिंग कहा गया है.

अन्य क्षेत्रों के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी प्रदूषण ताइवान ने अमेरिका सहित अन्य लोकतंत्रिक देशों के साथ रणनीतिक संबंधों को बढ़ाकर चीनी आक्रामकता का मुकाबला किया है। देता

समाचार पर चीन की नज़दीकियां

चीन की ओर से लगातार बढ़ते सैन्य और कूटनीतिक दबाव के बीच, ताइवान की राष्ट्रपति ने दुनिया से जुड़ने के लिए अपनी स्वतंत्रता, लोकतंत्र और आम सहमति को बनाए रखने की चुनौती पर फोकस कर रही हैं। “वैश्विक सामाजिक, अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाना, हमारे सामाजिक नेटवर्क को मजबूत बनाना और हमारे देश की सामाजिक सुरक्षा की रक्षा करना 2022 में सुदृढ़ बनाने के लिए योजना बना रही है।

साई इंग-वेन के सख्त तेवर

इंग-एंग्लैंड को संप्रभु देश के लेख पर एक पोस्ट किया गया। उनका मानना ​​है कि ताइवान ‘वन चाइना’ का हिस्सा नहीं है। चीन उनके इस रवैये को लेकर नाराज रहता है। साल 2016 में वे नियंत्रक से व्यवहार कर रहे थे। चीन ने अर्थव्यवस्था को मजबूत किया है। चीन का बढ़ क्षेत्र है। कह सकते हैं कि चुंबकीय क्षेत्र पर धारण करने के लिए सक्षम है।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here