HomeLife Style & Healthछठ पूजा 2022 अर्घ्य: छठ पूजा में आज डायते सूर्य को अर्घ्य,...

छठ पूजा 2022 अर्घ्य: छठ पूजा में आज डायते सूर्य को अर्घ्य, सूर्य सूर्य सूर्य मंत्र, मंत्र

Date:

Related stories

छठ पूजा 2022 संध्या अर्घ्य: छठ की छता पूरे देश में है। आज छठ पर्व का दूसरा दिन खरना है। मूवी व्रती मिठाइयाँ. मिष्ठान्न गुड की खीर और चावल खाने के बाद व्रत शुरू हो जाते हैं। 36 घंटे का निजला व्रत खरना के बाद शुरू हो रहा है। सूर्या को प्रथम अर्घ्य 30 अक्टूबर 2022 को।

- Advertisement -

इस दिन सूर्य के हानिकारक होने पर हानिकारक होते हैं। सूर्य के ठीक होने के लिए सही है और यदि आप समान हैं तो सूर्य के समान दिखाई देते हैं। सूर्य को प्रथम अर्घ्य विधि से बजे।

- Advertisement -

छठ पूजा 2022 सूर्य अर्घ्य मुहूर्त (छठ पूजा 2022 संध्या अर्घ्य मुहूर्त)

- Advertisement -

कार्तिक माह के शुक्ल के शुक्ल तिथि को रद्द करने की तिथि 30 वर्ष 2022 पर सूर्य को सूर्य को रद्द कर दिया गया है। फिर भी 31 अक्टूबर 2022 को सूर्याष्टा सूर्य प्रकोप

  • कार्तिक शुक्ल षष्ठी तिथि तिथि: 30 अक्टूबर 2022, 05:49 सुबह
  • कार्तिक शुक्ल षष्ठी तिथि समाप्त: 31 अक्टूबर 2022, दोपहर 03:27
  • सूर्योदय का समय – सुबह 06.35 (30 अक्टूबर 2022)
  • सूर्योस्त का समय– सायन 5:38 (30 ऑक्टोबर 2022)

छठ पूजा 2022 मुहूर्त

  • 03:53 – सुबह 05:44
  • अभिजित मुहूर्त- सुबह 11:48- सुबह 12:33
  • गोधूलि मुहूर्त – शाम 05:46 – शाम 06:11

छठ पूजा 2022 शुभ योग (छठ पूजा 2022 संध्या अर्घ्य शुभ योग)

‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍, मूवी दि‍व्‍य्‍व में सूर्य के ‍‍‍‍‍‍‍‍ सूर्य में सूर्य की पूजा से मान-सम्मान में वृद्धि, बल, बुद्धि, धन का प्राप्त प्राप्त होगा।

  • सूर्य योग – 30 ऑक्टोब 2022, 7.26 – 31 ऑक्टोबर 2022, 05.48
  • सर्वार्थ सिद्धि योग – सुबह 06.35 – सुबह 07.26 (30 अक्टूबर 2022)

छठ पूजा 2022 आयुर्विज्ञान सूर्य अर्घ्य विधि (छठ पूजा संध्या अर्घ्य विधि)

  • छठ kana के एक दिन दिन पहले पहले से से ही ही rasta में rasirत व rurुआत की की हो इस काल में पूजा करने के लिए सूर्य देव की पूजा करें।
  • व्रत का संकल्प बजे ये मंत्र बोलें – ‘ॐ अद्य अमुक गोत्रो अमुक नामाहं मम सर्व पापनक्षय कीटरोग्यार्थ श्री सूर्यनारायणदेवप्रसनाथार्थ श्री सूर्याष्टीव्रत करिष्ये’
  • दैत्य को शुक्ल पक्ष के लोग धोती हैं। भगवान शिव की पूजा करने के लिए सूर्य को अर्घ्य दें।
  • सूर्यास्त के समय नाश्ता करें या नाश्ता करें। फ़ीड के बीज और चावल से बने भुसबा, फिर, कोनी, सुथनी, शकरकंदी, लाल सिंदूर, केला, फ़ीड, पना, सुपारी, कैराव लिन, कपूर,, चंदन, लहसुन , संतरा, फल-फूल बैग से डॉलिया या सोप में लें।
  • अबबैंस के सूप में दीपक प्रवालित, जलाल के जलवाँ लाल चंदन, लाल पुष्प, अक्षत, गंगजाल डाल और पानी में सूर्य को सूर्य को. जलते समय पानी की धारा
  • सूर्य देव और छठी होंगे.

सूर्य को अर्घ्य के लिए मंत्र

  • ऊँ ऐही सूर्यदेव सहस्त्रंक्षो तेजो जगत् जगते। अनुकम्प्य माँ भक्त्य गृहणार्ध्य दीवकर:।।
  • ऊँ सूर्याय नम:, ऊँ आदित्याय नम:, ऊँ नमो भास्कराय नम:। अर्घ्य समर्पयामि।।

छठ पूजा 2022: छठ यानि सूर्य षष्ठी पर राशियाँ: ये उपाय, सूर्य के तेज दिखने वाला भाग्य भाग्य

अस्वीकरण: सार्वजनिक सूचनाओं और सूचनाओं पर आधारित है। ABPLive.com किसी भी प्रकार की जानकारी, जानकारी की जानकारी रखता है। किसी भी जानकारी या जानकारी के बारे में जान लें।

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here