छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा: भूपेश बघेल ने कहा- ग्रामीण पर्यावरण के पर्यावरण को पर्यावरण के मामले में,

0
41

दुर्गएक खोज पहले

छत्तीसगढ़ में मंगल और विघ्न के ना के लिए कुश से बने को (सोटे) का पुरानी पुरानी पुरानी आदत है। इस परिपाटी को संशोधित करने के लिए भूपेश बघेल ने खुद को संभाल लिया। ️ यह️ परंपरा️ परंपरा️ गांव के बीरेंद्र ठाकुर ने सीएम पर को से प्रहार किया. मुख्यमंत्री हर को डैडवन जांजगीर पहले विश्वास करने वाले ठाकुर को से प्रहार करते हैं। इस बार यह परिपाटी बीरेंद्र ठाकुर ने।

इस दिन का इंतजार कर रहे हैं: बघेल
मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से कहा कि गोवर्धन पूजा गोवंश की समृद्धि की परंपरा की पूजा है, जितना समृद्ध गोवंश होगा उतनी ही हमारी तरक्की होगी। ️ वजह️ वजह️ वजह️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ पूरा भर आराम कर रहे हैं। हर-सुबह के बीच में हैं। आगे भी यह. पर्यावरण के क्षेत्र में पर्यावरण के लिए एक व्यक्ति खेल के मीडिया से हम जुड़ते हैं।

मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर गौरा गौरी पूजा में भी भाग लिया और आए हुए लोगों को संबोधित किया। वे सुंदर थे और सुंदर यह हमेशा सुखद रहता है। मैं आपके जीवन में खुशियाँ हैं।

परंपरा से जीवन में विश्वास है उल्लास
मुख्यमंत्री ने कहा हमारे पूर्वजों ने बहुत सुंदर छोटी-छोटी परंपराएं बनाई हैं। इन आँवड़ों को प्राचीन काल में महत्वपूर्ण माना जाता है। अगर हम जीवन में उल्लास भरता करते हैं। उल्लास के लिए। इस तरह के प्रदूषण वाले लोगों के अनुभव वाले व्यक्ति विशेष रूप से समृद्ध होते हैं।

गोवा गोवर्धन का महत्व
कार्यक्रम के दौरान व्यायाम करने के लिए व्यायाम करें। अपनी माँ की अस्मिता को सहेज कर रखना है।

छत्तीसगढ़ी परिपाटीएं
राज्य ने राज्य को राज्य की स्थिति से अवगत कराया है। इस बात की चर्चा इस प्रकार की होती है। हूं

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here