छत्तीसगढ़ में कोरोना लाइव: एक दिन में 12,345 नए प्रकारों के मुकाबले 14,075 लोग ठीक हुए, मार्च के बाद पहली बार सुधरते दिखे हालात

0
269


  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • छत्तीसगढ
  • रायपुर
  • रायपुर भिलाई (छत्तीसगढ़) कोरोनावायरस के मामले; लॉकडाउन अपडेट | छत्तीसगढ़ कोरोना मामलों का जिला वार आज का समाचार; कोरबा दुर्ग बिलासपुर राजनांदगांव

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें Newslabz app

रायपुर7 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

छत्तीसगढ़ में कोरोना की संक्रमण दर अभी भी 28 से 30% बनी हुई है। रविवार को 42,652 टेस्ट किए गए, जिनमें से 12,345 नए रोगी मिले। राहत की बात यह रही कि एक दिन में 14,075 लोग कोरोना को माँ देकर ठीक हो गए। प्रदेश में अब 4 लाख 10 हजार 913 मरीज कोरोना को मां दे चुके हैं। इनमें से 90,000 से ज्यादा मरीज तो अप्रैल में ही ठीक हुए। 4 लाख से अधिक स्वस्थ हुए रोगियों में से 2.98 लाख से ज्यादा होम आइसोलेशन में इलाज से ठीक हुए हैं। 1.12 लाख से अधिक रोगी अस्पताल में इलाज के जरिए ठीक हुए हैं।

अकेले रायपुर में पिछले एक सप्ताह में 20 हजार से अधिक मरीज स्वस्थ हुए हैं। इस बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कलेक्टरों को अधिक संक्रमण वाले गांवों में एक-एक व्यक्ति का टेस्ट करने को कहा है। खदान और उद्योग वाले क्षेत्रों में भी सघन जांच अभियान चलेगा। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बजाजीय सीमाओं पर चेक पॉइंट बनाकर लोगों की जांच होगी। जरूरत पड़ने पर उन्हें क्वारेंटाइन या आइसालेट किया जाएगा। जिलाें को कहा गया है कि वे बीजज्यीय सीमाओं को सील कर दें।

रायपुर में लॉकडाउन अब 26 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है।  रायपुर संभाग में सबसे अधिक 46,217 सक्रिय रोगी हैं।

रायपुर में लॉकडाउन अब 26 अप्रैल तक बढ़ा दिया गया है। रायपुर संभाग में सबसे अधिक 46,217 सक्रिय रोगी हैं।

आज से रेमदेसीवीर की नई आपूर्ति
स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. कंपनियों ने 20 अप्रैल से सप्लाई करने कहा है, लेकिन सरकार की तरफ से उन्हें सोमवार से ही सप्लाई करने के लिए कहा गया है। एक बार में 20 हजार वायायल देने की सहमति दी गई है। ‘

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के अस्पतालों का भी उपयोग
सरकार ने कलेक्टरों को अपने जिलों में बिस्तर की संख्या बढ़ाने के लिए कहा है। सामान्य बिस्तर पर आक्सीजन की व्यवस्था करने और उन्हें आईसीयू में बदलने को भी कहा गया है। सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के अस्पतालों के 14 हजार बिस्तर का उपयोग करने के लिए भी कहा गया है। वर्तमान में ऐसी कंपनियों के अस्पतालों में 528 आईसीयू बेड, 4,865 आक्सीजन बेड और 14,433 जनरल बेड हैं।

दैनिक हो रही मौत अभी भी बहुत बड़ी चिंता का विषय है
प्रदेश में हर रोज हो रही 100 से अधिक मौतें बीमारी की भयावहता बढ़ा रही है। स्वास्थ्य सेवाओं की कठिनाई बढ़ रही हैं। रविवार को प्रदेशभर में 170 मरीजों की मौत बताई गई। शनिवार और शुक्रवार को 138-138 लोगों की मौत हुई। वहीं गुरुवार को 105 लोगों की जान चली गई। प्रदेशभर में अब तक 5,908 लोगों की जान जा चुकी है।

छत्तीसगढ़ में 23%, जबकि एमपी में 8.5% और यूपी में 17% की ही जाँच
छत्तीसगढ़ में कुल आबादी के लगभग 22.7% का कोरोना टेस्ट किया गया है। मध्यप्रदेश की आबादी 8.2 करोड़ है और वहां सिर्फ 70.2 लाख लोगों का टेस्ट हुआ है जबकि उत्तर प्रदेश में 22 करोड़ में से 3 करोड़ 80 लाख लोगों का टेस्ट हुआ है।

छत्तीसगढ़ में 2.62 करोड़ की आबादी में से अब तक 65.2 लाख लोगों का कोविड टेस्ट हो चुका है। ये 5 लाख 32 हजार 495 लोग पॉजिटिव पाए गए। 74% यानी 3 लाख 96 हजार 357 लोग ठीक हो चुके हैं। वर्तमान में प्रदेश में 1 लाख 30 हजार 400 एक्टिव केस हैं, यानी इनका इलाज चल रहा है। राज्य का एक्टिव केस रेट 24.5% है। रायपुर संभाग में सबसे अधिक 46,217 सक्रिय रोगी हैं। जबकि दुर्ग में 41,686, बिलासपुर में 29,031 सरगुजा में 9,529 और बस्तर संभाग में 3,884 मरीज हैं।

मृत्यु दर भी ज्यादा
स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि भाजपा शासित उत्तर प्रदेश में मृत्यु दर भी छत्तीसगढ़ के मुकाबले ज्यादा है। उत्तर प्रदेश में मृत्यु दर 1.20% है जबकि छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में मृत्यु दर 1.10% है। बता दें कि छत्तीसगढ़ में कुल पॉजिटिव मरीजों में से 5,738 लोगों ने जान गंवाई है। रायपुर संभाग में अब तक सबसे ज्यादा 2,249 लोगों की मौत हो चुकी है।

खबरें और भी हैं …



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here