HomeIndia Newsजयपुर में बदमाशों का एनकाउंटर: स्टूडेंट को किराए पर लिया था कमरा;...

जयपुर में बदमाशों का एनकाउंटर: स्टूडेंट को किराए पर लिया था कमरा; पुलिस ने देखा फायरिंग की, पैरों में लगी गोलियां

Date:

Related stories

फिर जहरीली हुई दिल्ली की हवा: रविवार को AQI 400 के पार रहा, कंस्ट्रक्शन पर बैन

हिंदी समाचारराष्ट्रीयदिल्ली AQI 400, वायु गुणवत्ता खराब होने पर...

रायपुर11 मिनट पहले

- Advertisement -

पंजाब के जुए राज हुड्डा किराए के कमरे को लेकर रायपुर में छिप गया था। रविवार को लेकर पुलिस की मदद से पंजाब की एजी टास्क टीम ने पकड़ा।

- Advertisement -

जयपुर में ठगी काटे जा रहे पंजाब के बदमाशों का पुलिस से गठजोड़ हुआ। दोनों तरफ से फायरिंग में बदमाशों के पैर में गोली लगी है। पुलिस गिरफ्तार कर अस्पताल में भर्ती जांच करती है। एनकाउंटर में दोपहर साढ़े बारह बजे रामनगरिया इलाके का ज्ञान विहार कॉलैनी हुआ।

- Advertisement -

वर्सल डीसीपी क्राइम सलेश चौधरी ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से अत्याचारी राज हुड्डा ने जयपुर में छुपाया था। पंजाब पुलिस को एक दिन पहले रविवार को रोते हुए जयपुर में होने की जानकारी मिली। आज सुबह ही पंजाब पुलिस के खिलाफ एंटी टास्क फोर्स (AGTF) ​​के डीएसपी विक्रम बराड़ ने स्थानीय पुलिस से शिकायत की। इस पर कमिश्नरेट स्पेशल टीम (CST)- एंटी टेरर स्क्वॉयड (ATS) की मदद से दोपहर 2.30 बजे बदमाश राज हुड्डा को पकड़ने के लिए उसके कमरे पर दबिश दी।

इस दौरान बदमाशों ने प्रयास किया, जिसे पंजाब पुलिस ने दर्ज किया। बदमाश ने पुलिस पर फायरिंग की। पंजाब पुलिस की जवाबी फायरिंग में युवकों ने पैर पर गोली मारी। अपराधी को पकड़कर पास के निजी अस्पताल में ले जाया गया। जहां से उसे एसएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया। एसएमएस के अतिरिक्त अधीक्षक राजेंद्र बागड़ी ने बताया- गोली से आर-पार हो गया है। इस दौरान उनके कई टिशु डैमेज हो चुके हैं। जिन्हें संचालित किया जाएगा।

रोजर हुड्डा के पैर में गोली लगी।  बदमाश बदमाशी में छिपा हुआ था।

रोजर हुड्डा के पैर में गोली लगी। बदमाश बदमाशी में छिपा हुआ था।

सीसीटीवी की आवाज सुनकर घरों में घुसे लोग
कॉलोनी में शूटिंग की आवाज सुनकर पहले लोग निकले, लेकिन पुलिस वाले पीछे से घरों में घुस गए। थोड़ी देर तो लोग समझ ही नहीं पाए कि क्या हो रहा है? लोगों ने बताया कि पुलिस बदमाशों को पकड़ने के लिए माइक पर भी भड़कती हुई आवाज देती है, लेकिन बदमाश नहीं मानते।

घायल बदमाश को पुलिस अस्पताल ले जाया गया।  बदमाश को एसएमएस हॉस्पिटल में विज्ञापन दिया गया है।

घायल बदमाश को पुलिस अस्पताल ले जाया गया। बदमाश को एसएमएस हॉस्पिटल में विज्ञापन दिया गया है।

छात्र को कमरे में किराए पर लिया गया था
अंधे राज हुड्डा ने अपने आप को एक शिक्षण संस्थान के छात्र के रूप में बताया था। उनके साथ दो छात्र और थे। मकान मालिक ने कहा कि वे छात्र हैं और पढ़ने के लिए यहां आए हैं। मकान मालिक ने अपना पुलिस सत्यापन सत्यापन नहीं किया और मकान किराए पर दे दिया। बदमाश के साथ हैप्पी और साहिल से भी पुलिस पूछताछ कर रही है।

वह घर जहां पर राज हुड्डा के कमरे पर किराए पर लेकर रहता था।

वह घर जहां पर राज हुड्डा के कमरे पर किराए पर लेकर रहता था।

सेंट्रल साइट और राजस्थान पुलिस के साथ ऑपरेशन
अपराधी के बाद रामजन खान बिल्कुल राज हुड्डा के पकड़े जाने की पुष्टि पंजाब पुलिस के डीजीपी गौरव यादव ने की। उन्होंने ट्वीट किया कि पंजाब पुलिस का एंटी टास्क फोर्स का राजस्थान पुलिस के साथ ऑपरेशन सफल रहा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि डेरा प्रेमी की हत्या में राज हुड्डा को पंच मारने के बाद पकड़ लिया गया है।

पंजाब फरीदकोट में 10 नवंबर को दिनदहाड़े डेरा प्रेमी प्रदीप सिंह की हत्या कर दी गई थी।

पंजाब फरीदकोट में 10 नवंबर को दिनदहाड़े डेरा प्रेमी प्रदीप सिंह की हत्या कर दी गई थी।

जानिए पंजाब पुलिस के लिए हुड्डा मोस्ट वांटेड क्यों था
रोहतक निवासी पंच राज हुड्डा का 2004 में जन्म हुआ था। 10 नवंबर को श्री गुरु ग्रंथ साहिब के बेअदबी मामले के बारे में डेरा प्रेमी प्रदीप सिंह की पंजाब के फरीदकोट में हत्या कर दी गई। प्रदीप को उस समय बनाया गया, जब वह अपना दायरा खोल रहा था। 2 मोटरसाइकिल सवार 5 बदमाशों ने उन पर कई नशा किया। इस हमले में गनमैन सहित तीन लोग घायल हो गए। इनके पास का एक शॉप भी शामिल था। उद्र, इस हत्याकांड का जिम्मेदार युवक गोल्डी बराड़ था। गोल्डी बराड़ पंजाबी सिंगर सिद्धू मौसेवाला के काटल का मास्टरमाइंड है।

डेरा प्रेमी प्रदीप सिंह पर 2 मोटरसाइकिल सवार 5 बदमाशों ने गोलियां भेजीं।

डेरा प्रेमी प्रदीप सिंह पर 2 मोटरसाइकिल सवार 5 बदमाशों ने गोलियां भेजीं।

बिना नंबर प्लेट की बाइक से आए थे, रेकी की थी
डेरा प्रेमी को मारने वाला बदमाश बिना नंबर की बाइक पर आए थे। पुलिस का कहना है कि जिस तरह से डेरा प्रेमी की हत्या की गई थी, उससे लगता है कि बदमाशों ने रेकी की थी। उन्हें पता चला था कि प्रदीप सुबह के समय डरावना होता है। साइट में बदमाश वहीं रैंसकर इंतजार करते हुए देखे गए। जैसे ही डेरा प्रेमी ने दुकान खोली तो उसकी गोलियों से हत्या कर दी गई।

बदमाश ने कहा था- बेअदबी का इंसाफ नहीं मिला, इसलिए हत्या की थी
सोशल मीडिया पोस्ट में गोल्डी बराड़ के नाम से दावा किया गया था कि उन्हें बेअदबी मामले में इंसाफ नहीं मिला, इसलिए ऐसा करना पड़ा। इस पोस्ट में गनमैन के घायल होने पर दुख व्यक्त किया गया। बेअदबी के तय की सुरक्षा देने पर सवाल तय किए गए थे। हालांकि, यह पोस्ट बराड़ ने की या किसी और ने, पंजाब पुलिस की साइबर सेल की जांच कर रही है।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here