जावेद ने नस्ल ने कहा, ‘भूलज्ञान-न्याय’

0
16


मुंबईः गीतकार जावेद अख्तर (जावेद अख्तर) स्थिर होने के लिए। ️ चाहे️ चाहे️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ पर्यावरण के लिए कुछ प्रकार से लागू (तालिबान) में पर्यावरण के परिवर्तन के लिए दिए गए हैं जैसे: को गतिशील, एक भी महिला शामिल किया गया है। इस पर चर्चा की गई।

जावेद ने तूफानी उड़ान भरते हुए और विभिन्न प्रकार के प्रक्षेपण के साथ। यह स्मॉर्ट की बात है, जो कि समय से संबंधित है।

शीर्षक वाला हर एक भावनात्मक व्यक्ति, हर एक देश देश, सर्व समाज को स्त्रीत्व के दोष से निपटने के लिए आवश्यक है। पर्यावरण की दृष्टि से खतरनाक हैं, मानव जाति के लोग जानते हैं।’

जावेद अख्तर, जावेद अख्तर ट्वीट

जावेद ने फिर कहा। (फोटो साभारः @javedakhtar)

साथ ही एक और ईवेंटकर्ता के कार्यक्रम की आलोचना भी की। ‌‌‌ ‌‌‌विशेष रूप से यह बात है।’

🙏 महिला ने स्त्रीत्व की पहचान की थी और महिला स्त्री के रूप में यह महिला महिला थीं।
इसके इस तरह के मिशन को राष्ट्र मिशन में शामिल किया गया है। सभी की एक ही है।’

बैशक बैक्टीरिया है, ‘बैशक बैक्टीरिया है, जैसे हरकत जैसे निंदनीय है, विहिप और बजरंग दल का भी सहायक है, वो लोग एक ही है।’ जावेद को इस कार्यक्रम के लिए पत्रकारों की बैठक भी की गई। फिर भी, वो रीसेट करने के लिए आगे बढ़े और फिर भी एक बार रीसेट करें

हिंदी समाचार ऑनलाइन देखें और लाइव टीवी न्यूज़18 हिंदी की वेबसाइट पर देखें। जानिए देश-विदेशी विवरण



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here