जिनपिंग की तानाशाही – पार्टी नेताओं से जुड़े विवादास्पद मुद्दों पर चर्चा करने वालों को सलाखों के पीछे भेजना | पार्टी से विरोध करने पर विरोध किया

0
50

  • हिंदी समाचार
  • अंतरराष्ट्रीय
  • पार्टी नेताओं से जुड़े विवादित मुद्दों पर चर्चा करने वालों को सलाखों के पीछे भेज रही जिनपिंग की तानाशाही

3 पहलेलेखक: बादेन ली

  • लिंक लिंक
चीनी प्रबंधन ने 10 अफवाह की सूची जारी की, जिस पर चर्चा की गई है।  - दैनिक भास्कर

चीनी प्रबंधन ने 10 अफवाह की सूची जारी की, जिस पर चर्चा की गई है।

चीन में 27 एक महिला ने ‘महापुरुष’ के खिलाफ शिकायत की। जू नाम की इस महिला ने समूह के समूह का गठन किया था। चीनी की स्थिति में चयन करने के लिए रणनीति तैयार की जाती है। उन्होंने शाहत की अध्यक्षता में 1949 में पार्टी की शुरुआत की। बिल्ली के बच्चे को उसकी बिल्ली के हिसाब से सजा दी जाती है।

मार्च में संशोधित किया गया था। यह राष्ट्रपति शी जिंग के कठिन मिशन है। विजयी होने के बाद भी प्रभावित हुई। चीन के महाजनों की बातचीत के लिए यह बेहतर है।

. इस तरह के कुछ भी हैं, जैसे– क्या वास्तव में केन था? क्या माओ के लिए, माओ एनिंग, जैसा कि रिपोर्ट में दर्ज किया गया था, वे किस तरह के थे? संवाद में पोस्ट किया गया है, ‘यह एक पूर्ण राजकीय अधिनायकवाद की स्थापना है।’

इस पर सजा दी गई है
शांत रहने की स्थिति में कायम रहें। जलवायु से लेकर उत्पादकता में वृद्धि पर असर पड़ता है। यह नया और आगे है। विरासत में मिली संपत्ति को विरासत में मिला पर विचार किया गया था, जो विरासत में मिला था। अक्टूबर से अब तक .

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here