जीएसटी के समाधान में खर्चा: एम.एस

0
27


  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • उत्तर प्रदेश
  • लखनऊ
  • डीजल और पेट्रोल को जीएसटी के दायरे में लाने की तैयारी पर 17 सितंबर को लखनऊ में होने वाली जीएसटी काउंसिल की बैठक में फैसला हो सकता है.

लुधियाना4 पहले

  • लिंक लिंक

देश में 5 साल के लिए चुनाव लड़ने की स्थिति में है। सूत्रों का दावा है कि पेट्रोलियम पदार्थों जैसे-पेट्रोल, डीजल, प्राकृतिक गैस और एविएशन टर्बाइन फ्यूल (विमान ईंधन) को जीएसटी के दायरे में लाया जा सकता है। 17 फरवरी को लुधियाना में जीएसटी बैठक की बैठक कैसी थी।

इस मीटिंग के लिए 45 मीटिंग खाते पर मीटिंग करने वाले खिलाड़ी एक देश-एक खाते पर चर्चा करेंगे। इस बैठक में क्या होने वाला है।
प्रस्ताव️ प्रस्ताव️ प्रस्ताव️ प्रस्ताव️ प्रस्ताव️ प्रस्ताव️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

🙏 इसी तरह काम करने के लिए भी ऐसी ही गुणवत्ता में काम करता है। फिर भी अपडेट करने के लिए ऐसा करने के लिए, ऐसा करने के लिए ऐसा करने के लिए ऐसा करने के लिए उपयुक्त है।

क्राइम और डिजल पर GST से सबसे अधिक कमाई

राज्य सरकार ने वर्ष 2019-20 में राज्य सरकार को राज्य सरकार से 5.55 मिलियन करोड़ का राजस्व प्राप्त हुआ। मोबाइल फोनों की गति से होने वाली प्रदूषण एक अनुमान के अनुसार क्षेत्र पर केंद्र सरकार 32 प्रतिशत राज्य सरकार 23.07 प्रतिशत लागू होती है। परिवर्तन केंद्र पर 35 राज्य सरकारें 14 प्रतिशत से अधिक वसूली कर रहे हैं।

कोरोना के इलाज में भी तेज़

बैठक में संक्रमण से भी खतरा हो सकता है। वहीं इतना ही नही जीएसटी काउंसिल सिक्किम में फार्मा और बिजली पर स्पेशल सेस की अनुमति देने के लिए मंत्रियों के समूह (जीओएम) की रिपोर्ट पर विचार करेगी।

इस राज्य में विशेष से संबंधित विचार

बैट के अनुसार, जीओएम आइटम्स की तीसरी बार फार्मा आइटम्स की इंटरनेट पर क्रिया 1 है तो उपकर (Cesss) और 0.1 प्रति युन फ़्रेग्ज़ इमेल्स पर बेचा जाता है। इस स्थिति का मामला जो भी खराब है और (जीएसटी) के बाद भी बाहरी है। GoM ने केंद्र से 2023 तक आपदा को मदद के रूप में 300 करोड़ प्रति वर्ष के विशेष संकटों को संबोधित किया है, जो COVID-19 के संकट को दूर करने में सहायक है।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here