HomeLife Style & Healthडेरी उत्पाद और इस फल का तालमेल दशा को दे सकता है

डेरी उत्पाद और इस फल का तालमेल दशा को दे सकता है

Date:

Related stories

अक्सर हम अपने घर में मुंह का जायका बढ़ाने के लिए मिल्क शेक बनाते हैं, इसमें कई तरह के फलों का इस्तेमाल होता है, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि ये जायका आपकी सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है।

- Advertisement -

- Advertisement -
- Advertisement -

स्वास्थ्य सुझाव: अक्सर दूध और दही के साथ हम सीजन को मिलाकर आंकड़े मिलाते हैं, इन्हें मिला कर शेक बनाना तो बड़ी ही आम सी बात है, लेकिन इससे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है, ऐसा विशेषज्ञों का कहना है। हेल्थ कोच डॉक्टर दिल जांगड़ा के अनुसार दूध और दही के साथ सावन में खाना मिलाकर आपकी सेहत को फायदा कम और नुकसान पहुंचाता है।

जानकार से जानिए कैसे नुकसान पहुंचता है

डॉक्टर डिंपल जांगड़ा ने इस बारे में विस्तार से बात करते हुए बताया कि जब आप दूध को नींबू के साथ खाते हैं तो यह नारा तोड़ना शुरू हो जाता है। ऐसे में अगर आप दूध और खट्टी चीज का सेवन एक साथ करते हैं तो आपके शरीर के अंदर भी यही प्रतिक्रिया होगी। इसी तरह बाकी और जंगल में उनके खुद के एंजाइम होते हैं, जैसे कि मैलिक एसिड, टार्टरिक एसिड, फ्यूमर एसिड, साइट्रिक एसिड, जो दूध दही सहित घरेलू उत्पाद जैसे छाछ, नाश्ते, कॉटेज पनीर में पाए जाने वाले लैक्टिक एसिड के साथ सही मेल नहीं खाते हैं ख़याल हैं।

समाचार रीलों


“>

डेरी उत्पादों और सारणियों की समग्रता से आंतों को नुकसान

डेरी उत्पादों के साथ वनों का संयोजन मानव स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है। ये आपकी आंत की परत को नष्ट कर देते हैं और आपके शरीर में बिना पचाए मेटाबॉलिक वेस्ट जमा हो जाता है, जिससे स्किन संबंधी बीमारियां हो सकती हैं। दही के साथ कुछ भी खाना सबसे आम बात है लेकिन आपको इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि दही के साथ कुछ चीजों का कॉम्बिनेशन आपकी सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है। जंगल की बात तो दही और साबूत में अलग-अलग एंजाइम होते हैं, क्योंकि वह पच नहीं पाते हैं उनमें से सेवन से परहेज करना चाहिए।

वैज्ञानिकों के अनुसार फल में विशेष के स्ट्राउरी अंगूर, संतरा आंवला को दूध या दही के साथ नहीं लेना चाहिए, ऐसा इसलिए क्योंकि इसके विपरीत अंतर और कई अन्य वैश्विक स्वास्थ्य संकट हो सकते हैं।

इन जंगल को दूध दही के साथ भूलकर भी नहीं जीत सकते

1.सेब में मैलिक एसिड, टार्टरिक एसिड और फ्यूमिक एसिड होता है, इसलिए दूध के साथ नहीं लिया जाता है।

2.खुबानी में मैलिक एसिड, टार्टरिक एसिड और साइट्रिक एसिड होता है, इसलिए दूध के साथ नहीं लिया जाता है।

3.चेरी में भी मैलिक एसिड, टार्टरिक एसिड होता है, इसलिए यह अकेला प्रबल होता है।

4. आम तौर पर साइट्रिक एसिड मैलिक एसिड और टार्टरिक एसिड होता है, यह अकेले भी प्रबल होता है।

ये भी पढ़ें

नीचे स्वास्थ्य उपकरण देखें-
अपने बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) की गणना करें

आयु कैलक्यूलेटर के माध्यम से आयु की गणना करें



Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here