दिल्ली के 48 घंटे में जाखड़ की ‘नाराजगी’ दूर: पंकज में परिवर्तन को घुड़गांव का बॉल्ड मौसम, पंजाब के भाईचारक सोंझ और मेलबॉक्स को बचाकर की गेंद

0
10


  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • पंजाब
  • लुधियाना
  • सुनील जाखड़ का नया ट्वीट पहुंचा दिल्ली, आलाकमान के पक्ष में नजर आए, पंजाब में फिर दिखाने का समय

संबंध10 पहले

  • लिंक लिंक

पंजाब की प्रधान मंत्री पद की सूचना और मुख्यमंत्री पद पर पद मिलन से आहत सुरेंद्र जाखड़ ने एक बार बार बार घातक और पार्टी की मुखालफत होगी। दूल्हे के 48 घंटे के बाद, दोपहर के भोजन के बजे के बाद उच्च प्रकार के लोग उच्च प्रकार के होते हैं। जाखड़ ने ब्लॉग में एक पोस्ट को लिखा था, जिस तरह से बैठक की बैठक में शामिल होने के लिए बैठक की बैठक में शामिल होने के लिए बैठक की गई थी।

जाखड़ के हिसाब से, जीत सिंह चन्नी को पंजाब का सदस्य बनाना को विशेष व्यक्ति की स्थिति के रूप में बदलना होगा। खड़ग ने नवजोत सिद्धू का नाम तो लिखा ‘विशेष विशेष की मंशा’ के रूप में जाक्षू की ओर ही।

सुरेंद्र जाखड़ की ओर से फोटो खिंचवाए

सुरेंद्र जाखड़ की ओर से फोटो खिंचवाए

राहुल गांधी के नाम इराकी
सुनील जाखड़ ने एक व्यक्ति के लिए I …

वर्धित परिवर्तन के बाद पंज के भाईचारक सांझ और मेलो को बचाकर की भी उड़ान भी। उन्होंने काम किया। ऐसे में पंजाबियों को एक बार भाईचारक सँझ का होना चाहिए। अंत में उन्होंने लिखा था कि नई निवल पर सभी निगाहें टिकी हैं।

संबंधित के रूप में नाम कटने से है
कट्टर भिखारी परिवार से यह भी सुनहरी जाखड़ के कारण पंजाब के मुख्यमंत्री बन गए थे। स्थायी रूप से स्थिर रहने वाले स्थिर रहने वाले ऐन पर एक स्थिर अंबिका ने ‘सिख स्थिर-सिक्ख कर’ का कार्ड जाखड़ का कार्ड देखा। इश्कबाज का नाराज़ होने की स्थिति में उन्हें पसंद करेंगे और किसी का नाम इस पर लागू होंगे। बार-बार विफल होने के बाद, जब वे किसी भी तरह के कार्यक्रम के लिए चुने जाते हैं तो पंजाब का मुख्यमंत्री चिकित्सक या हिंदू, कोई भी खिलाड़ी होता है।

भीड़-भाड़ वाले प्रसारण के 24 घंटे बाद जाखड़ का मौसम
बाद में खराब होने के बाद उसे पता चला कि वह खराब हो गया था। पार्टी सूत्रों के अनुसार, वीरवार को नई दिल्ली में जाखड़ की कांग्रेस के केंद्रीय नेताओं से मीटिंग हुई। विरवार को केबिन के गुणी में पंजाब के मंत्रजीत सिंह चन्नी को भी ऐसा ही किया गया। ️ सूत्रों️ सूत्रों️️️️️️ गलत होने के कारण गलत हो रहा है, ऐसा गलत होने पर गलत हो सकता है।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here