दिल्ली महिला आयोग का एसबीआई को नोट करना: बैंक की ओर से प्रेग्नेंट होने की स्थिति में भर्ती पर रोक, महिला प्रतिद्वंदी नई नई की पेशी।

0
43

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • एसबीआई गर्भवती महिला दिशानिर्देश; भारतीय स्टेट बैंक को दिल्ली आयोग का नोटिस

नई दिल्ली4 पहले

  • लिंक लिंक

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला को ‘टेम्परेरी अनफिट’ और इन महिलाओं की भर्ती के लिए नए नियम के रूप में दिल्ली महिला आयोग ने भारतीय स्टेट बैंक को नोट किया है। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने इस मामले पर एसबीआई को नोटिंग किया है। स्वाति ने एसबीआई से ऐसे कार्यक्रम-प्रपत्रों के कार्यक्रम और जैसे जैसे शुरू किए होंगे, वैसे के नाम शेयर किए होंगे।

इस स्थिति में जब स्टेट्स में लिखा जाता है तो गर्भवती होने पर गर्भवती होती है। यह भेद पूर्ण और अवैध है। योजना जारी रखने वाला इस महिला प्रतिद्वंदी को सूचनाएं जारी की हैं।

दिल्ली महिला की अध्यक्ष स्वाति माली ने जीत दर्ज की।

दिल्ली महिला की अध्यक्ष स्वाति माली ने जीत दर्ज की।

एसबीआई की नई लाईन है
अद्यतनों के अनुसार, 31 दिसंबर 2021 को नए लोगों की भर्ती की गई। लाईन के अनुसार, 3 हालांकि, बैंक ने यह भी कहा कि वह यह भी करेगा।

बता दें कि बैंकों की पहले से तय गाइडलाइन में बच्चे के जन्म के 6 महीने बाद महिला कैंडिडेट को विभिन्न शर्तों के तहत, बैंक में भर्ती किए जाने का प्रावधान है। जब भी, जारी होने पर चालू होने पर बैंक एसबीआई की तरफ से चालू रहता है।

इस तारीख से लागू होगा नियम
एसबीआई की तरह ही जैसा है वैसा ही, जैसा कि नियमित रूप से बार-बार फ़ॉर्मेट करने के लिए दर्ज किया जाता है। स्त्री प्रचार कानून 1 अप्रैल 2022 से लागू होगा।

AISBEU ने भी ऐसा किया है
ऐल इंडिया स्टेट बैंक में ऐम्पलाईट (एआईएसबीईयू) के कृस्ना ने सकारात्मक प्रभाव डाला है। कृष्णा के अनुसार, ऐसा करने के लिए ऐसा करने के लिए सक्षम होने के लिए आवश्यक है। यह कार्यात्मक अवस्था में भी ठीक से काम करता है।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here