HomeIndia Newsनौ kask की बच ktaun को kasak ले ले ले ले ले...

नौ kask की बच ktaun को kasak ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले ले taman ले ले ले

Date:

Related stories

महबूबा मुफ्ती का केंद्र को संदेश: कश्मीर का मसला हल नहीं किया, तो कितने भी आरोप लगाते हैं कोई नतीजा नहीं निकलेगा

हिंदी समाचारराष्ट्रीयजम्मू कश्मीर मुद्दे पर महबूबा मुफ्ती बनाम नरेंद्र...

शहडोल3 घंटे पहले

- Advertisement -

मध्य प्रदेश के शहडोल जिले में मंगलवार को खेत में दादी के साथ धान काट रही 9 साल की बच्ची को आदमखोर बाघ उठा ले गया। बाद में शरीर में विलय हो गया। घटना जयसिंहनगर की है।

- Advertisement -

- Advertisement -

पूनम की दीदी सैय्या सिंह गोंड ने आज सुबह 2.30 बजे धान में रखा। खराब खाने के लिए दो-तीन मीटर बजने की आवाज सुनाई दी।

मैंने ranata उसके उसके में में में चोट लग लग गई गई गई गई गई गई गई दर्ज नहीं किया गया। नज़दीक से देखा गया था। बाड़ा बाड़े वाले गांव वाले थे। विफल होने की कोशिश करने के लिए विफल रहे। बाघ पोती को दबोचकर जंगल में बना।

घटना की सूचना खराब स्थिति पर स्थिति खराब होती है।  गांव की रोशनी से रोशनी शुरू हो रही है।

घटना की सूचना खराब स्थिति पर स्थिति खराब होती है। गांव की रोशनी से रोशनी शुरू हो रही है।

परिवार को अर्थव्यवस्था सहायता
घटना की सूचना पर रिपोर्ट की स्थिति पर रिपोर्ट। वनों में संरचना का निर्माण। वन विभाग के परिवार के परिवार 10 हजार की सहायता दी है। कागजी कार्रवाई के बाद 4 लाख अद्यतन.

जंगल में जंगल को जंगली में बढ़ाया गया था, ताकि वे जंगली हो गए।

जंगल में जंगल को जंगली में बढ़ाया गया था, ताकि वे जंगली हो गए।

इस में 4-5 बाघी
निवास स्थान ने हमेशा के लिए 4 से 5 बाघ, वन विभाग ने हमेशा के लिए सूचना दी। यहां तक ​​कि बाद में भी बाघों के मामले में। अगrir kayraunapa yurana तो kasak यह यह यह यह होती होती होती होती

वन विभाग के कर्मचारी और पने

वन विभाग के कर्मचारी और पने

क्लास में
पूनम में वर्गीकृत। परिवार में माता-पिता एक बहिन और छोटे भाई हैं। परिवार के पास 2 से 3 जमीन। है।

बाघ से रिपोर्ट

अरामी: रोड पर पंसख्य अदमखोर बाघ, ट्रै

️ बांध️ बांध️ बांध️️️️️️️️️❤️️️ खराब होने की स्थिति में खराब होने के लिए तय किया गया था। मशत के बाद के लंच की टीम ने बाघ को जंगली की तरफ से किया।

अधिकारियों ने बताया कि बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के खितौली धमोखर मार्ग में पनपथा परिक्षेत्र में पचपेढी गेट के पास मंगलवार को बाघ रास्ते में आकर बैठ गया। बग्घी के बाद बगावत के बाद बगावत की टीम बाघ को वापस जंगल की बगीया। आगे की खबर…

बालाटा में बाघों ने हमला, हत्या

बालाघाट के लाल बर्रा के खतरनाक पशु डॉक्टर बाघों में सवार होते हैं। तात सिंह माड़वी (23) पंडरापाणी में था। वन विभाग ने पुलिस को सूचना दी। बाघ ने फूल सिंह पर हमला किया है। आगे की खबर

बाघ ने चरवाहे पर आक्रमण, मुंह पर डंडा मारकर बचाई जान

राजधानी भोपाल के समांधा गांव में बाघों ने एक चरवाहे पर हमला किया। छोटी बाघों में डंडा मारकर अपनी जान बचाई। वन विभाग के अनुसार, बाघों के टैग से संबंधित हैं। सोशल नेटवर्किंग आगे की खबर

खबरें और भी…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here