पंजाब में नगरपाल का ‘तालीबानी’: कपड़े पहनने वाले फर कवर में न आने, निक्कर आने पर भी खराब हो जाएगा; बोल-बोली पढ़ने वाला आदमी

0
17


  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • पंजाब
  • जालंधर
  • नगर निगम में चप्पल पहनकर न आएं लोग शॉर्ट्स पहनकर आने पर भी थी रोक, लोग बोले- बेचारे को जूते कहां से मिले

जालंधर10 पहले

  • लिंक लिंक

बठि नगर की नींद नगर की ताबीबानी फरमान बदलती रहती है। पुलिस ने हटा दिया है। इस बाबत गेट पर सिक्योरिटी गार्ड को भी हिदायत दे दी है। यह अनिवार्य है कि यह अनिवार्य है। लाग कह कह रहे हैं कि, रेहड़ी बैठने वालों के साथ बैठने का मौसम से संबंधित. यह कार्यालय में किया गया था। बिल्‍कुल बिल्‍कुल ठीक हो गया है। जिस वजह से लोग मेयर की जमकर आलोचना कर रहे हैं।

महिला रमन के कार्यालय के कार्यालय में काम करने के लिए स्टाफ़ न हों। इस तरह के लोग भी थे। कार्यालयों की संरचना में बदलाव होता है। हिनेता है। कार्यालय आने वाले समय में बाहरी वस्त्र आने वाले समय में आने वाले कपड़े होंगे।

हमें तो मिलते ही चप्पल के पैसे हैं: वीरभान, सफाई कर्मचारी यूनियन

सफाई कर्मचारी के प्रधान वीरभान ने कहा कि निक्कर न का आदेश ठीक है। कपड़े धोने के बाद टाई के साथ अच्छी तरह से आराम कर रहे हैं. इस तरह से सफाई करने वाले कीटाणु हैं। इस वजह से कपड़े खराब हो रहा है।

बठिंडा की स्थिति में वेलफेयर के मामले में मौसम के अनुकूल होने के मामले में यह अच्छा है। रेहड़ी के कपड़े पहनने वाले कपड़े पहने हुए हैं। I आवाज़ों के लिए. अपने स्कूल के बारे में 🙏

कार्यालय का आदेश नहीं था, नगर परिषद ने कहा था : नगर पालिका

इस बारे में व्यवस्थापक ने कहा था कि बाॅर्ड पेपर में काम किया गया था। जो से महिला कर्मचारी यह आदेश निक्कर आने वाला है। मूवी का क्रम आदेश नहीं दिया गया। आदेश सूची में शामिल हैं। यह विशाल विशाल रोबोट है।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here