HomeIndia Newsफारूक अब्दुल्ला के बड़े बयान: बोले- राम सबके हैं, केवल हिंदू धर्म...

फारूक अब्दुल्ला के बड़े बयान: बोले- राम सबके हैं, केवल हिंदू धर्म के नहीं; कोई भी मजहब बुरा नहीं होता, इंसान भ्रष्ट होता है

Date:

Related stories

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • फारूक अब्दुल्ला भगवान राम टिप्पणी; धार्मिक समानता पर भाजपा पर पूर्व जेके सीएम

ह/श्रीनगर2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
- Advertisement -
- Advertisement -

जम्मू और कश्मीर के पूर्व सांसद और नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने भगवान राम को लेकर बड़ी बयानबाजी की है। उन्होंने कहा कि भगवान राम सबके हैं, केवल हिंदू धर्म के लोग नहीं हैं। फारूक शनिवार को अखनूर में एक फैक्ट्री के उद्घाटन कार्यक्रम में पहुंचे।

- Advertisement -

फारूक ने कहा- कोई भी मजहब बुरा नहीं होता। मनुष्य भ्रष्ट होता है। बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा- वे चुनाव के दौरान ‘हिंदू खतरों में हैं’ का भरपूर इस्तेमाल करेंगे, लेकिन मैं आपका इंतजार करता हूं कि आप इसके झांसे में नहीं हैं।

उन्होंने कहा- हमें यहां 50,000 नौकरी का वादा किया था, वे कहां हैं? हमारे डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ और हमारे बच्चे सभी विकार हैं। यह एक राज्यपाल द्वारा नहीं किया जा सकता है, आप उसे जवाब नहीं दे सकते। यहां चुनाव करवाना जरूरी है।

उन्होंने 1947 का जिक्र करते हुए शेख ने कहा कि साल 1947 में कश्मीर के कबाइलियों ने हमला किया तो जिन्ना ने अपने पिता अब्दुल्ला को हाई-कश्मीर को पाकिस्तान में मिलाने के लिए कहा था, लेकिन उन्होंने साफ मना कर दिया और भारत को चुना था। फारूक ने कहा- हमें इसकी खुशी है क्योंकि वर्तमान में पाकिस्तान में स्थिति काफी खराब है। वहां के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को गोली मारी गई। आम लोगों के हाथों की बजाय सेना के हाथ में सत्ता है, जबकि भारत में आम लोगों के हाथ में ताकत है।

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में लोकतंत्र की सरकार नहीं है। इसके कारण लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। जम्मू कश्मीर में जल्द ही चुनाव होने चाहिए, ताकि लोगों के अपने विधायक मिले, जो उनकी मुश्किलों को हल करें। इस दौरान उन्होंने जम्मू-कश्मीर को राज्य का स्तर वापस देने की मांग भी की। फारूक ने कहा- जम्मू कश्मीर और मैसेज फिर से एक होगा और जम्मू-कश्मीर फिर से स्टेट बना।

फारूक ने नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे दिया
फारूक अब्दुल्ला ने दो दिन पहले नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने ट्वीट कर कहा- अब आ रहा है कि पार्टी की कमान अब युवाओं की अगली पीढ़ी को सौंप दी जाएगी। नेशनल कॉन्फ्रेंस का कोई भी नेता राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव लड़ सकता है। हमारी पार्टी में लोकतंत्र में जबरदस्ती है। राष्ट्रपति का चुनाव अब पांच दिसंबर को होगा। संभव है कि फारूक के बेटे उमर अब्दुल्ला पार्टी के नए अध्यक्ष बन सकते हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here