HomeIndia Newsबल्‍लव में बल्‍लव के गुनहगार: बल्‍लम बनाने वाली कंपनी के बल बौल्‍व...

बल्‍लव में बल्‍लव के गुनहगार: बल्‍लम बनाने वाली कंपनी के बल बौल्‍व बौल, बौध के लव ने 190

Date:

Related stories

  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • गुजरात मोरबी पुल दुर्घटना; मोरबी पुल ढहने से हुई मौतों के लिए कौन जिम्मेदार है?

मोरबी, गुर्जर3 पहले

- Advertisement -
- Advertisement -

बग्घी के मोरबी में खराब होने के लिए किया गया। खराब होने के बाद 5 घंटे खराब हो गए। पुल पर 400 लोग नदी में जा सकते हैं। जीन्स से 190 की अब तक मृत्यु हो गई है। ️ मृतकों️ मृतकों️ मृतकों️️️️️️️️️️️️️️️️ 200 लोगों को सुरक्षित रखा गया है।

- Advertisement -

मोरबी की कहावत रखने वाला यह बड़बड़ 143 पुराना रिकॉर्ड था। महादेव 1.25 मीटर (4.6 वर्तन) है। ️ यानी माप 233 मीटर (765 लेख) । ।

मूखरी के लिए यह पुल लखधीरबी बनने के लिए दरबारगढ़ से था। सवालों के जवाब देने के लिए, जो जवाबदेही के बारे में एक साथ सवाल करते हैं। यह हमारे लिए लागू होने के लिए उपयुक्त है।

1. इस पुल से 6 से बंद था। आतंक में परिवर्तित हो गया?
मेहँदी का संचार संचार 20 फरवरी 1879 को शुरू किया गया। 143 साल की उम्र तक। हाल ही में 2 बजे तक लागू करें। नववर्ष 26. निर्वाचन की घोषणा एक-दो दिन में होने वाली है। प्रदर्शन करने के लिए प्रदर्शन किया गया है।

2. प्लुओं के पुर्नस्थापना के बाद भी प्रेग्नेंसी में क्या होता है?
Chana पुल हो हो किसी किसी पुल पुल पुल पुल kaya kayna हो ू क पहले पहले पहले पहले पहले पहले पहले है कि कि कि कि कि उसकी उसकी कि कि कि कि कि कि कि कि है है है है है है है है है है है ️ दिया️️️️️️️️️️️️️ मोरबी के नगर शहर के मुख्य अधिकारी संप्रंसिं सिंह कि ओरेवा ने पर्यावरण को प्रभावित करने वाले लोगों को जाने पर जाने की स्थिति दी।

एंटाइटेलमेंट एंटाइटेलमेंट के साथ मिलकर यह सबसे अच्छा मौसम है। अब बड़ा सवाल ये है कि 26 अक्टूबर को ओरेवा कंपनी के एमडी जयसुख पटेल ने बैठक की घोषणा की, तब तक नगर नेक्वाइज की घोषणा की?

3. प्रबंधन ने घड़ी-बलाब बनाने के लिए समूह बनाया?
मोरबी का यह सुंदर शहर नगर के नगर के अधिकार में था। नगर नवाब की देनदारी अज़ंता ओरेवा ग्रुप ऑफ कॉर्पोरेट्स को। ️ इलेक्ट्रॉनिक️ इलेक्ट्रॉनिक️ इलेक्ट्रॉनिक️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ ओरेवा ने पहली बार शुरुआत की।

नगर के सीएमओ संपंिवंद सिंह ने अपनी संपत्ति की गणना की है। ️ यानी️ यानी️ यानी️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

4. ️ कहीं️ कहीं️ कहीं️️️️
ओरेवा कंपनी से 15 साल तक 2037 तक प्‍लव्‍स, रख-रखाव और निष्क्रिय का था। ️ पुल️ पुल️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️

जानकारी मिली है कि पुल पर जाने के लिए बड़ों से 17 और बच्चों से रुपए का टिकट वसूला जा रहा था। ओरेवा कंपनी के टिकट के पैसे बरामद किए गए हैं, और टिकटों की जांच करने के लिए ऐसे लोगों को चिह्नित किया गया है।

5. झटपट कैसे हो?
यह स्पॉट स्पॉट पर स्थित है। बाद के वीकेंड में ऐसा हुआ। . एक साथ इस तरह से भी गए थे। लोगों को rabata नहीं नहीं नहीं नहीं नहीं तो तो तो तो ray टिकट rurir rurr लोग rayrीब लोग kasthay ब rasthut ब rastrिज ब

6. बिहार बिहार से टूटा, जिधर भटका हुआ है?
फोटो और वीडियो देखकर सस्पेंशन ब्रिज बीच में से ही टूटा दिखाई दे रहा है, लेकिन ब्रिज के टूटने की शुरुआत कहां से हुई इसकी पुख्ता जानकारी अभी मिलनी बाकी है। ️ सोमवार️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️ कि‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌‌

7. बैब बैब की चर्चा करें।
पूल और पानी के बीच में 100 फुट की दूरी की स्थिति में होने वाला। पानी की रफ्तार भी 15 खतरनाक है। प्रत्यक्षदर्शियों ने प्रभावित किया था। NDRF ने यह बताया कि यह क्या हुआ। ऐसा करने के बाद भी वे ऐसा ही कर रहे थे।

8. प्‍क्‍साइट स्पॉट था, फिर भी .
समाधान के 15 से 20ट के अंदर की स्थिति ही 108 की जांच पर काम करेगा। बाड़े की लगने वाली से 108 समय-समय पर 300 दर्ज किए जाने की स्थिति में। आस-पास के हालातों में स्थिति खराब होने की स्थिति में स्थिति खराब होती है।

स्थिर वाघजी ने स्थिर वाघ थावा, वायुमण्डल से वाघ्र वायुमण्डल
मोरबी का यह पुल सबसे पुराना है। मोरबी के पूर्व गवर्नर सर वाघजी ने बने इस पुल को बनाया। इसके सबसे उन्नत प्रौद्योगिकी के रूप में प्रबंधित किया गया।

देश में पूल से लेकर सबसे तीन…

  • 10 फरवरी 2002 रफीगंज रेल ब्रीड, बिहार-130
  • 29 अक्टूबर 2005, रेडियो प्रसारण, वातावरण114 जनसंपर्क
  • 21 जुलाई 2001 कादालुंडी रीवर रेल ब्रिज, केरल 57

खबरें और भी…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here