बहुत अलग है ये कठपुतली – शरणार्थियों का दर्द बयां करने दुनिया के दौरे पर ‘अमन’ | दुनिया की सैर के लिए ‘अमाल’, 8 हजार की दूरी पर थे

0
70

लंदनकुछ समय पहले

  • लिंक लिंक
वायु संचार प्रणाली ने जिस प्रकार से प्रक्षेपित किया गया है वह प्रक्षेपित किया गया है।  - दैनिक भास्कर

वायु संचार प्रणाली ने जिस प्रकार से प्रक्षेपित किया गया है वह प्रक्षेपित किया गया है।

अमाल नाम का पेपेत विदेशी जमा हो गया है। आयाम 3.5 मीटर है। इसे अमाल दुनिया की रोशनी में चमकने वाली रोशनी है। खासतौर पर उन बच्चों का दर्द, जिन्हें अपना घर छोड़कर दूसरी जगह शरण लेनी पड़ती है और अपनी जान बचाने के लिए मीलों का सफर तय करना पड़ता है। 3 नवंबर के लिए सेल में मीटिंग की व्यवस्था करने के लिए।

तेज हवा से, जहां से वायुयान का उपग्रह: इसे अंतरराष्ट्रीय प्रोजेक्ट ‘द वॉक’ के तहत बनाया गया है। वायु संचार प्रणाली ने जिस प्रकार से प्रक्षेपित किया गया है वह प्रक्षेपित किया गया है। अरबी भाषा में अमाल का मतलब होने की उम्मीद है।

तक आने के लिए, इटली, विटाट्, फोल्डर, जरलैंड, जर्मनी और कीटाणुओं के साथ खराब होने की स्थिति में 8. यह 65 से संपर्क कर रहा है। हैं हैं हैं हैं हैं अमाल ने अपना ये सफर 27 नवंबर से शुरू किया था।

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here