‘बागभान’ के स्क्रीन राइटर शफीक अंसारी का इंन्तकाल, ओशिवारा लेखन में सुपुर्द-ए-खाक

0
58

शफीक अंसारी में.

शफीक अंसारी में.

शफीक अंसारी (शफीक अंसारी मौत) 84 साल के थे। शफीक अंसारी परिवार के साथ रहने वाले लोग थे। चलने वाले समय में । शफीक अंसारी में ‘बागबाण’ शामिल हैं। साल 1974 में उसकी खोज की गई थी। ‘दोस्त’ की खराबियां कौन सी हैं। . दुख की बीमारी अंसारी की मृत्यु हो गई।

‘बागबाण’ के स्क्रीन राइट होर शफीक अंसारी (शफीक अंसारी) का आज इंतकाल गया। आज (3 नवंबर) मुंबई के कोकिलाबेन में. चिकित्सा समय से लेकर चिकित्सालय तक। दुख की बीमारी अंसारी की मृत्यु हो गई। शफीक अंरी ने अपनी खोज की खोज 1974 में स्क्रीन की खोज की थी। दुर्घटना की खबर आने पर घटना की लहरें होती हैं। मुंबई के ओशिवारा रिकॉर्ड में सुपुर्द-ए-खाक खुले।

शफीक अंसारी (शफीक अंसारी मौत) 84 साल. शफीक अंसारी परिवार के साथ रहने वाले लोग थे। शफीक अंसारी (शफीक अंसारी) ‘बागभान’ शामिल हैं। साल 1974 में उसकी खोज की थी। ‘दोस्त’ की खराबियां कौन सी हैं।

‘दोस्त’ में शत्रुघ्न ने संचार किया था। बाद में वर्ष 1990 में आई धर्मेंद्र और हेमा मालिनी की फिल्म ‘दिल का हीरा’ और फिर फिल्म ‘इज्जतदार’ के लिए I वर्णक्रमी होने के बाद ‘प्यारा भरा-चोरी’ की समस्या के बाद, यह भी समस्याग्रस्त होने के लिए भी उपयुक्त होगा।

हिंदी समाचार ऑनलाइन और देखें लाइव टीवी न्यूज़18 हिंदी की वेबसाइट पर। जानिए देश-विदेशी देश हिन्दी में समाचार।

महालेखा फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और टेलीग्राम पर करें।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here