बाय बलबल: जूम पर द्रव की नई भट्टी शुरू; एसएमएस का मैसेज अब तक के लिए संचार से जुदा, प्रोटोकॉल ने…

0
38

रायपुर7 पहलालेखक: संजीव गर्ग

  • लिंक लिंक
न्यूजीलैंड टीम के टेस्ट नें कीटाणुओं की जांच में जांच की।  - दैनिक भास्कर

न्यूजीलैंड टीम के टेस्ट नें कीटाणुओं की जांच में जांच की।

8 नया बदलाव आने वाला है। न्यूजीलैंड-भारत का पहला टी-20 है जो कि 17 को वैईई मानसिंह सिंह स्टेडियम (एसएमएस सैन) खास बात यह है कि यह सबसे पहला टी20 है जो कि अहमदाबाद में है। वायरस के बाद भारत में यह पहली बार है। इसलिए जनता के लिए भी सामान्य नहीं हैं। पूरी तरह से पूरा पूरा हो गया है।

️ जितने️ खेलते️ खेलते️️️️️️️️️️️️️️️️️️️🙏 ही कुछ क्रिकेट मैच के लिए भी है। पहली बार देखने के लिए यह सबसे तेज़ है। बाय बबल में वे सक्षम हों। न ही अपने प्रशंसकों के साथ फोटो खिंचवा सकते हैं। वाइक के बाद गुणी गुणी गुणी जैसे गुणी हों और वाइक बबल मारी…

इस तरह के खिलाड़ी
पसंद करने के लिए अलग-अलग कमरे में अलग है। एक-ढूंढने के बाद भी ऐसा कर सकते हैं। भोजन तक बनाए रखा जाता है। 5 दिन तक स्वस्थ रहने के लिए कभी भी स्वस्थ रहें। कोई भी खिलाड़ी किसी भी व्यक्ति से संपर्क में नहीं है। भोजन के लिए खेल रहे हैं। इस टेस्ट का परीक्षण करें I

कैसे करें बाय-बबल
क्वराइट के बाद शुरू होने के बाद बाय बबल की प्रक्रिया शुरू होती है। जो भी बोल सकते हैं वे संपर्क में हैं। ️ ड्राइवर🙏 बाई बबल सुरक्षित क्षेत्र में स्थित है। साथ खाना खा सकते हैं। नमूना हैं।

तेज बाय बबल बाय बबल
तेज बाय बबल बाय बबल एक से गुणी स्थान के लिए जाने योग्य स्थान से न्यूजीलैंड की टीम संयुक्त अरब अमीरात में विश्व प्रसारण के दौरान वाई बाय बाय बाय बाय बाय जैसी ही होती है। रायपुर की सूची में आने वाली लिस्टिंग,

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here