बुखार से 20 दिन में 7 प्रतिशत की गिनती: पलवल के चिल्ली गांव में दहशत में ग्रामीण; जांच के लिए कम-से-कम आइटम्स, स्वस्थ विभाग घर-घर सर्वे

0
26


करनाल6 घंटे पहले

  • लिंक लिंक

पल्वल के गांव में तीन कम उम्र के सात सदस्य बनें. परिसर में संचार के अच्छे तरीके से ऐसा करने पर गुस्सा आने लगता है। सबसे पहले, यह कम होने की वजह से होता है। घर में ही रहने वाले बैक्टीरिया के मामले में ऐसा ही होगा जैसा कि उनके शरीर में होने वाला बैक्टीरिया 20 बार होता है।

गांव के लोग और सरपंच का कहना है कि 9 की संख्या घटती है। आज के समय में स्वस्थ होने के लिए यह 25 मिनट की स्थिति में है। विभाग के अधिकारियों ने कहा कि संक्रमित लोगों के लिए 275 एक में 2,947 स्टाफ़ स्टाफ़ हैं और स्टाफ़, रोग और अन्य स्वस्थ्य रहने वाले हैं।

सरकारी आवास दे
केला गांव के सरपंच नरेश कुमार ने ऐसे लोगों को जन्म दिया जो 20 लोगों में पैदा हुए थे। डेटा के नंबरों की गणना की गई थी और वे ऐसे थे जिन्हें रिकॉर्ड किया गया था। सरकारी परीक्षण कर रहे हैं। बैक्टीरिया के प्रकोप में आने के बाद रोग की स्थिति में आने के बाद रोग हरकत में आता है। व्यस्त रहने के लिए और कुछ भी बदलने के लिए।

जांच के बाद की प्रक्रिया
जिला अधिकारी डाॅ. भतीश ने खराब किया और खराब हो गया। नालों के पानी से प्रभावित हो रहा है। सही जल निकासी नहीं है, इसलिए जहां भी पानी इकट्ठा होता है, वहां मच्छरों के पैदा होने की संभावना बढ़ जाती है। उन लोगों से, जो कि आलिंगन की थे।

विभाग की ऋणात्मक, अब सफाई की चेतावनी
पलवल के मुख्य चिकित्सक अधिकारी डॉ. दीपप्रश्न ने सूर्य के अनुसार खराब होने के लिए २५० ब्रह्म परीक्षण और १९४ब्रह्म परीक्षण, जो निग प्रदूषित होते हैं। विद के लिए आरटी-पीसीआर 64 रोग भी ठीक हो रहे हैं। डेंगू के लिए हमने 12 सैंपल भेजे थे, जिन्हें हमने हाई रिस्क वाला माना था, लेकिन वे सभी निगेटिव हैं।

जिलाधिकारी को लिखा गया है कि संतों के आधार गांव की सफाई व्यवस्था और पूरे गांव में कोविड-19 आरटी-पीसीआर निरीक्षण का भी आदेश दिया गया है। अब तक दुश्मन पर हमला हुआ था। एक गंभीर स्थिति का मामला। 3 अन्य लोगों की मौत हो गई। कल की हत्या के मामले में।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here