HomeWorld Newsभारत बोला- PAK सहानुभूति हासिल करने झूठ फैला रहा है संयुक्त...

भारत बोला- PAK सहानुभूति हासिल करने झूठ फैला रहा है संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर मुद्दा उठाने के लिए भारत ने पाकिस्तान की आलोचना की

Date:

Related stories

सलमान खान के जीजा ने पापा को दी चुनाव जीतने की बधाई…, कहा- बधाइयां होइए!

नई दिल्ली। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजों के...

न्यूयॉर्क/नई दिल्ली4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
- Advertisement -
- Advertisement -

भारत ने पाकिस्तान को संयुक्त राष्ट्र में बार-बार जम्मू-कश्मीर कामेल उठाने को लेकर फटकार लगाई है। भारत ने पाकिस्तान के इस कदम को झूठ फैलाने की कोशिश बताया है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के संबंधित मिशन के काउंसलर प्रतीक माथुर ने कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अधिकार है।

- Advertisement -

प्रतीक माथुर ने कहा- हम यहां यूएनएससी सुधार की बात कर रहे हैं लेकिन पाकिस्तान के एक प्रतिनिधि ने फिर से जम्मू-कश्मीर का अनावश्यक संबंध दिया है। वो क्षत या न लक्षण- कश्मीर भारत का अस्पष्ट अंग है। पाकिस्तान झूठ फैलाने की कोशिश कर रहा है। इसमें वो कभी भी संभव नहीं होगा।

उन्होंने कहा- पाकिस्तान मल्टीनेशनल फिल्टर्स (बहुआयामी प्लेटफॉर्म्स) का इस्तेमाल कर झूठ फैला रहा है। वो शायद सहानुभूति हासिल करने के लिए कर रहा है। ये काफी अनिश्चित है।

भारत यूएन में कई बार पाकिस्तान को यह कह चुका है कि वो कंजेशन बैज करके अपना करतूत नहीं छिपा सकता है।

भारत यूएन में कई बार पाकिस्तान को यह कह चुका है कि वो कंजेशन बैज करके अपना करतूत नहीं छिपा सकता है।

संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान को पहले भी भारत की खरी-खरी
मई 2022 में पाकिस्तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो जरदारी ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में ओपन डिबेट में जम्मू-कश्मीर से लेख 370 को रद्द करने और परिसीमन आयोग का चेहरा बनाने के लिए उठाया था। उन्होंने भारत में कश्मीरी लोगों के उत्पीड़न और उन पर अत्याचार का भी आरोप लगाया था।

जरदारी ने कहा था कि हमारा भारत के साथ बातचीत करना बहुत मुश्किल हो गया है।

जरदारी ने कहा था कि हमारा भारत के साथ बातचीत करना बहुत मुश्किल हो गया है।

इन जेजे को गलत बयान संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन के काउंसलर राजेश परिहार ने कहा था- जम्मू-कश्मीर और ग्राहकी भारत का एक अस्पष्ट हिस्सा थे, हैं और जीते हैं। इसमें वे क्षेत्र भी शामिल हैं जो पाकिस्तान के व्यवसाय में हैं। इससे कोई भी देश इनकार नहीं कर सकता। पाकिस्तान हमारी मदद करना चाहता है तो वह स्टेट स्पांसर्ड आतंकवाद को रोकने में योगदान दे सकता है।

UNGA के 77वें सत्र में शाहबाज ने उठाया था कश्मीर मा
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ ने UNGA के 77वें सत्र को संबोधित करते हुए कहा था कि वो पाकिस्तान और भारत के बीच शांति और अच्छे व्यवहार चाहते हैं। ये शांति जम्मू कश्मीर विवाद के न्याय और स्थाई समाधान पर कायम है।

शाहबाज सरफराज ने कश्मीर को लंबा विवाद बताते हुए कहा- भारत ने जम्मू-कश्मीर के खास दावे को बदलने के लिए 5 अगस्त 2019 को एकतरफा कदम उठाया। भारत के फैसले से समाधान और मुश्किल हो गया है। जम्मू कश्मीर को हिंदू धर्मग्रंथ बनाने की साजिश हो रही है। यहां भारत के जजमेंट से उनका मतलब कश्मीर से आर्टिकल 370 डिलीट से था।

ये खबर भी पढ़ें…

पाकिस्तान पर भड़की थीं स्नेहा दुबे, ईनम गंभीर ने कहा था- टेरेरिस्तान

संयुक्त राष्ट्र महासभा में कई ऐसे राजनयिक हो रहे हैं, जो चीन और पाकिस्तान के देशों को मुंह तोड़ जवाब देते हैं। आइए आपको ऐसी ही 4 महिला अधिकारियों के बारे में बताया गया है जो आज संयुक्त राष्ट्र में गूंजी हुई है। पढ़ें पूरी खबर…

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here