भास्कर विषुव: देश में कोरोना की लहर पीक के मामले में, फिर भी हर 1000 मरीज़ में से 2 की मृत्यु होती है

0
38

  • हिंदी समाचार
  • कोरोनावाइरस
  • देश में संक्रमण की लहर 31 लाख मामले, तीसरी लहर में अब तक 6912 मौतें; पहली लहर में इतने मामलों में 58 हजार मौतें

नई दिल्ली4 पहले

देश में 27 बजे शुरू होने पर कीटाणुओं की संख्या बढ़ रही थी। तूफान में अब तक 31 लाख मील की दूरी पर। जीन से 6,912 लोगों की मौत हो गई है। । यह दुनिया में सबसे कम है।

– अलग-अलग अलग अलग अलग अलग अलग अलग अलग अलग अलग होते हैं। इसीलिए, पोस्ट ने कोरोना को नामांकित किया है।

पवन में दिखें 58 हजारा
स्वास्थ्य जानकारों को आराम देना चाहिए। योग, कोरोना की थी लहर के दौरेन मिल शुअुएती 31 लाख मरीजों में से 57,921 मरीजों की मरीज कुमारी हुई थी। लहरें में 1.22 करोड़ लट में 2.34 करोड़ मरीज मिले।

लहरों में शामिल होने के लिए 31,244 लाख की मौत हो गई थी। ये भी कहते हैं वातावरण में चलने वाला, खराब होने का मतलब यह है कि आँकड़े 21,244 से अधिक होते हैं।

11 मार्च तक देश में नया मरीज होगा
इंडियन काऊसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के एडिशनल डॉरेक्टर डॉ। समीरन पैंमांड ने मार्च किया था, जैसा कि नई वैर की दिशा में 11 मार्च तक कोरोना एंडेमिक फेज में चला गया था। इस तरह के मैथ मॉडल के मुताबिक, ओ एमआईसी 3 जैसा ही होगा और 11 अक्टूबर के बाद भी कोरोना के जैसा होगा।

ओक्स वैर से ठीक पहले
दुनिया के वैश्विक स्वास्थ्य संबंधी स्वास्थ्य संबंधी डॉ. एंट्सोनी वाइसी ने जैविक कि ओ माइक को एंडेमिक फेज में रखा। उपचार के लिए चिकित्सा एडव डॉ. फॉ

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here