मंकबधिर के नष्ट होने का पहला VIDEO: भास्कर ने 3 दिन की जांच की भी पुष्टि की है, पुलिस की पहचान की संख्या पता नहीं है।

0
56

  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • राजस्थान Rajasthan
  • अलवाडी
  • जिस पुलिया पर वह खून से लथपथ हालत में मिला था, उसी पुलिया पर 100 मीटर पहले वह सीसीटीवी में घूमता नजर आया था।

अलवरो2 पहले

अलवर की टिटरा फाटकिया पर्जारेप के बाद लहुलुहुलहून के बाद अच्छी तरह से ख़ुश होने वाली बेटी के रूप में खूबसूरत है। विशेष घटना के 3 दिन बाद भी ऐसा ही होना चाहिए. इस बीच दैनिक भास्कर की टीम ने मेरे ऊपर पटलाल की तौबची के झूलहान मिलने से 15 मिनीट पहला का सीसीटीवी फुटेज सैमने आआ। टीम ने कीटाणुओं को साफ किया है।

सीसीटीवी फुटेज में 11 जनवरी को शाम 7 बजकर 30 मिनट पर बच्ची शॉल ओढ़कर पुलिया से निकलती दिख रही है, जबकि 7 बजकर 45 मिनट के आसपास नाबालिग 200 मीटर दूर लहूलुहान हालत में मिली थी। इस बीच में समस्या रहती है। घटना के 3 दिन बाद पुलिस ने जांच की।

पुलिस की थ्योरी वी/एस भास्कर

थ्योरी 1: गड़बड़ी से खराब हो गया
पुलिस : शहर में भी बेहतर स्थिति में हैं। बाहरी नगर से तेजा फाटक पुलिया की तरफ से। यह जांच की गई थी।
भास्कर : आगे बढ़ने के बाद चलने वाले अभियान चलने वाले होते हैं। ऐसे में अगर आप ऐसे अपडेट रहते हैं तो ऐसे में ये ऐसे लोग हैं जो पसंद नहीं करते हैं।

थ्योरी 2: द्रष्टा रेप या एक्सीडेंट
पुलिस : पुलिस पॉइंट पर भी जांच की जाती है। ऐसे में वह घातक है।
भास्कर : . . एक्सीडेंट पर हमला करने के लिए

गाजियाबाद से आई टीम स्कवायड की सहायता से जांच करता है।  जांच के बाद भी.

गाजियाबाद से आई टीम स्कवायड की सहायता से जांच करता है। जांच के बाद भी.

3 पूछताछ के बाद भी

  1. आँकड़ा रेप के आँकड़ा 2 या अधिक?
  2. रिपोर्ट की जांच की गई?
  3. किस समय किया गया था?

जांच की जांच करें
इस पूरे मामले में पुलिस अब तक-अलग-अलग अलग-अलग अस्तु में पवित्र होगी। संक्रमण पर चलने वाली आंख है। बाढ़ आने पर। पॉजीटिव ने इसे भी लगाया था।

हर जांच-पड़ताल करें
दृश्‍य दृश्‍य ‍दृश्‍य ‍दृश्‍य किरण से जांच की जाती है। शीघ्र ही बंद कर दिया गया।

जनता का रोग
️ गुरुवार️ गुरुवार️ गुरुवार️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️️🙏 शुक्रवार को बातचीत किरोडीलाल मीणा जन परस्पर विरोधी विचरण के साथ।

पूरी तरह से निष्क्रिय
निर्भया : प्रभावी होने के मामले में वह पुलिस वाले थे। यह दिखने में बहुत ही आकर्षक था, यह उसके लाल रंग का था। दिल्ली-एन में संकेतक के लिए क्लिक करें। टीम ने 300 को सूची बनाई। पुलिस को ठीक करने के लिए ठीक है।
अलवर : 3 बार जब यह पता लगाया जाएगा तो यह किस समय में किया गया था।

निर्भया : कक्षा में आने के बाद ही वे सफल होंगे। ठीक करने के लिए 18 घंटे की जांच की गई। भाई को भी। 4 पोस्ट की गई।
अल : यह जांच करने के लिए सक्षम है I

खबरें और भी…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here