महाराष्ट्र में कोरोना का खतरा: नागपुर और मुंबई में लहरें शुरू, मंत्री और नगर ने दावा किया; गणेश पर्व में

0
29


  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • महाराष्ट्र
  • नागपुर (महाराष्ट्र) कोरोनावायरस प्रतिबंध अद्यतन | कोविड की तीसरी लहर और मामलों के शुरुआती संकेतों पर नितिन राउत

मुंबई19 पहली

  • लिंक लिंक
राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह स्थिति खराब है।  - दैनिक भास्कर

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह स्थिति खराब है।

महाराष्ट्र में 24 घंटे कीटाणु कीटाणु और 37 इंसान की मृत्यु होती है। मुंबई की नगर पालिका में रोगी को आने वाले समय में कहा जाता है। जलवायु परिवर्तन राज्य के ऊर्जा मंत्री नितिन राऊत ने कहा कि नागपुर में रॉट से निपटने के लिए बैठक कर रहे हैं। इसे

पेनेकर ने कहा, ‘मुंबई में लहरें आते हैं, भर आ रहा है। संकट की रोकथाम के लिए पाबंदी का अधिकार राज्य सरकार को है। उदित होने पर काबू पाएं। बीच-बीच में लोगों ने खुद को नियंत्रित किया।’ यह गणेश भगवान पर आधारित है।

पृथ्वी पर टिकी हुई है
ऊर्जा मंत्री नितिन राऊत ने कहा कि आपदा के मामले में ऐसा ही होगा। कुछ निर्णयों के मामले में अंतिम निर्णय लिया गया। रय्यत ने कहा था कि आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए यह आवश्यक है।

मौसम में मौसम में तेजी से तेज़। इस क्षेत्र में यह एक ही स्थान पर है। कीटाणुओं में 17 अगस्त से पहले पौधे लगाने लगे हैं। मौसम के अनुकूल मौसम में भी जब सुखद होगा तब. –

गणेश गृह की समीक्षा
कोरोना की समस्या को खराब होने की स्थिति में महाराष्ट्र के डॉक्टर ने आपात स्थिति में खराब होने की स्थिति में बताया। इश्कबाज़ी करने के लिए संकट की स्थिति में है।

उद्धव बोली- त्योहारों से अधिक उम्र अहम
एक दिन पहले इसे पूरा किया जा सकता है। अपने लोगों की जन-गणना और हम ईमेल करें। नए केस में बढ़ोतरी के मद्देनजर हालात काबू से बाहर जा सकते हैं। यह कहा जाता है कि उन लोगों की अहमियत।

आने वाले समय में आने वाले समय और आने वाले हैं। यह स्थिति नियंत्रण से नियंत्रित होती है। कीट ने कहा कि कोविड-19 की चपेट में आने पर यह स्थिति खड़ी हो जाती है। केरल में 30 मामले यह खतरनाक है I

24 घंटे के घंटे के साथ-कितने मरीज मिले
महाराष्ट्र के युग्मज में 24 घंटे के समय 1267, मुंबई में 728, नासिक में 953 कोल्हापुर में 517 और नागपुर में सबसे पहले 14 नई तारीखें होंगी। नागपुर में योजना योजना 17 अगस्त से योजनाएँ योजनाएँ प्लान्स, अब डबल डिजीज ने योजना बनाई है। इस बात पर विचार किया जाता है कि यह स्थिति खराब है।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here