HomeWorld Newsमहिला ने खुद को तस्करों का शिकार बताया, भारत में भी उठ...

महिला ने खुद को तस्करों का शिकार बताया, भारत में भी उठ गई पीड़िता | महिला ने खुद को बताया ट्रैफिकिंग का शिकार, भारत में भी उठा मुद्दा

Date:

Related stories

फिर जहरीली हुई दिल्ली की हवा: रविवार को AQI 400 के पार रहा, कंस्ट्रक्शन पर बैन

हिंदी समाचारराष्ट्रीयदिल्ली AQI 400, वायु गुणवत्ता खराब होने पर...

लंदन4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
- Advertisement -
- Advertisement -

वर्ष 2019 में संबद्ध संगठन आईएसआईएस बेशक हार गया। लेकिन, उससे जुड़े कई मामले अब भी खत्म होने को तैयार नहीं है। ISIS में शामिल होने के बाद ब्रिटेन की कथित गवां अवरुद्ध महिला शमीमा बेगम ने खुद के बेगुनाह होने का दावा किया है। उसने सोमवार को ब्रिटेन में एक याचिका दायर कर खुद को मानव तस्करों का शिकार बताया।

- Advertisement -

शमीमा ब्रिटेन के बयान फिर से हासिल करने की लगातार कोशिश कर रही है। पिछले साल ब्रिटेन के सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश पर बने एक आदेश ने उसके आवेदन को खारिज कर दिया था। इसके बाद उन्होंने फिर से एक याचिका दायर की है। बेगम के वकील तसनी में अकुंजी ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया कि अब सारी सुनवाई इस पर केंद्रित होगी कि क्या वो मानवाधिकार का शिकार हुई थी। जिसे छुपाने से पहले ध्यान नहीं दिया गया था।

ब्रिटेन के गेटविक एयरपोर्ट पर लगे सीसीटीवी तकनीक में यह तस्वीर 23 फरवरी 2015 को रिकॉर्ड हुई थी।  इनमें से बाकी से खादिजा सुल्ताना, शमीमा बेगम (बीच में) और अमीरा अबासे नजर आ रही हैं।  IS में शामिल होने के लिए जाने से पहले इन तीनों की आखिरी तस्वीर थी।

ब्रिटेन के गेटविक एयरपोर्ट पर लगे सीसीटीवी तकनीक में यह तस्वीर 23 फरवरी 2015 को रिकॉर्ड हुई थी। इनमें से बाकी से खादिजा सुल्ताना, शमीमा बेगम (बीच में) और अमीरा अबासे नजर आ रही हैं। IS में शामिल होने के लिए जाने से पहले इन तीनों की आखिरी तस्वीर थी।

मानव तस्करों का शिकार और ISIS दुल्हन होने के बीच में फँसा

शमीमा बेगम के मामले में दो मुख्य पक्ष हैं। उनमें से एक को आईएसआईएस के लिए काम करने वाले के रूप में देखा जा रहा है। वहीं दूसरी ओर उसे मानव तस्कर का शिकार माना जा रहा है। शमीमा के वकील ने साल 2021 में छपी एक किताब के आधार पर दावा किया है। किताब में बताया गया है कि बेगम और उसके दोस्तों को किसी भी तरह की सेवा के लिए सीरिया ले जाया गया था। उन्हें वहां ले जाने वाला व्यक्ति कनाडा की खुफिया जानकारी को लीक कर रहा था।

युरोप से कई लड़कियों को बनाया था ISIS की ‘दुल्हन’

इराक और सीरिया के कई इलाकों में अपने दबदबे के दौरान ISIS ने कई देशों में रह रही लड़कियों और महिलाओं को अपनी जिहादी लड़ाई में शामिल किया था। इन महिलाओं को पश्चिमी देशों में जिहादी दुल्हनों ने कहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक इस जिहादी संगठन में शामिल होने के लिए केवल ब्रिटेन से ही 900 लोग गए थे। इनमें से 150 लोगों के निशाने को ब्रिटेन ने खत्म कर दिया था। इनमें शमीमा बेगम जैसी महिलाएं भी शामिल हैं। साल 2019 में इस संगठन की हार के बाद से इन लोगों को वापस स्थायी देने पर विवाद हो रहा है। मानवाधिकार संगठन द्वारा समाचार एजेंसी AFP को दी गई जानकारी के अनुसार सीरिया के शिविरों में अभी भी ऐसे 20 से 25 ब्रिटिश परिवार बूबिक हैं।

शमीमा ने 2019 में एक बेटे को जन्म दिया था।  बाद में उनकी निमोनिया से मृत्यु हो गई।

शमीमा ने 2019 में एक बेटे को जन्म दिया था। बाद में उनकी निमोनिया से मृत्यु हो गई।

कौन हैं शमीमा बेगम?

बांग्लादेश मूल के ब्रिटिश नागरिक हैं। 2015 में अन्य दो लड़कियों के साथ आईएस में शामिल होने के लिए सीरिया हुआ। बाकी दो लड़कियों का कोई अता-पता नहीं चल रहा है। शमीमा 2019 में सीरिया के एक रिफ्यूजी कैंप में मिला। तब वे 9 माह की प्रेग्नेंसी थीं। बच्चा हुआ तो उसकी निमोनिया से मौत हो गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक, शमीमा के पहले भी दो बच्चे थे, पर दोनों की मौत हो गई थी।

शमीमा पर आरोप है कि वो ज़बरदस्त हमलावरों के लिए जैकेट बनाने में लगे हैं, हालांकि वो इससे इनकार करते हैं।

भारत में भी जिहादी ब्राइड्स का मेल हुआ है

अफगानिस्तान में फंसे आईएसएस में शामिल होने वाले कई भारतीयों की पत्नियां

अफगानिस्तान में फंसे आईएसएस में शामिल होने वाले कई भारतीयों की पत्नियां

दूसरे देशों की तरह जिहादी संगठन में शामिल होने के लिए भारत से भी कई लोग इराक और सीरिया गए थे। भारतीय सुरक्षा एजेंसी के अनुसार वर्ष 2018 तक, केरल के 98 महिला, पुरुष और बच्चे संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) में शामिल हो गए थे। इनमें से कई लोगों की उसी समय युद्ध के दौरान मौत हो गई थी। द हिंदू की एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल भारत ने चार महिलाओं को अफगानिस्तान से वापस आने से मना कर दिया था। इन महिलाओं के पति जिहादी संगठन के लिए लड़ाई में मारे गए थे।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here