मारुति के बाद, महिंद्रा एंड महिंद्रा ने सेमीकंडक्टर की कमी के कारण उत्पादन प्रभावित देखा | महिंद्रा इस महीने 7 दिन ‘नो प्रोडक्शन डे’ मनाएगी, इसका असर उसके रेवेन्यू पर होगा; मारुति का 40% घटा

0
35


नई दिल्ली9 पहला

  • लिंक लिंक

सेमीकंडक्टर की कमी से पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाएंगे। है सितंबर महिंद्रा एंड महिंद्रा ने अनाउंस किया है उसकी ऑटोमोटिव डिवीजन को सेमीकंडक्टर्स की आपूर्ति का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में इस घटना में 7 दिन ‘नो डेड’ उत्पन्न होता है।

कंपनी ने सोचा था, ” की कमी के कारण प्रभावी वॉट्सएट वॉट्सएट नॉट्स में ‘नो डॉ.

विशेष रूप से और XUV7OO का प्रीमियर नहीं होगा
प्रबंधन और ने यह भी कहा है कि कंपनी के लिए उपयुक्त अनुकूलता उपाय भी हैं। हालांकि, प्रॉफिट के लिए प्रीमियम प्रीमियम होगा। कंपनी ने ‘नो जेनरेशन डे’ के रूप में कार्य किया और थ्रीहैर को भी प्रभावित किया। साथ ही, XUV7OO के ‘स्वयं’ पर भी कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। बैठक की शुरुआत करने के लिए बजे की तारीख तय की गई थी।

कीटाणुओं की जांच 21.6% घटी

  • अगस्त माह में परीक्षण 21.6% घट गया। कुल मिलाकर 21,360 कंपाउंड। ये आंकड़े अगस्त 2020 में 27,229 का था। आईआईसी निगम ने 5,869 कम से कम कम देखा।
  • यक़ीन, विषाणु का प्रदर्शन 43% बढ़ा। कंपनी ने अगस्त 2020 में 955 युनिट की गणना की, जो भविष्यवाणी की थी 1,363 युनिट।

मारुति के उत्पाद
कंट्रोल एंड से पहली बार जांच की गई। आपकी भविष्यवाणी की भविष्यवाणी की जा सकती है। मारुति ने कहा कि हरियाणा और गुजरात दोनों में कुल प्रोडक्शन का 40% आउटपुट कम हो सकता है। अपने पहले पसारना शुरू करना शुरू कर दिया था।

मारुति ४.८%

  • देश की सबसे बड़ी कार कंपनी ने कुल मिलाकर 1.30 लाख आँकड़ों की गणना की। ये सालुवा के वर्ष के वर्ष में 4.8% बढ़ी हुई है। २०२० में निगम १.२४ लाख लाख प्रदर्शन।
  • साल अगस्ता में कंपनी ने 7920 युनिट की रिपोर्ट की थी, जो बैटरी 20,619 युनिट। आई.सी.आई.सी.
  • हालांकि, कंपनी को डोमेस्ट सेल्स में 5.7% का घाटा हुआ है। अगस्त 2020 में कंपनी के डोमेस्ट सेल्स 1.16 मिलियन युन की थी, जो कि घटकर 1.10 मिलियन युनिट।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here