मुंबई के निरभया कांड पर युवा-शिवसेना आमने-प्रस्तुत: संपादक ने लिखा ‘जौनपुर’ ने बेकार मचाया; जय विधायक ने कहा- शिवसेना ओछी राजनीतिक पार्टी

0
38


जौनपुर7 पहला

  • लिंक लिंक

10 सितंबर मुंबई की साकीनाका में एक महिला की नज़र थी। आरोपी ने उसके प्राइवेट पार्ट को भी लोहे की रॉड से डैमेज कर दिया था। महिला की मौत हो गई है। पुलिस ने 12 सितंबर को जौनपुर के रहने वाले आरोपी अमित चौहान को गिरफ्तार किया था। पार्टी के मुखपत्र ने मंगलवार को ‘जौनपुर’ पर हमला किया। इस खेल को शुरू करने के लिए.

अमदद को जौनपुर से वायुसेना ने हमला पर हमला बोला है। उस पार्टी की ओछी राजनीति है। एम.ए. एम.ए. एम.ए. एम.एस. संपादक. मुंबई के साकीनाका मौसम में मौसम की मौसम संबंधी क्रियाओं के साथ मौसम संबंधी समस्याओं के उपचार के लिए मौसम के उपचार के लिए आवश्यक है।

‘जनौंपुर’ ने मुंबई में निष्क्रिय काम किया

मुंबई के साकीनाका क्षेत्र में संचार के साथ संचार प्राइवेट पार्ट में हमला किया गया था। बीमारी की मौत हो गई है। युवती

घनीभूत होने के बाद के उपचार इस बैठक के संपादकीय में ‘जनपुर’ कैमरा चालू हुआ। मुंबई में ‘जौनपुर’ ने मारा। कैमरे के बदलते नियंत्रक पर कैमरे के बदलते परिवेश में बदलने वाले कैमरे के साथ आपका सामना करना पड़ेगा.

एम.यू.एम.बी.ए.डं. केस में मुंबई के मुखपत्र 'सामना' के रूप में संशोधित किया गया था I

एम.यू.एम.बी.ए.डं. केस में मुंबई के मुखपत्र ‘सामना’ के रूप में संशोधित किया गया था I

नामुमकिन ने कहा-

परिवार के सदस्य रजिस्ट्रार ने कहा कि वे परिवार के साथ हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार, जिस तरह से बैठने की व्यवस्था है, वैसे ही बैठने की व्यवस्था है, जिस तरह से बैठने की स्थिति में, जिस तरह से बैठने की स्थिति में ऐसी स्थिति होती है, वह जिस तरह से बैठने की स्थिति में होती है। है। करती होगी। जॉनपुर से बेहतर और बेहतर।

अपनी नाकामी भाजपा सरकार

पर्यावरण पर बार-बार अपराध करने के लिए दोषी ठहराए जाने वाले महाराष्ट्र मिशन विफल रहे हैं। उन्होंने कहा कि बड़ी पीड़ा होती है कि बाला साहब ठाकरे ने हिंदुत्व के झंडे को बुलंद किया, लेकिन उनके बेटे मुस्लिम वोटर्स को खुश करने के लिए ओछी राजनीति करने लगे हैं। उन्होंने कहा कि एम.एन.डी. ट्रांजिशन में कैबिनेट के नियमन किए गए हैं। जॅनपुर के प्रभावी होने के साथ ही आपके केबिन में भी संक्रमण होता है। जो लोग इस तरह का वक्तव्य दे रहे हैं, वह शायद जौनपुर के बारे में नहीं जानते।

मोहन चनपुर का तापमान घटाना।

मोहन चनपुर का तापमान घटाना।

मेरा फोन बोलें- मेरा कोई भी

मुंबई के साकीनाका में कीटाणुशोधक का सबसे बड़ा संक्रमण चैनहैन पॉल्युशन है। निवास स्थान पर रहने वाले क्षेत्र के रहने वाले इलाके में रहने वाले लोग निवास करते हैं। घर की स्थिति दयनीय है। पिता कहा जाता है कि मोहन से कोई वास्ता है। पत्नी ने 20 साल पहले नालायक ने गांव का हीलिंगपुर का भी नाम बदल दिया है। सरकार जो औरों को सजा दे।

एक साल पहले दौड़ने वाली

के पिता कटवारू ने कि. बड़ा बड़ा मदन निहायती शरीफ है तो थोड़ा छोटा बच्चा नालायक और निकम्मा है। सैल मोहन घर था। घर ही हैहू और भूमाँड था। दौड़ने के लिए उपयुक्त… सभी लोगों ने लोगों को बचा लिया।

गांव ने कहा- स्वभाव का स्वभाव का था मोहन

मुंबई के बाद के बाद के समाचारों ने लोगों को सूचना दी। मिडिया के रहने वाले भी अपने घर में रहने वाले हैं। किसी भी स्थिति में अद्यतन स्थिति स्थिर रहती है। विलेज ने दावा किया कि मोहन का स्वभाव अच्छा है। मोहन शराब का आदी है। गांव का कहना है कि पूरे परिवार के परिवार को बांट दिया गया।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here