HomeIndia Newsमेघालय-असम सीमाओं पर हिंसा: उपद्रवियों ने असम फॉरेस्ट ऑफिस को जलाया; ...

मेघालय-असम सीमाओं पर हिंसा: उपद्रवियों ने असम फॉरेस्ट ऑफिस को जलाया; मेघालय में दो महत्वपूर्ण आग लग रही है

Date:

Related stories

रणबीर कपूर ने फाइनली समना कैसे उच्चारण करें बेटी राहा का नाम, वायरल हुआ VIDEO

मुंबई: रणबीर कपूर (रणबीर कपूर) और आलिया भट्ट (आलिया...

इलाज के लिए चार हफ्ते की परमीशन लेकर गए थे लंदन, तीन साल बाद वापस आए | नवाज शरीफ अगले महीने पाकिस्तान लौटेंगे।...

कार्यक्षेत्र4 मिनट पहलेकॉपी लिंकपाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ...
  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • असम मेघालय सीमा हिंसा अद्यतन; वन कार्यालय जला | असम समाचार

4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
- Advertisement -
असम-मेघालय सीमा पर एक चक्कर क्षेत्र में फायरिंग में 6 लोगों की मौत हो गई।  इसके बाद दोनों राज्यों में हिंसा बढ़ गई है।  - दैनिक भास्कर
- Advertisement -

असम-मेघालय सीमा पर एक चक्कर क्षेत्र में फायरिंग में 6 लोगों की मौत हो गई। इसके बाद दोनों राज्यों में हिंसा बढ़ गई है।

- Advertisement -

मेघालय-असम बॉर्डर पर एक विवाद क्षेत्र में मंगलवार को फायरिंग हुई, जिसमें 6 लोगों की मौत के बाद हिंसा भड़क गई। मेघालय के दावों के एक समूह ने बुधवार को असम के पश्चिम में व्यापारिक आंगलोंग जिले में एक फॉरेस्ट ऑफिस में एक के रूप में अपना सबब बनने का आरोप लगाया और आग लगा दी। वहीं, मुक्रोह गांव और मेघालय की राजधानी शिलांग में भीड़ ने दो गंभीर को आग लगा दी।

ऑफिस में पहले ऑफिस में, फिर भड़की आग
अधिकारियों ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि मंगलवार की रात असम के खेरोनी फॉरेस्ट रेंज के तहत अंतरराज्यीय सीमा से सटे वन फॉरेस्ट ऑफिस के सामने गांव वाले कथित तौर पर चाकू मारने, रॉड और लाठियों से लैस होने लगे। पहले भीड़ ने फॉरेस्ट ऑफिस में दफ्तर की, फिर परिसर में खडे फर्नीचर, डॉक्युमेंट और मोटरसाइकिल जैसी दिखने लगी।

सुरक्षा जोखिम की एक टीम के क्षेत्र में पहुंचने से पहले ही ग्रामीण भाग गए। इस घटना में किसी के घायल होने की खबर नहीं है। इसके अलावा स्थानीय लोगों ने मुक्रोह गांव में लावारिस हालत में असम सरकार के एक वाहन को आग लगा दी।

फॉरेस्ट ऑफिस में आग लगाने के बाद वहां सुरक्षाकर्मी पहरा दे रहे हैं।

फॉरेस्ट ऑफिस में आग लगाने के बाद वहां सुरक्षाकर्मी पहरा दे रहे हैं।

विशिष्ट छात्र संघ ने कार्यालय और गंभीर को हिलाकर रख दिया
मेघालय के खास छात्र संघ ने मुक्रोह में फॉरेस्ट ऑफिस और असम सरकार के वाहन को आग लगाने की जिम्मेदारी ली। उन्होंने आरोप लगाया कि मेघालय में एमडीए व्यवस्था अपने नागरिकों की सुरक्षा में विफल रही है। छात्र संघ के सदस्यों ने सिविल अस्पताल में प्रदर्शन किया, जहां फायरिंग में मारे गए 6 लोगों के शव दिखने के लिए दिखाई दे रहे थे। इस दौरान उन्होंने मांग की कि हत्या के लिए जिम्मेदार लोगों को मेघालय पुलिस को सौंप दिया जाए।

असम पुलिस ने चालकों को मेघालय न जाने की सलाह दी
शिलांग के झालूपारा इलाके में बुधवार को महावीर पार्क के पास एसयूवी में आग लग गई। मेघालय में असम से आए महत्वपूर्ण हमलों की खबरों के बाद असम पुलिस ने कार चालकों को पड़ोसी राज्य में जाने की सलाह नहीं दी। अरुणाचल और कछार जिले सहित असम से मेघालय जाने वाले दाखिलों पर पुलिस कर्मियों ने बैरिकेड्स लगा दिए। हालांकि, अभी तक बड़े पैमाने को रोका नहीं गया है। असम पुलिस का कहना है कि बदमाश व्यक्तिगत और छोटे दिखने वाले काम कर रहे हैं।

यह तस्वीर मेघायल-असम सीमाओं की है, जहां कुछ खास मेघायल जाने से रोक जा रही है।

यह तस्वीर मेघायल-असम सीमाओं की है, जहां कुछ खास मेघायल जाने से रोक जा रही है।

क्या है पूरा मामला
असम-मेघालय सीमा पर एक विवादित क्षेत्र में मंगलवार को हिंसा हुई, जब अवैध रूप से काटी गई लकड़ी से एक ट्रक को असम के जंगल गार्डों ने रोक दिया था। इसके बाद फायरिंग की गई और एक फॉरेस्ट गार्ड सहित छह लोगों की मौत हो गई। इस घटना के बाद से मेघालय सरकार ने सात ज्ञात मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया है, जबकि असाम पुलिस ने सीमावर्ती अलर्ट जारी किया है।

मेघालय के सीएम ने की पीएम मोदी से शिकायत
मेघालय के कर्मचारी कोनराड मेघा ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और असम के कर्मचारी हिमंत सरमा को टैग करते हुए ट्वीट किया- असम पुलिस और फॉरेस्ट गार्ड ने मेघालय में प्रवेश किया और नामांकन की। हालांकि असम पुलिस ने दावा किया है कि राज्य के पश्चिम व्यापारिक आंगलोंग जिले में एक वन विभाग की टीम ने रोक दिया था और मेघालय के लोगों ने फॉरेस्ट गार्ड और पुलिसकर्मी पर हमला किया था, स्थिति पर नियंत्रण करने के लिए असमंजस की ओर से फायरिंग की गई थी।

शिलांग के झालूपारा इलाके में बुधवार को महावीर पार्क के पास एसयूवी में आग लग गई।

शिलांग के झालूपारा इलाके में बुधवार को महावीर पार्क के पास एसयूवी में आग लग गई।

सीएम मेघालय के निवासी छह से पांच मेघालय के निवासी मारे गए
सीएम मेघाला ने कहा कि मुकररोह गांव में मारे गए छह से पांच मेघालय के निवासी थे और एक असमंजस है। मेघालय के मुख्यमंत्री ने हर परिवार के लिए 5 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की। असम सरकार ने यह भी कहा कि वह प्रत्येक प्राप्तकर्ताओं को मुआवजा के रूप में 5 लाख रुपये प्रदान करती है।

मेघालय के मंत्री की शाह से मुलाकात करें
मेघालय के मंत्री का एक दल 24 नवंबर को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात करेगा और मामले की जांच केंद्रीय एजेंसी से अनुरोध की मांग करेगा। हालांकि असम ने सरकार ने कहा कि वह एक केंद्रीय या तटस्थ एजेंसी को जांच के लिए सुझाव देगी।

हिंसा के बाद असम पुलिस कार्ब वेस्टी आंगलोंग जिले के पास, दोनों राज्यों की ओर से दावा करने वाले एक सीमावर्ती गांव उमलापर में चौकसी बरत रहे हैं।

हिंसा के बाद असम पुलिस कार्ब वेस्टी आंगलोंग जिले के पास, दोनों राज्यों की ओर से दावा करने वाले एक सीमावर्ती गांव उमलापर में चौकसी बरत रहे हैं।

दोनों राज्यों में सीमा को लेकर विवाद
मेघालय और असम दोनों राज्यों के बीच 884.9 किलोमीटर लंबी अंतरराज्यीय सीमा के साथ 12 क्षेत्रों में लंबे समय से विवाद चल रहा है। जिस स्थान पर मंगलवार को हिंसा हुई, उनमें से एक है। दोनों राज्यों ने इस साल मार्च में दिल्ली में शाह की उपस्थिति में उनमें से छह क्षेत्रों में विवाद समाप्त करने के लिए एक एकॉर्ड साइन किए थे। 1972 में मेघालय को अलग कर दिया गया था और तब से वह असंगठित पुनर्गठन अधिनियम, 1971 को चुनौती दे रहा था, जिसने दोनों राज्यों के बीच सीमा पर कब्जा कर लिया था।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here