HomeIndia Newsमैकलोडगंज के बौद्ध मठ में दलाई लामा का प्रवचन: बोले- सभी धर्मों...

मैकलोडगंज के बौद्ध मठ में दलाई लामा का प्रवचन: बोले- सभी धर्मों के अलग-अलग सिद्धांत, मूल तत्व सत्य, अहिंसा, दया, क्षमा और दान

Date:

Related stories

19वीं सदी में बनी 2 मंजिला इमारत जल कर खाक हुई | 19वीं शताब्दी में बनी दो मंजिला इमारत जलकर खाक हो गई

प्रत्यक्षएक मिनट पहलेकॉपी लिंकअमेरिका के प्रत्यक्ष में रविवार सुबह...

धर्मशाला4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
- Advertisement -
- Advertisement -

कोरियाई बौद्ध संघ के अनुरोध पर तिब्बतियों के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने मैकलोडगंज स्थित चुग्लाखंग बौद्ध मठ में दो दिन के शिक्षण के प्रथम दिन आचार्य नागार्जुन रचित मूल मध्यमककारिका ग्रंथों पर प्रवचन दिया। इस दौरान दलाई लामा ने कहा कि मेरा कोरिया के बौद्ध जोड़ों से अच्छा संबंध है। कोरियाई लोग महात्मा बुद्ध के प्रति दीप श्रद्धा रखते हैं। यह अच्छी बात है।

- Advertisement -

महात्मा बुद्ध की शिक्षाओं का मानना ​​है कि यह व्यक्तिगत स्वतंत्रता है। सभी धर्मों के अलग-अलग सिद्धांत होते हैं, लेकिन मूल रूप से मूल तत्व सत्य, अहिंसा, दया, क्षमा, दान, जप, तप, यम-नियम आदि हैं। वास्तविकता महत्वपूर्ण है। सभी धर्म कहते हैं कि अच्छा व्यक्ति बनता है, लोकहित में कार्य करना है। दूसरों के हित में काम करना चाहिए।

सामान्यतया मैं बौद्ध मत के तीन भागों की चर्चा करता हूं। बौद्ध विज्ञान, बौद्ध दर्शन और बौद्ध धर्म। स्वयं बुद्ध का ही उदाहरण लें। बुद्ध मूल रूप से एक सामान्य व्यक्ति थे, जिनकी क्षमताएं सीमित थीं। वे सिखाते हैं कि किस प्रकार हम एक-एक चरण आगे बढ़कर अपने सामान्य मनोभावों और चित्त को पूरी तरह से बदल सकते हैं और वे स्वयं उस मार्ग को अपनाकर अंततः ज्ञान प्राप्त कर गए।

इनसर्नल में हुआ सीधा प्रसारण
ऐसे ही व्यक्ति को बुद्ध कहा जाता है। इसलिए बौद्ध पंथ यह है कि इसी स्तर पर सामान्य शिक्षा के स्तर पर शुरुआत करें। फिर उस स्तर से आगे बढ़ते हुए बुद्धत्व प्राप्ति की स्थिति तक पहुंचें। प्रवचन का सीधा प्रसारण तिब्बती, अंग्रेजी चीनी, वियतनामी, कोरियाई, रूसी, जापानी, स्पेनिश, जर्मन, फ्रेंच, भाषाई, इटेलियन, पुर्तगाल, नेपाली संदेश एवं क्षितिज में भी किया गया।

बौद्ध मित्रों को प्रवचन देने वाले आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा।

बौद्ध मित्रों को प्रवचन देने वाले आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा।

टूरिज़्म को मिला मिला डोज
कोरियाई बौद्ध संघ के अनुरोध पर दलाई लामा द्वारा आयोजित दो दिवसीय शिक्षाओं से टूरिज्म सेक्टर के लिए वोट डोज माना जा रहा है। इन दिनों मैकलोडगंज में अधिकतर होटल के कमरे फुल हैं। हालांकि शरदकालीन पर्यटन शुरू किया गया है। क्रिसमस और नए साल की पूर्व संध्या से पहले क्षेत्र में रहने वालों का पूरा भ्रमण हीरिज्म के लिए अच्छे संकेत माने जा रहे हैं।

इससे टैक्सीएक्सएक्सएक्स भी काम करना शुरू कर देता है, लेकिन इसके बाद दलाई लामा के एक सप्ताह की यात्रा पर जाने के बाद। दलाई लामा बोधगया कालचक्र मैदान में 29 से 31 दिसंबर तक नागार्जुन के बोधिचित्त पर तीन दिन प्रवचन करेंगे। 31 दिसंबर को सब्सक्राइबरों के बीच 21 स्टार्स का आशीर्वाद मिलेगा। 1 जनवरी को कालचक्र मैदान पर उनकी लंबी आयु और स्वास्थ्य को लेकर दीर्घायु की प्रार्थना होगी।

आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा से आशीर्वाद प्राप्त करने वाले अनुयायी।

आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा से आशीर्वाद प्राप्त करने वाले अनुयायी।

दलाई लामा ने मलेशिया के नए प्रधानमंत्री को बधाई दी
दलाई लामा ने अनवर इब्राहिम को मलेशिया का प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी। दलाई लामा ने नए प्रधानमंत्री को पत्र के माध्यम से बधाई दी है। आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने पत्र में लिखा है कि जब मुझे 1982 में शांति और विश्वव्यापी उत्तरदायित्व पर बोलने के लिए आमंत्रित किया गया था, तब मुझे आपके सुंदर देश में आने का स्वर मिला था।

आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा का हाथ जोड़कर स्वागत करते हैं अनुयायी।

आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा का हाथ जोड़कर स्वागत करते हैं अनुयायी।

दिव्यांग प्रधानमंत्री टुंकू अब्दुल रहमान और अन्य नेताओं के साथ विचार के साथ-साथ अवसर पाकर भी मुझे खुशी हुई थी। उन्होंने पत्र में लिखा है कि ये बहुत ही समान समय है। मुझे आशा है कि मलेशिया धन्य रहेगा और हम तेजी से आपस में जुड़े विश्व की शांति और स्थिरता में महत्वपूर्ण योगदान देंगे।

दलाई लामा ने यह भी लिखा कि मैं मलेशिया के लोगों की आशाएं और प्रासंगिक को पूरा करने में होने वाली स्थिति से निपटने में आपकी सफलता की कामना करता हूं। वे इब्राहिम के मुख्यमंत्री बनने पर भी अधिकृत हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

- Advertisement -

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Latest stories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here