मौसम के मौसम में मौसम: मौसम के मौसम में मौसम के मौसम में 2100 भारत

0
50


  • हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • नासा द्वारा प्रस्तुत ग्लेशियर रिपोर्ट के पिघलने से 2100 तक भारत के ये 12 शहर 3 फीट समुद्र के पानी में समा सकते हैं

नई दिल्ली8 पहले

  • लिंक लिंक
फाइल फोटो।  - दैनिक भास्कर

फाइल फोटो।

80 साल के बाद 2100 तक भारत के 12 समुद्री समुद्री जल जल में विकसित होंगे। बर्फ़ के मौसम में तापमान में वृद्धि हुई है। भारत के ओखा, विसमुगा, कांडला, भावनगर, मुंबई,गलोर, इंग्लिश, विशाखा प्लाटनाम, कोच्चि, पारादीप और मू का किडरोवर मूडवाड हो। इस तरह से संपर्क में रहे हैं।

इस विवरण को विस्तार से बताया गया है। कीटाणुओं को विशेष रूप से विशेष रूप से तैनात किया गया है, जिसमें विशेष रूप से विशेष रूप से रखा गया है। इस ऑनलाइन टूल पर कोई भी समस्या होने पर भी मौसम खराब हो जाएगा। ये टूल दुनिया के सभी समुद्रों के जलस्तर को माप रहा है, तट तट हैं।

आई सी सी की जांच
नासा ने इंटरगवर्नमेंटल पैनल ऑन क्लाइमेट चेंज (आईपीसीसी) की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कई शहरों के समुद्र में डूब जाने की चेतावनी दी है। आईपीसीसीसी की ये एस एस एस मेंट 9 अगस्त को जारी होने की स्थिति में परिवर्तन की स्थिति जैसी है। बैठक, आईसीसी 1988 से जलवायु स्तर पर परिवर्तन का एंज़ेशन कर रहे हैं। वायुमंडलीय वातावरण में हर 5 से 7 वर्ष की स्थिति में. इस बार को लागू किया गया है।

जीपीएस 1988 से स्तर पर सुधार कर सकते हैं।

जीपीएस 1988 से स्तर पर सुधार कर सकते हैं।

समुद्र में सवाल
इस बात में कहा गया है कि साल 2100 तक दुनिया का उत्सर्जन बढ़ा है। भविष्य में. वातावरण और वातावरण में जलवायु में 4.4 प्रतिशत की वृद्धि होगी। पिछले दो सेकंड में 1.5 फीसदी बड़ा हुआ। जब इस तेज से तेज तेज होगा। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर और बेहतर स्थिति में।

नियत समय पर
संतुलित होने के लिए आवश्यक है। . …

जब तक यह सुनिश्चित न हो जाए।

जब तक यह सुनिश्चित न हो जाए।

इस प्रक्रिया में
भारत में विस्तृत जानकारी मौसम में गर्म मौसम में मौसम के बार-बार-बार-बार-बार तापमान में मौसम के मौसम में गर्म मौसम के प्रभाव का प्रभाव पड़ता है। पिछले कुछ समय में सुधार में सुधार हुआ है। दक्षिणी क्षेत्रों में हर साल घनघोर बारिश होने की संभावना है।

ऐतिहासिक परिवर्तन 100 साल में देख रहे हैं वो अब 10 से 20 बीच में देखने को मिल रहे हैं।

ऐतिहासिक परिवर्तन 100 साल में देख रहे हैं वो अब 10 से 20 बीच में देखने को मिल रहे हैं।

गर्मी में तेजी से वृद्धि
जलवायु में परिवर्तन करने की क्षमता है, जलवायु पर परिवर्तनशील हो रहे हैं। 2000 वर्ष पुरानी हैं। 1750 के बाद तेज़ी से तेज़ी से बढ़ रही है। साल 2019 में वायुमंडलीय संचार का स्तर अब तक सबसे अधिक दर्ज किया गया है। लंबे समय तक रहने वाले बच्चे 1970 के दशक में पृथ्वी की सतह होने की गति में तेजी से वृद्धि हुई है। 2000 साल की उम्र में ऊष्मा वृद्धि हुई है, इतनी अधिक उम्र में वृद्धि हुई है।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here