यूपीएससी में बिहार के शुभम बेनेर: 7 जगह पर भी जयमई के शब्द कुमार, भास्कर से शब्द टर्म- पेरेंट्स का शुक्रगुज़ार

0
22


  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • बिहार
  • संघ लोक सेवा आयोग 2020 का रिजल्ट जारी, कटिहार के शुभम कुमार ने किया पहला स्थान; आईआईटी बॉम्बे से पढ़ाई की

पटे9 पहला

सिविल सेवा परीक्षा, 2020. (फाइल)

यूपीएससी 2020 का रिजल्ट जारी किया गया है। Movie बिहार के कटिहार के श्री शुभम कुमार ने कहा। ट्वीव 7 रैंक जमुई के संज्ञान कुमार कोल है। शुभम ने वैकल्पिक विषय के रूप में एंव मैच्योरिटी के साथ परीक्षा पास की है। वह आईआईटी से बी.टेक (सिविली) कर रहे हैं।

अपनी सफलता पर शुभम ने भास्कर से कहा- मैं खुश हूं। मैं परिवार के वरदान-पापा, मां-चीची, दीदी का शुक्रगुजार हूं। परीक्षा के अन्य प्रकार भी आने वाली हैं।’

मांं बो-बेटा क्लास वन से 10 तक तक
इस सफलता पर कह रहे हैं- ‘शुभम पुणे में कह रहे हैं। मैं खुश हूं। मैला. सभी शुभम की तैयारी। वन से 10 तक वर्ग। अभी भी समय है। बचपन से पूछ-ताछ कर रहा था। ठीक होने वाले क्रमांक. वह

शुभम ने आईआईटी से इंजिनियरिंग की
शुभम कुम्‍म्‍प्‍टर ‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍‍ उनकी १० तक १२वीं की परीक्षा चिन्म्या स्कूल बोकारो से। बाद में आईआईटी फिर से जनरल इंजिनियरिंग और यूपीएससी की तैयारी शुरू कर दी। इतिहास की कोशिशों में 2019 में रचना की गई थी। यह फिर से सफल हो गया।

शुभम
​​​शुभम के पिता देवानंद सिंह कि उनकी बेटी अंकिता ने कुमार ने कहा। उसे सही तरीके से पोस्ट किया गया। संयुक्त परिवार है। देवानंद सिंह के छोटे भाई डॉ. मणि कुमार सिंह पूर्णिमा में एकवाप्रेशर के डॉक्टर हैं।

जमुई के लाल रंग कुमार ने 7वां रैंक लाकर नाम रोशन किया।

जमुई के लाल संज्ञा कुमार ने 7वां रैंक लाकर नाम रोशन किया।

वार्षिक आयोजन स्थल पर
जॉच करने के लिए बैरें बल्लर ने समग्र रूप से सक्रिय किया है। कामयाबी से सफल प्रदर्शन करने वाले संगीत कार्यक्रम में सफल होता है। उसके

नागपुर आईआईटी से परीक्षा परीक्षा दिल्ली में 2 साल की तैयारी
पपीता सीताराम वर्णवाल नेम- ‘वह बाल्यावस्था से ही मेधावी था। उसकी पहली कक्षा-शिक्षा से शिक्षा प्राप्त हुई थी। बाद में उन्होंने सीबीएसई से मैट्रिक और इंटर की परीक्षा पास की। अगस्त परीक्षा परीक्षा परीक्षा दिल्ली में 2 साल से यूपीएससी की तैयारी कर रहा था। सफलता की यह सफलता प्राप्त हुई है।’

सफल होने से पहले माता वीणा देवी, बड़े भाई धनंजय वर्णवाली, वाणी दीक्षा वर्णवाली और मामाेश्वर लाल वर्णावाली खुश से झूमहू हैं। कैटाराम वर्णावाल ने कैटेगरी में अपने हिसाब से टाइप किया-लिखा और आज ने संपूर्ण चकाई का नाम देश पर दर्ज किया।

आगे की माँ वीणा देवी ने कहा- “प्रवीण मेरे जीवीजी जीवधारी जीव है और उम्मीद है कि वह आगे की ओर समाज सेवा के साथ-साथ देश की भी सेवा करेगा।’

चिकित्सा के लिए डॉक्टरी दुकान
दैनिक भास्कर ने बात की। वे दो बज रहे हैं और एक ही हैं। दीक्षा वर्णाश्रम कोटा में कपड़े पहनने की तैयारी कर रहे हैं। भाई धनंजय ने टैग किया। पिता सीता राम वर्ण की चिकित्सा की दुकान। माँ वीणा देवी गृहिणी हैं।

बैरियर में परीक्षा के स्तर की परीक्षा प्रणाली से चकाई करने की की। पाटन से 10वीं और 12वीं की परीक्षा की। नेटवर्क ने नेटवर्क तैयार की थी और गेट में 5 रैंक व्यवस्था थी। I बैठक में विषय-वस्तु संचार था। ️ प्रवीण️ प्रवीण️️️️️️️️️️️️️

सोशल मीडिया पर बधाई
शुभम की सफलता के बाद सोशल मीडिया पर संदेश प्रसारित हुआ। बिहार के अध्यक्ष विजय कुमार ने सिविल सेवा परीक्षा, 2020 में शुभम कुमार को शुभकामनाएं दीं। ट्विट, घुमाने वाले सीएम तारकिशोर प्रसाद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी बधाई दी।

. बाद में 1997 में सुरेंद्र वर्ण वाॅल ने और 2000 में आलोक ने कहा।

खबरें और भी…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here